पंजाब के दरियाओं की सफ़ाई के लिए केंद्र को सौंपा जायेगा प्रस्ताव- सरकारिया - BTTNews

ताजा अपडेट

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Tuesday, July 10, 2018

पंजाब के दरियाओं की सफ़ाई के लिए केंद्र को सौंपा जायेगा प्रस्ताव- सरकारिया


कमुख्यमंत्री के निर्देशों पर जल स्रोत विभाग प्रस्ताव तैयार करने में जुटा
कपानी बचाने के लिए जन मुहिम शुरू करेंगे- जल स्रोत मंत्री
चंडीगढ़, 10 जुलाई:
मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के दिशा-निर्देशों पर जल स्रोत विभाग ने राज्य के दरियाओं के पानी को साफ़ करने के मकसद से केंद्र सरकार को भेजने वाले प्रस्ताव पर कार्य शुरू कर दिया है।
पंजाब को ‘तंदुरुस्त’ करने के मिशन के अंतर्गत मुख्यमंत्री ने राज्य के दरियाओं का पानी पहल के आधार पर स्वच्छ करने का बीड़ा उठाया है। वह दरियाओं के पानी को गंदा किये जाने पर बेहद चिंतित हैं। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने प्रधानमंत्री श्री नरिन्दर मोदी को लिखा है कि पंजाब द्वारा भेजे जाने वाले प्रस्ताव पर साकारात्मक गौर किया जाये और राष्ट्रीय दरिया संरक्षण प्रोग्राम के अंतर्गत या ऐसी किसी अन्य स्कीम के अंतर्गत दरियाओं की सफ़ाई के लिए फंड मुहैया करवाए जाएँ।
मुख्यमंत्री ने राज्य के जल स्रोत विभाग को निर्देश दिए हैं कि उपरोक्त उद्देश्य के संदर्भ में विभाग एक प्रस्ताव बना कर केंद्रीय जल स्रोत, दरिया विकास और गंगा कायाकलप मंत्रालय को भेजे, जिस पर विभाग ने काम करना शुरू कर दिया है।
पंजाब के जल स्रोत मंत्री श्री सुखबिन्दर सिंह सरकारिया ने कहा कि विभाग द्वारा दरियाई पानी बचाने के लिए बड़े स्तर पर एक जन मुहिम जल्द शुरू की जायेगी। इसके अलावा जल स्रोत विभाग के अधिकारियों द्वारा उद्योगों और शहरों के असंशोधित गंदे पानी को सतलुज और ब्यास दरियाओं में फेंकने से रोकने के लिए प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है। गंदे पानी को संशोधित करके इसका प्रयोग सिंचाई के लिए करने हेतु भी योजना बनाई जा रही है। उन्होंने बताया कि केंद्र को उक्त प्रस्ताव जल्दी भेजने के लिए जल स्रोत विभाग के अधिकारियों द्वारा तेज़ी से काम किया जा रहा है।
जल स्रोत मंत्री ने कहा कि पंजाब के कुछ हिस्सों में भूमिगत पानी पीने योग्य नहीं और लोग अभी भी दरियाओं और नहरों के पानी पर निर्भर करते हैं। काबिलेगौर है कि पानियों के गंधलेपण के कारण कैंसर और अन्य गंभीर बीमारियाँ पैदा हो रही हैं और यह समस्या पंजाब के दक्षिण -पश्चिमी क्षेत्र में काफ़ी गंभीर है।
शहरों के असंशोधित पानी और औद्योगिक गन्दगी को दरियाओं में फेंके जाने पर गंभीर चिंता जताते हुए श्री सरकारिया ने कहा कि किसी भी हालत में दरियाओं को गंदा करने वालों को बक्शा नहीं जायेगा। उन्होंने कहा कि कुदरत की इस अनमोल नियामत को इस तरह गंदा करने की इजाज़त किसी को भी नहीं दी जा सकती।
उन अधिकारियों को समय -समय पर दरियाई पानी की स्थिति का जायज़ा लेने के निर्देश देते हुए कहा कि पानी को गंदा करने वालों के खि़लाफ़ सख्त कानूनी कार्यवाई की जाये। उन्होंने पंजाब निवासियों को भी अपील की कि पानियों को बचाने के लिए राज्य सरकार की मदद की जाये।