पी.आर.टी.सी. बनी राज्य निवासियों के लिए वरदान - BTTNews

ताजा अपडेट

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Sunday, July 08, 2018

पी.आर.टी.सी. बनी राज्य निवासियों के लिए वरदान



पंजाब के विभिन्न शहरों से 7 वोलवो बसें नई दिल्ली के अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे तक आने-जाने लगीं: अरुना चौधरी

कपिछले छह महीनों में 250 बसें फ्लीट में हुईं शामिल, 100 अन्य नई बसों की फ्लीट होगी शामिल

कपी.आर.टी.सी. पंजाब में सात अन्य नई एच.वी.ए.सी. वातानकूल बसें चलाएगी

चंडीगढ़, 8 जुलाई

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व और दिशा निर्देशों मेें पैप्सू रोड ट्रांसपोर्ट निगम (पी.आर.टी.सी.) जहाँ घाटे से मुना$फे की ओर चल रही हैं वहीं नई बसों की फ्लीट और नये रूट के चलने से राज्य के निवासियों के लिए वरदान साबित हो रही हंै। पी.आर.टी.सी. द्वारा प्रवासी पंजाबियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए पंजाब के पाँच बड़े शहरों से नई दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे तक आने -जाने के लिए 7 वोलवो बसें चलाईं गई हैं जिसको ज़बरदस्त समर्थन मिला है। यह खुलासा ट्रांसपोर्ट मंत्री श्रीमती अरुना चौधरी ने आज यहाँ जारी प्रैस बयान के द्वारा किया।

श्रीमती चौधरी ने कहा कि पंजाब से बड़ी संख्या में प्रवासी भारतीय विभिन्न देशों की उड़ान पकडऩे के लिए नई दिल्ली के अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे जाते हैं। इससे पहले पी.आर.टी.सी. की वोलवो बस सिफऱ् सवारियों को हवाई अड्डे पर छोडक़र आती थीं और वहाँ से सवारियों को लाने की आज्ञा नहीं थी। पी.आर.टी.सी. की तरफ से अब सात वोलवो बसें चलाईं गई हैं जो पटियाला, जालंधर, अमृतसर, लुधियाना और होशियारपुर से हवाई अड्डे को जाती हैं और वहाँ से सवारियों को लेकर वापस आतीं हैं। यह सेवा पहली जुलाई से शुरू की गई है जिसको बढिय़ा समर्थन मिला है। उन्होंने कहा कि इससे हवाई अड्डे जाने वाले पंजाबियों को आसानी भी हुई और निजी वाहनों पर जाने का खर्चा भी घटा है। इन वोलवो बसों में सफऱ करने के इच्छुकटिकटों की ऑनलाईन बुकिंग कर सकते हैं।

ट्रांसपोर्ट मंत्री ने बताया कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में सार्वजनिक बस सेवा को प्रफुल्लित करने के इरादे के अंतर्गत पी.आर.टी.सी. द्वारा नए प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि पिछले छह महीनों में 250 बसें फ्लीट में शामिल की गई हैं जिनमें से 150 किलोमीटर स्कीम और 100 पी.आर.टी.सी. की शामिल हैं। उन्होंने बताया कि आने वाले समय में 100 और नई बसें को पी.आर.टी.सी. के फ्लीट में शामिल किये जाने का प्रस्ताव है। इसके अलावा सात वातानकूल (एच.वी.ए.सी.) बसें पंजाब के विभिन्न शहरों को चलाईं जाएंगी। श्रीमती चौधरी ने कहा कि ट्रांसपोर्ट विभाग ने नई पहलकदमियां शुरू की हैं और नये रूटों को शामिल करने संबंधी भी विचार किया जा रहा है जिससे पंजाब का कोई भी गाँव, कस्बा या शहर बस सेवा से वंचित न रह सके।