‘पोरस’ से चमकी अमन धालीवाल की किस्मत - BTTNews

ताजा अपडेट

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Friday, December 01, 2017

‘पोरस’ से चमकी अमन धालीवाल की किस्मत


ये है ‘पोरस’ शो के पौरव राष्ट्र के सम्राट बमनी के बड़े भाई शिव दत्त यानि की अदाकार अमन धालीवाल। शो में शिवदत्त का किरदार निभा रहे अदाकार अमन धालीवाल मूल रुप से पंजाब के शहर मानसा के निवासी हैं। पंजाब के दर्शक तो अमन धालीवाल की अभिनय क्षमता से भलि-भांति वाकिफ थे ही, अब देश-विदेश के कोने-कोने में शो ‘पोरस’ देखने वाले दर्शक भी उनकी अदाकारी के कायल हो गए हैं। शो में अमन धालीवाल को शिव दत्त के रुप में देख उनके पंजाबी फैन तो बेहद प्रभावित हैं। शो में शिव दत्त के किरदार को लेकर उत्साहित अमन बताते हैं कि शिव दत्त ऐसा किरदार है जो दूसरों की आड़ में राजनीति करता है। व्यापारी डरायस (प्रनीत भट्ट) के बहकावे में आ जाता है, जिसका लक्ष्य सिर्फ भारत जीत है। इसके लिए वह मिलकर अनेकों हथकंडे अपनाते रहते हैं। अमन के अनुसार इससे पहले उन्होंने ऐसा शो व किरदार कभी नहीं निभाया। इसे निभाना काफी चैलेंजिंग व मजेदार है। शो के चलते थाइलेंड में शूट का अनोखा ही अनुभव रहा। कई महीने थाईलेंड के अंडर वाटर क्षेत्र में सीन शूट किए गए। जहां शो की टीम का बाहरी दुनिया से मोबाइल नेटवर्क संपर्क तक टूटा रहा। इस दौरान थाइलेंड के समुद्र के बीचो-बीच सैट लगाया गया था। जहां पर कलाकारों व टीम क्रू सदस्यों को जाने के लिए बोटिंग के जरिए ही करीब दो घंटे लगते थे। यहां शूट का अनुभव सभी कलाकारों के लिए रोमांच भरा एवं डरावना भी रहा। गौरतलब है कि ऐतिहासिक शो बनाने के लिए प्रसिद्ध निर्माता-निर्देशक सिद्धार्थ कुमार तिवारी ‘महाभारत’ की अपार सफलता के बाद अब 350 ईसापूर्व के महान योद्धा पोरस व सिकंदर की गाथा को छोटे पर्दे पर पेश कर रहे हैं। उन दिनों भारत दुनिया के सबसे अमीर देशों में एक हुआ करता था। भारत को सोने की चिडिय़ा कहा जाता था। ‘पोरस’ उसी गौरवशाली दौर व समय की कहानी है। बता दें कि अमन धालीवाल बॉलीवुड फिल्म ‘जोधा अकबर’ के अलावा कई पंजाबी व साउथ की फिल्मों में भी अपनी अभिनय प्रतिभा दिखा चुके हैं।

 - जगदीश जोशी

No comments:

Post a Comment