बैंकों और किसानों का पैसा खा गए कैप्टन के दामाद : शर्मा - BTTNews

Breaking

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

POLL- PM KON ?

Monday, February 26, 2018

बैंकों और किसानों का पैसा खा गए कैप्टन के दामाद : शर्मा


घोटाले के तथ्य जाने बिना ट्वीट कर सैल्फ गोल कर लिया कांग्रेस ने
चंडीगढ़,

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के दामाद बैंकों किसानों का करोड़ों रूपये डकार गए हैं जो अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण और कांग्रेस की भ्रष्ट संस्कृति की मिसाल है। भाजपा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष श्री कमल शर्मा ने कहा कि बिना राजनीतिक शह के यह घोटाला संभव नहीं था, अब नैतिकता की मांग है कि मुख्यमंत्री कांग्रेस पार्टी पूरे मसले पर जवाब दें। केंद्रीय जांच ब्यूरो द्वारा सिम्भाली शुगर्स लिमिटेड के चेयरमैन गुरमीत सिंह मान, उप प्रबंध निदेशक गुरपाल सिंह और अन्य को लगभग 200 करोड़ रुपये के बैंक घोटाले का आरोपी बनाया है। बैंक के डिप्टी एमडी गुरुपाल सिंह मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्दर सिंह के दामाद हैं। भाजपा नेता श्री कमल शर्मा ने इस बात पर भी हैरानी जताई कि इस घोटाले को भाजपा के सिर मढऩे के चक्कर में बिना जांच के ट्वीट कर कांग्रेस ने देश में अपनी हास्यस्पद छवि बना ली और शर्मसार हो कर अपना ट्वीट वापिस लेना पड़ा।
भाजपा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष श्री कमल शर्मा ने इस घोटाले पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए बताया कि कंपनी ने साल 2011 में रिजर्व बैंक की गन्ना किसानों के लिए लाई गई योजना के तहत 97.85 करोड़ का लोन लिया था। इस रकम को गन्ना किसानों को वित्तीय मदद के रूप में बांटना था, लेकिन कंपनी ने फर्जीवाड़ा करके इस रकम को अपने काम के लिए खर्च कर लिया। 31 मार्च 2015 को यह लोन एनपीए बन गया। जिसके बाद कंपनी ने पिछले लोन को चुकाने के लिए 110 करोड़ रुपये का नया लोन लिया। नोटबंदी के 20 दिन बाद 29 नवंबर 2016 को एनपीए घोषित कर दिया गया। श्री कमल शर्मा ने बताया कि यह बैंक से 97.85 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का मामला है और109.08 करोड़ रुपये का लोन डिफाल्ट हुआ है।
श्री कमल शर्मा ने बताया कि नीरव मोदी से लेकर ललित मोदी, विजय माल्या और अब दामाद घोटाला सभी की जननी कांग्रेस पार्टी ही है और यह घोटाले राजनीतिक शह पर होते रहे हैं। अब जब केंद्र में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी देश में आर्थिक अनुशासन ला रहे हैं जिसके चलते विगत समय के घोटाले सामने आने लगे हैं। शर्म की बात है कि कांग्रेस पार्टी अपने आर्थिक अपराधों को मोदी सरकार के सिर मढऩे का प्रयास कर रही है। 
भाजपा नेता श्री कमल शर्मा ने बताया कि कैप्टन अमररिंदर सिंह किसान हितों और भ्रष्टाचार के मुद्दों पर चुनाव लड़ कर पंजाब की सत्ता में आए थे। आज उनके परिवार पर ही किसानों के हितों पर डाका मारने बैंक के साथ करोड़ों की हेराफेरी के गंभीर आरोप लगे हैं। अब नैतिकता का तकाजा है कि कैप्टन पूरे मसले पर जवाब दें और कांग्रेस पार्टी झूठे आरोपों की राजनीतिक दुकान को बंद करे।