मुक्तसर। राज्य सरकार को उनकी ओर से किए गए वायदे याद दिलाकर उन्हें पूरा करवाने की मांग को लेकर मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी की ओर से एडीसी राजपाल सिंह को मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के नाम ज्ञापन सौंपा गया। इस ज्ञापन में मुख्यमंत्री की ओर से चुनाव से पहले लोगों से किए गए दस वादों का जिक्र किया गया, जिन्हें दस माह बीत जाने पर भी पूरा न किए जाने के कारण लोगों में रोष पाया जा रहा है। नेताओं ने कहा कि इस दस माह के दौरान कैप्टन सरकार के मंत्रियों व कांग्रेसी नेताओं ने पंजाब को लूटने, रेत के ठेकों को लूटने, रेत बजरी की कीमत बढ़ाकर लोगों पर बोझ डालने, विरोधियों को पीटने, राजनीतिक बदलाखोरी, दलितों पर अत्याचार, गैंगवार, लूटपाट, बिजली कट, रोड जाम, महिलाओं पर अत्याचार, शहीदों का अपमान, सिंचाई विभाग की गलती से किसानों का नुकसान आदि काम ही किए हैं। एक ओर जहां सरकार किसानों का कर्ज माफ करने में असफल रही, वहीं नशा भी खत्म नहीं कर पाई। सभी वर्ग यह मान रहे है कि उनके साथ वायदा खिलाफी हुई है। लोग जगह जगह प्रदर्शन कर रहे हैं और राज्य में अराजकता का माहौल बना हुआ है। उन्होंने मुख्यमंत्री से किसानों का कर्ज माफ करने, खुदकुशी वाले किसानों के परिवारों को दस लाख मुआवजा देने, खुदकुशी कर गए किसानों के बच्चों को मुफ्त शिक्षा देने, विधवाओं के लिए स्किल सेंटर खोलने, शगुन स्कीम की राशि 51 हजार करने, बिजली की मुफ्त यूनिट 300 देने, रिक्त पदों को भरने, युवाओं को स्मार्ट फोन, नौकरी देने, महिलाओं को नौकरी में 33 प्रति आरक्षण देने, पेंशन 1500 रुपये करने, उद्योग के लिए पांच रुपये प्रति यूनिट बिजली करने, कर्मचारियों का बनता डीए, छठे वेतन आयोग की रिपोर्ट लागू करने, नशा खत्म करवाने की मांग की। नेताओं ने कहा कि यदि इन पर तुरंत ही कोई कार्रवाई नहीं की गई तो वह जनता हितों के लिए आंदोलन करने से भी गुरेज नहीं करेंगे। इस मौके पर जिला अध्यक्ष राजेश गोरा पठेला, मंडल अध्यक्ष संदीप गिरधर, जिला महा सचिव अंग्रेज सिंह, पंजाब कमेटी सदस्य नीलम शर्मा, योगेश्वर योगी, जसवंत सिंह, जरनैल सिंह बल्लमगढ़, गगनदीप सिंह, परमजीत सिंह, गुरसेवक सिंह, विनोद कुमार, जसंवत सिंह, परवंश मदान, बलदेव सिंह भïट्टी आदि मौजूद थे।

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.