Type Here to Get Search Results !

व्यवसायी को लूटने वाला निकला पटवारी

सीजीआर मॉल के पीछे हुई वारदात में लूट लिए थे एक लाख
श्रीगंगानगर

चहल चौक के समीप सीजीआर मॉल के पीछे की एक गली में सोमवार रात को एक स्पेयर पार्ट्स व्यवसायी प्रतापंचद सोनी से एक लाख से अधिक की नकदी का बैग लूटने वाला पटवारी है, जिसकी नियुक्ति मिर्जेवाला में है। पुलिस ने उस पर धारा 392 के तहत लूट का मामला दर्ज किया है। उसे रात को शांति व्यवस्था भंग करने के जुर्म में धारा 151 में गिरफ्तार कर लिया था। इसमें आज जमानत हो जाने के बाद पुलिस ने उसे थाने में पूछताछ के लिए बिठा रखा है। करीब 50 वर्षीय कैलाश राजपूत नामक इस पटवारी की लूट के मामले में भी गिरफ्तारी शीघ्र ही होने की सम्भावना है। प्राप्त जानकारी के अनुसार जवाहरनगर में सैक्टर 7 निवासी प्रतापचंद सोनी सोमवार रात करीब पौने 9 बजे मिनी मायापुरी मार्केट में अपनी स्पेयर पार्टस की दुकान मंगल करके घर वापिस जा रहा था। चहल चौक पर सोडा शॉप के साथ व सीजीआर मॉल के पीछे की गली से जाते समय प्रतापचंद इसी गली में एक वैरायटी स्टोर पर बच्चों के लिए चिप्स खरीदने के लिए रुका था। उस समय पड़ोस में ही रहने वाला यह पटवारी कैलाशचंद इस वैरायटी स्टोर के पास खड़ा था। बताया गया है कि पटवारी उस समय नशे में था। वह बेवजह ही प्रतापचंद से उलझ गया और गाली-गलौच करने लगा। इन दोनों में पांच-सात मिनट तक बहसबाजी होती रही। प्रतापचंद के कंधे पर बैग टंका हुआ था, जिसमें उसकी दुकान की बिक्री के एक लाख से अधिक की नकदी और कागजात आदि थे। इस बहसबाजी के दौरान अचानक ही कैलाश राजपूत उसका यह बैग छीनकर अपने घर में घुस गया। प्रतापचंद उसके पीछे घर जाने लगा तो कैलाशचंद ने उसे ललकारा कि अगर वह घर में आ गया, तो उसे जिंदा नहीें छोड़ेगा। इस पर प्रतापचंद घबरा गया और अपने घर चला गया। वहां से घर वालों व मोहल्ले के लोगों को लेकर वापिस कैलाश के घर पर आया। तब वह छत पर खड़ा था। इन लोगों को आते हुए देखकर कैलाश राजपूत फिर से गालियां ही नहीं निकालने लगा, बल्कि उन पर पत्थर भी फेंकने लगा। इन लोगों ने कैलश और उसके घर वालों को समझाने की काफी कोशिश की। उनसे अपना बैग वापिस मांगा, लेकिन कैलाश ने उनको अपने घर के पास ही नही फटकने दिया। वह ऊपर से पत्थर फेंकता रहा। इस बीच किसी ने चहल चौक में जाकर वहां तैनात पुलिस कर्मियों को इसकी सूचना दे दी। उस समय चहल चौक में जवाहरनगर और सदर थाना पुलिसकर्मियों की पीकेट लगी हुई थी। मौके पर मौजूद एएसआई राजेन्द्र स्वामी सभी पुलिसकर्मियों को लेकर वैरायटी स्टोर पर आ गये। पुलिस ाके आया देखकर पटवारी और भी भडक़ गया। बड़ी मुश्किल से उसे काबू कर पुलिसकर्मी घर से बाहर लेकर आये। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि जब उसे पुलिसकर्मी गाड़ी में बिठाने लगे, तो उसने एक-दो पुलिसकर्मियों के साथ भी हाथापाई की। इस हाथापाई में एक पुलिसकर्मी की वर्दी तक फट गई। इसीलिए पुलिस ने पहले कैलाश राजपूत को धारा 151 के तहत हिरासत मेें लिया। बाद में प्रतापचंद सोनी द्वारा दी गई रिपोर्ट के आधार पर उसके विरुद्ध धारा 392 के तहत लूट का मामला दर्ज किया गया। रिपोर्ट में प्रतापचंद ने बताया कि बैग में दुकान के कागजातों के साथ-साथ बिक्री के एक लाख 7 हजार 400 रुपये थे। यह मामला दर्ज करने के बाद पुलिस वापिस कैलाश के घर आई, जहां से यह बैग बरामद कर लिया। इस प्रकरण की जांच कर रहे एसआई राधेश्याम सांखला ने मंगलवार शाम को घटनास्थल पर आकर आसपास के लोगों से पूछताछ की।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.