श्रद्धालुओं के लिए आस्था का केंद्र बनी कामधेनूं नस्ल सुधार गौशाला - BTTNews

ताजा अपडेट

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Sunday, July 08, 2018

श्रद्धालुओं के लिए आस्था का केंद्र बनी कामधेनूं नस्ल सुधार गौशाला


श्री मुक्तसर साहिब


शहर की फैक्ट्री रोड स्थित कामधेनूं नस्ल सुधार गौशाला दिनों दिन श्रद्धालुओं के लिए आस्था का केंद्र बनती जा रही है। गौशाला में गऊओं के लिए स्वामणि मुहिंम शुरू की हुई है जिसमें शहर निवासियों की तरफ से बहुत सारा प्यार व सहयोग दिया जा रहा है। इसी कड़ी अधीन 1 जुलाई से 8 जुलाई तक करीब 15 परिवारों की तरफ से गऊओं को स्वामनी भेंट की गई।
इस मौके विशाल बांसल, दिल्ली अस्पताल के डाक्टर नीरज गर्ग, पार्षद संजीव धूडिया, पवन गिरधर, अनमोल कालडा, राजू गावड़ी, मदन मोहन खुराना, करनवीर कांसल, परशोतम बांसल, बबीता रानी, सुभाष गर्ग, पत्रकार हरीश तनेजा, मास्टर राम निवास सिंगला आदि परिवारों की तरफ से विधि अनुसार पूजन करने उपरांत गऊयों को सवामनी का प्रसाद भेंट किया गया। इस मौके सवामनी भेंट करने आए परिवारों ने कहा कि वह पहली बार ऐसी गौशाला में आए हैं जहां गौशाला का कोई प्रधान नहीं बल्कि सभी सेवक निस्वार्थ भावना के साथ सेवा करते हैं। उन्होंने कहा कि गऊयों की सेवा सबसे उत्तम सेवा है। इसके साथ ही उन्होंने बाकी शहर निवासियों को भी एक बार इस गौशाला के दर्शन करने की अपील की। गौशाला प्रबंधक कमेटी के सेवकों ने कहा कि शहर निवासियों के सहयोग के साथ स्वामनी मुहिंम लगातार जारी है। उन्होंने कहा कि इस गौशाला में थारपारकर और शाहीवाल नस्ल की गऊयों की सेवा संभाल की जाती है। सेवकों ने बताया कि हर रविवार शाम के 6 बजे से 7 बजे तक श्री सुंदरकांड का पाठ भी किया जाता है। इस मौके स्वामणि भेंट करने वाले परिवारों को प्रबंधक कमेटी के सेवकों की तरफ से सम्मान चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। स्वामनी दौरान पवन गिरधर की तरफ से लंगर का खास प्रबंध किया गया। इस मौके पर मुन्ना यादव, विनेश नागपाल, रमनगिरधर, राकेश बांसल, पवन छाबड़ा, राजेश बाघला, पंकज यादव, भारत भूषण बिंटा, डा. रोशन लाल मुजऱाल, बिल्लू कटारिया, वरुण कटारिया, अशोक कुमार, डी.सी तनेजा, प्यूश तनेजा, विक्की कुमार आदि सेवक उपस्थित थे।