बोर्ड ऑफ डायरैकटरज़ को फ़ैसले की फिर समीक्षा करने के निर्देश
चंडीगढ़, 12 जुलाई-
पंजाब के बिजली मंत्री श्री गुरप्रीत सिंह कांगड़ ने पी.एस.पी.सी.एल. के स्पोर्टस सैल के खिलाडिय़ों की माँग के हक में उतरते हुए आज कहा कि पंजाब सरकार नौजवानों में खेल सभ्याचार को उत्साहित करने और नौजवानों की उचित स्थानों पर सेवाएं लेने के लिए वचनबद्ध है। उन्होंने कहा कि पी.एस.पी.सी.एल. के खेल सैल की शुरुआत से अबतक 400 से अधिक खिलाड़ी इसका हिस्सा बन चुके हैं और पी.एस.पी.सी.एल. अपनी इस प्राप्ति पर भी गौरव करती है कि इसके द्वारा पिछले 15 वर्षों से ऑल इंडिया स्पोर्टस कंट्रोल बोर्ड चैंपियनज़ ट्राफी करवाई जा रही है। उन्होंने कहा कि अदारे में एक अर्जुन अवार्डी बतौर सीनियर स्पोर्टस अफ़सर अपनी सेवाएं निभा रहे हैं और हमारे पास पटियाला, बठिंडा और दूसरे जिलों में खेल का विशाल बुनियादी ढांचा मौजूद है।
श्री कांगड़ ने कहा, ‘सबसे अहम बात यह है कि पंजाब सरकार नौजवानों को रोजग़ार के बढिय़ा मौके मुहैया करवा के नशों से दूर रखने के लिए वचनबद्ध है। इसलिए यह सवाल ही पैदा नहीं होता कि खेल सैल को ख़त्म काडर घोषित किया जाये। मैंने बोर्ड ऑफ डायरैकटरज़ को फ़ैसले की तुरंत समीक्षा के निर्देश दिए हैं और खिलाडिय़ों को भरोसा दिलाता हूं कि पी.एस.पी.सी.एल. पहले की तरह खिलाडिय़ों की सेवाएं लेता रहेगा।’
जि़क्रयोग्य है कि पी.एस.पी.सी.एल. के बोर्ड ऑफ डायरैकटरज़ ने स्टाफ की छंटनी संबंधी अपने उपायों में पी.एस.पी.सी.एल. के स्पोर्टस सैल को ख़त्म काडर में तबदील करने का प्रस्ताव पेश किया था और कहा था कि एक ओहदे के मौजूदा अधिकारी की सेवा मुक्ति के बाद उस ओहदे को ख़त्म करके अगले मतहतों के लिए न कोई तरक्की और न नयी भर्ती की जाये। पंजाब पुलिस और पंजाब स्टेट पावर निगम लिम. प्रतिभाशाली खिलाडिय़ों को शानदार नौकरियाँ प्रदान करने वाली सबसे बड़ी संस्थाओं हैं, इसके लिए बिजली मंत्री का यह फ़ैसला नौजवान खिलाडिय़ों के लिए बड़ी राहत है।

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.