सामाजिक सुरक्षा, महिल एवं बाल विकास विभाग द्वारा विशेष मुहिम के अंतर्गत 67 बाल घरों की चैकिंग - BTTNews

Breaking

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

POLL- PM KON ?

Friday, August 10, 2018

सामाजिक सुरक्षा, महिल एवं बाल विकास विभाग द्वारा विशेष मुहिम के अंतर्गत 67 बाल घरों की चैकिंग



 उच्च अधिकारियों और डिप्टी कमीश्नरों के नेतृत्व मेें हुई चैकिंग में सब कुछ ठीक पाया गया
      बच्चों की सुरक्षा के लिए पंजाब सरकार बेहद गंभीर और वचनबद्ध: अरुना चौधरी

   मंत्री द्वारा बाल घरों को और बेहतर बनाने के लिए मिले सुझावों को तुरंत अमल में लाने के निर्देश

   बच्चों, महिलाओं और बुज़ुर्गों के प्रति अपराध संंबंधी शिकायत के लिए दो हेल्पलाइन नंबर जारी

चंडीगढ़, 10 अगस्त:

सामाजिक सुरक्षा, महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अरुना चौधरी के निर्देशों पर विभाग द्वारा विशेष मुहिम शुरु करते हुए राज्य में स्थित 67 बाल संभाल संस्थाओं की एहतियात के तौर पर चैकिंग की गई जिसमें सब कुछ ठीक पाया गया और कोई भी बड़ी शिकायत, बच्चों की सुरक्षा में कमी सामने नहीं आई। इसके इलावा बुनियादी ढांचे संबंधी कुछ एक कमियों और बाल घरों को और बेहतर बनाने के लिए कुछ सुझाव सामने आए। इसके इलावा बाच्चों की सुरक्षा यकीनी बनाने के लिए विभाग द्वारा दो हेल्पलाइन नंबर भी जारी किये गए हैं जिन पर कोई भी व्यक्ति शिकायत दर्ज करवा सकता है।

श्रीमती चौधरी ने कहा कि बच्चों एवं महिलाओं की सुरक्षा हमारी सरकार की सबसे बड़ी प्राथमिकता है जिसके लिए विभाग द्वारा बाल न्याय (बच्चों की संभाल और सुरक्षा) कानून 2015 की धारा 54 के अंतर्गत बाल संभाल घरों की चैकिंग के लिए पहले ही राज्य स्तरीय और जि़ला स्तरीय टीमें बनाईं गई हैं और इनकी निरंतर चैकिंग की जाती रही है। उन्होंनेकहा कि उत्तर प्रदेश और बिहार के बाल घरों में घटी दुखद घटनाओं ने समाज को झंझोड़ कर रख दिया जिस कारण इस संवेदनशील मुद्दे पर विभाग द्वारा और भी एहतियात बरतने का फ़ैसला करते हुए रुटीन चैकिंगें के इलावा राज्य स्तर पर उच्च अधिकारियों और डिप्टी कमीश्नरों के नेतृत्व में टीमें बनाकर विशेष चैकिंग करवाने का फ़ैसला किया गया। उन्होंने चैकिंग टीमों की रिपोर्ट पर संतोष प्रकट करते हुए यह विश्वास दिलाया कि पंजाब सरकार बच्चों की सुरक्षा भविष्य में और भी बढिय़ा तरीके से करेगी। इसके इलावा जो थोड़ी बहुत कमियां सामने आईं, उनको तुरंत दूर करने और विशेष जांच टीमों के सुझावों को अमल में लाने के निर्देश भी दिए।

सामाजिक सुरक्षा, महिला एवं बाल विकास विभाग के विशेष मुख्य सचिव श्री के.बी.एस.सिद्धू ने बताया कि मंत्री श्रीमती अरुना चौधरी ने देश में बच्चों के खि़लाफ़ सामने आ रही घिनौनी घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए विशेष चैकिंग मुहिम शुरु करने की हिदायत की थी जिस पर तुरंत कार्यवाही करते हुए विभाग की डायरैक्टर के नेतृत्व में राज्य स्तरीय टीमें बनाईं गई जिनके द्वारा चैकिंग की गई। श्री सिद्धू ने कहा कि इस विशेष मुहिम के सार्थक परिणाम सामने आए और जहाँ सब कुछ ठीक पाए जाने पर संतोष प्रकट किया जा रहा है वहीं और बेहतर बनाने के लिए सुझाव मिले हैं जिनको अमल में लाया जायेगा।

विशेष चैकिंग मुहिम बारे जानकारी देते हुए विभाग की डायरैक्टर श्रीमती कविता सिंह ने बताया कि विशेष टीमों द्वारा दो दिनों में राज्य के 14 जि़लों के 67 बाल संभाल संस्थाओं की चैकिंग की गई। इन संस्थाओं में से 19 सरकारी और 48 ग़ैर सरकारी संस्थाएं हैं। ये वे बाल संभाल घर हैं जिनमें अनाथ, गुमशुदा, विशेष ज़रूरतों वाले बच्चे या बाल सुधार घरों वाले बच्चे रहते हैं। दो दिवसीय विशेष चैकिंग मुहिम के पहले दिन 36 और आज दूसरे दिन 31 संस्थाएं देखी गईं।

श्रीमती कविता सिंह ने कहा कि हर कमेटी में विभाग के मुख्य कार्यालय से सीनियर अधिकारी या डिप्टी कमिश्नर मुखी था जिसके नेतृत्व में चैकिंग के दौरान बाल संभाल संस्थाओं की बारीकी से जांच की गई। उन्होंने कहा कि प्राथमिक रिपोर्टों में सब ठीक पाया गया और बाकी जानकारी पूरी विस्तृत रिपोर्टों में सामने आयेगी। उन्होंने कहा कि इस संबंधी विभाग द्वारा दो हेल्पलाइन नंबर जारी किये गए हैं। मोबाइल नंबर 70872-23325 पर 24&7 और विभाग के मुख्यालय के नंबर 0172 -2608746 पर सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक कोई भी व्यक्ति शिकायत दर्ज करवा सकता है। उन्होंने कहा कि बच्चों, महिलाओं और बुज़ुर्गों के साथ बुरे व्यवहार या और कोई अत्याचार संबंधी उक्त हेल्पलाइन नंबरों पर शिकायत दर्ज करवाई जा सकती है और शिकायतकर्ता की पहचान गुप्त रखी जायेगी।