Type Here to Get Search Results !

कैप्टन अमरिन्दर सिंह इस्तीफा स्वीकार न कर पंजाबियों के साथ कर रहे हैं धोखा - भगवंत मान

इस्तीफा विवाद राहुल गांधी के लिए अग्नि परीक्षा कि वह नेता के तौर पर क्या सिद्ध होते हैं -आप

चंडीगढ़, 17 जनवरी 2018 

    आम आदमी पार्टी ने बुद्धवार को मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह पर हमला करते अपने भ्रष्टाचारी मंत्री को बचाने के लिए निचले स्तर पर जा कर पंजाबियों के साथ धोखा करने के लिए उनकी अलोचना की। पार्टी द्वारा जारी संयुक्त प्रैस बयान में आम आदमी पार्टी पंजाब के प्रधान भगवंत मान, सह-प्रधान अमन अरोड़ा, विधायक कुलतार सिंह संधवां, विरोधी पक्ष की उप नेता सरबजीत कौर माणूके, विधायक प्रो. बलजिन्दर कौर, विधायक जगतार सिंह हिस्सोवाल, विधायक कुलवंत सिंह पंडोरी और अन्य ने कहा कि आम लोगों के दबाव और आम आदमी पार्टी की भ्रष्टाचार के विरोध की जंग के कारण ही मंत्री राणा गुरजीत का इस्तीफा आया है।    मान ने कैप्टन अमरिन्दर सिंह से पूछा कि वह उस बात की सफाई दें की उनको ऐसा कौन सा दबाव राणा गुरजीत का इस्तीफा मंजूर करने से रोक रहा है। उन्होंने कहा कि मुख्य मंत्री सूबे के लोगों को बताएं कि खुद मंत्री द्वारा भ्रष्टाचार के आरोपों के कारण अपना इस्तीफा देने के बाद भी वह ऐसे मंत्री को क्यों बचाना चाहते हैं। मान ने कहा कि सिर्फ रेत घोटाला ही नहीं बल्कि राणा गुरजीत अनगिणत ऐसे कामों को अंजाम दे रहा है जिस के साथ कि सूबे के खजाने को भारी घाटा पड़ रहा है।
    'आप' प्रधान ने कहा कि कांग्रेस पार्टी और खास तौर पर कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने सूबे के लोगों के साथ भ्रष्टाचार के मामले में किये वायदे से पलट कर धोखा किया है। उन्होंने कहा कि मुख्य मंत्री ने अपने मंत्री को सूबे के टैकस धारकों का पैसा लूटने की छूट दी है। मान ने कहा कि ऐसे भ्रष्ट मंत्री का इस्तीफा तो उसी दिन ही जाना चाहिए था, जिस दिन आम आदमी पार्टी ने रेत खड्ढों के मामले में भ्रष्टाचार को जनतक किया था। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी के विरोधी पक्ष के नेता और विधायकों ने इस मामले में रचनात्मिक भूमिका निभाई है और विधान सभा के अंदर और बाहर मुद्दे को गंभीरता से उठाया है।
    अरोड़ा ने कहा कि मंत्री ने रेत खड्ढों के साथ-साथ नीमापुर के नजदीक सिउंक गांव की पंचायती जमीन पर कब्जा करके उसके द्वारा करोड़ों रुपए का बैंक घोटाला भी किया है। उन्होंने कहा कि सरकार की मंत्री पर कार्यवाही करने की सुस्त चाल यह सिद्ध करती है कि मंत्री के अलावा अन्य लोगों के भी हित इस मामले के साथ जुड़े हुए हैं।अमन अरोड़ा ने कहा कि सरकार राणा और उसके परिवार द्वारा विदेशों में गलत ढंग से जमा किए पैसों के मामले में उसके खिलाफ कार्यवाही करे। उन्होंने कहा कि सरकार तुरंत तौर राणा के खिलाफ केस दर्ज करे। अरोड़ा ने कहा कि केंद्र सरकार के अलावा कांग्रेस प्रधान राहुल गांधी के लिए भी यह परिक्षा की घड़ी है कि वह भ्रष्टाचार के मामले में खुल कर सामने आएं और राणा के खिलाफ कार्यवाही करें।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.