चंडीगढ़, 8 फरवरी:
     विजिलेंस ब्यूरो, पंजाब ने आज आई.टी.आई मोगा में तैनात सुपरिडैंट को 20,000 रुपए की रिश्वत लेते हुए काबू किया।

आज यहां विजिलेंस ब्यूरो के सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि आई.टी.आई मोगा में तैनात सुपरिडैंट जसवीर सिंह को नरिंदरपाल सिंह, चेयरमैन अमर शहीद भगत सिंह आई.टी.आई, मोगा की शिकायत पर गिरफ़्तार किया गया है।
शिकायतकर्ता ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि अमर शहीद भगत सिंह आई.टी.आई., मोगा के विद्यार्थियों के पेपर पंजाब आई.टी.आई. मोगा सैंटर में चल रहे हैं और जसवीर सिंह आई.टी.आई. मोगा सैंटर में बतौर सुपरिडैंट तैनात है। जसवीर सिंह सुपरिडैंट द्वारा अमर शहीद भगत सिंह आई.टी.आई. के विद्यार्थियों की पेपरों में मदद करने और उनको परेशान न करन के बदले 20,000 /-रुपए रिश्वत की मांग की गई है। शिकायतकर्ता ने यह भी दोष लगाया कि उसके द्वारा 5 फरवरी, 2018 को उक्त सुपरिडैंट को 20,000 /-रुपए बतौर रिश्वत के तौर पर पहले ही अदा किये जा चुके हैं और सुपरिडेंट द्वारा 20,000 रुपए की और मांग की गई है।
प्रवक्ता ने बताया कि विजिलेंस द्वारा शिकायत की जांच के उपरांत उक्त दोषी सुपरिडेंट को दो सरकारी गवाहों की उपस्थिति में 20,000 रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा गया।

उक्त दोषी के विरूद्ध विजिलेंस ब्यूरो ने भ्रष्टाचार निरोधक कानून की विभिन्न धाराओं के अंतर्गत फिऱोज़पुर स्थित विजिलेंस ब्यूरो के थाने में मुकद्दमा दर्ज करके अगली कार्यवाही आरंभ कर दी है।

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.