हुक्का बार केस में एन.जी.टी. द्वारा कईयों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी - BTTNews

Breaking

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

POLL- PM KON ?

Wednesday, November 29, 2017

हुक्का बार केस में एन.जी.टी. द्वारा कईयों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी

 दिल्ली की नौजवानी को बचाने के लिए जरूरी हर कदम उठाऊंगा : मनजिंदर सिंह सिरसा



नई दिल्ली, 29 
नैश्नल ग्रीन ट्रिब्यून (एन जी टी) ने आज हुक्का बार केस में उन्होंने कई जवाबकारों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर दिए जो केस के सम्मन प्राप्त होने के बावजूद भी आज इसके समक्ष पेश नहीं हुए या फिर जिन की तरफ से सम्मन लेने से ही इनकार कर दिया गया। एन.जी.टी. ने अब यह केस निपटारे के लिए 12.12.2017 की तारिक तय कर दी है। इस बात की जानकारी देते दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (डी.एस.जी.एम.सी.) के महासचिव मनजिंदर सिंह सिरसा ने आज बताया कि एन जी टी ने इस बात का गंभीर नोटिस लिया है कि कुछ जवाबकारों की तरफ से सम्मन प्राप्त करने बाद में भी इस आगे पेश नहीं हुआ गया और कुछ ने सम्मन ही लेने से इनकार कर दिया।

उन्होंने कहा कि एन जी टी ने स्पष्ट कर दिया है कि राष्ट्रीय राजधानी में हुक्का बार किसी भी हालात में नहीं चलने दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि जब एक जवाबकार जो आज पेश हुआ था, की तरफ से यह कहा गया कि उन का हुक्का हर्बल है तो एन जी टी की तरफ से उसको स्पष्ट बताया गया कि हुक्को की इजाजत किसी भी कीमत पर नहीं दी जाएगी। 

उन्होंने कहा कि यह बहुत हैरानी वाली बात है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनके मंत्री जिन्होंने इस मामले पर बड़े-बड़े दावे किए थे ने केस की सुनवाई के लिए आज अपना कोई प्रतिनिधि ही नहीं भेजा। उन्होंने कहा कि यह अब जग जाहिर हो गया कि उन्होंने इस मामले में न तो कभी कोई पहलकदमी की और न ही संबधित मंत्री की तरफ से कोई हुक्म जारी किया गया जिस बारे दावे किए गए थे। उन्होंने कहा कि यह भी हैरानी वाली बात है कि श्री केजरीवाल और उन की टीम को गुजरात और ओर राज्यों में होते चुनावों की तो चिंता है परन्तु दिल्ली के नौजवानों बारे कोई परवाह नहीं।
श्री सिरसा ने कहा कि यह भी त्रासदी वाली बात है कि केजरीवाल सरकार गहरी नींद में से जागने के लिए तैयार नहीं जबकि हुक्का पीने की बदौलत शहर के हजारों नौजवान नशों की तरफ धकेले जा रहे हैं क्योंकि यह सिगरटनोशी की अपेक्षा कहीं ज़्यादा खतरनाक है और इस के साथ फेफड़ों का कैंसर और कई तरह की बीमारियां भी नौजवानों को लग रही हैं। उन्होंने कहा कि उन्होंने हुक्का बारों पर पाबंदी की यह पहलकदमी दिल्ली के नौजवान के लिए की है और शहर के नौजवानों को बचाने के लिए जो कदम उठाना पड़ा, वह उठाने से पीछे नहीं हटेंगे। उन्होंने कहा कि यह नौजवान सिर्फ इन के परिवारों के मैंबर ही नहीं बल्कि देश की भविक्खी पीड़ाी हैं जिसका देश को नुक्सान हो रहा है।

दिल्ली के विधायक ने ओर कहा कि वह एन जी टी के धन्यवादी हैं जिसने इस मामले में सक्रिय भूमिका निभाई है जिसकी वजह से अब राष्ट्रीय राजधानी में यह हुक्का बार हमेशा के लिए बंद हो जाएंगे।

No comments:

Post a Comment