नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा आधा-अधूरा सिवरेज का काम कर रही कंपनियाँ की सख्त खिंचाई - BTTNews

ताजा अपडेट

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Tuesday, August 14, 2018

नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा आधा-अधूरा सिवरेज का काम कर रही कंपनियाँ की सख्त खिंचाई


स्थानीय निकाय मंत्री ने मंत्रियों, विधायकों की उपस्थिति में कंपनियों के प्रतिनिधियों के साथ की मुलाकात
मंत्रियों और विधायकों ने काम के प्रति नाखुशी ज़ाहिर करते हुए अपनी असंतुष्टा जताई
कम्पनियों को एक माह का समय दिया, उसके बाद स्थानीय निकाय मंत्री स्वयं शहरों का दौरा करके करेंगे निरीक्षण
काम संतोषजनक न होने पर न सिफऱ् कंपनी ब्लैक लिस्ट करेंगें बल्कि अपराधिक केस भी दर्ज करवाएंंगे
ऑडिट कंपनियों वैपकौस और ई.आई.एल.की कारगुज़ारी पर भी नाखुशी जाहिर की
चंडीगढ़, 14 अगस्त:
 
शहरों में आधे -अधूरे सिवरेज के काम करने वाली कंपनियाँ को सख्त हिदायतें जारी करते हुए स्थानीय निकाय मंत्री स. नवजोत सिंह सिद्धू ने हिदायत की कि वह एक महीने के अंदर-अंदर अपने काम को राह पर ले आएं और काम मुकम्मल करने की समय-सीमा तय करके अपने काम की मासिक रिपोर्ट दें। आज यहाँ पंजाब म्यूनिसिपल भवन में दो कैबिनेट मंत्रियों श्री विजय इंद्र सिंगला और श्याम सुंदर अरोड़ा, संबंधित शहरों के विधायकों और विभाग के उच्च अधिकारियों की उपस्थिति में कंपनी के प्रतिनिधियों के साथ की गई 8 कलसटका की समीक्षा मीटिंग के दौरान स. सिद्धू ने यह भी लताड़ लगाई की कि यदि एक महीने के अंदर उनका काम लोगों की उम्मीदों के अनुसार नहीं हुआ तो वह जहाँ कंपनी को ब्लैक लिस्ट करेंगे वहां लोगों के ख़ून-पसीने के पैसे को बेकार गवांने के लिए अपराधिक मामला भी दर्ज करवाएंगे। स. सिद्धू ने वित्तीय और तकनीकी ऑडिट करने वाली तीसरे पक्ष वैपकौस और इंजीनियरज़ इंडिया लिमटिड (ई.आई.एल.) की कारगुज़ारी पर भी नाखुशी प्रकटाते हुए कहा कि यदि इन पक्षों द्वारा सही ऑडिट किया होता तो सिवरेज के काम की शिकायतें नहीं आनी थी। उन्होंने विभाग के अधिकारियों को ऑडिट वाली कंपनियों की कारगुज़ारी देखकर अपेक्षित कार्यवाही करने की बात कही।
आज की मीटिंग में सम्बन्धित हलकों के विधायकों ने एक -एक करके अपने शहर के अंदर विभिन्न कंपनियों द्वारा किये जा रहे सिवरेज के काम पर नाखुशी ज़ाहिर की। लोक निर्माण मंत्री श्री विजय इंद्र सिंगला जो संगरूर से विधायक हैं, ने अपने शहर की उदाहरण देते हुए कहा कि कंपनी द्वारा काम सम्पूर्ण न करने सेे लोग बहुत परेशान हैं और वह लोगों के नुमायंदे होने के कारण लोग उनके पास अपना दुख प्रकटाते हैं। उन्होंने बुढ्ढलाडा शहर की समस्या भी बतायी। उन्होंने कहा कि कंपनी द्वारा काम की कोई योजना बनाई नहीं गई। विधायक श्री कुलजीत सिंह नागरा ने कहा कि फतेहगड़ साहिब में वोटों के अवसर पर सिवरेज की सब पाईपें बिछा दी जबकि मुख्य लाईन डाली ही नहीं। उन्होंने कहा कि कंपनी के पास अपेक्षित मशीनरी की भी कमी है। उन्होंने कहा कि करोड़ों रुपए के ठेके लेकर काम कर रही कंपनियों की नालायकी के कारण लोग परेशान हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि जहाँ कंपनियों ने काम आगे ठेकेदारों को दे दिया वहीं उनके पास न तो गुणवत्ता कंट्रोल रखा गया और न ही काम का निरीक्षण किया गया। फरीदकोट से विधायक श्री कुशलदीप सिंह ढिल्लों ने कहा कि जहाँ कंपनियों अपना अतिरिक्त लाभ कमाने के लिए घटिया गुणवत्ता का सस्ता समान इस्तेमाल कर रही हैं वहीं काम के लिए ज़रुरी ठेकेदारों की भी कमी है। उन्होंने कहा कि यदि कंपनी के पास ठेकेदारों की कमी है तो कम से -कम स्थानीय शहर के अच्छे ठेकेदारों से ही काम लिया जाये। विधायकों द्वारा प्रगटाए शंकाओं के उपरांत स्थानीय निकाय मंत्री ने अकेले -अकेले शहर के काम की रिपोर्ट सम्बन्धित कंपनी से ली जिस को ठेका दिया गया हुआ है।
स. सिद्धू ने मीटिंग में उपस्थित मैसर्ज शाहपूरजी पालूनज़ी लिमटिड, जी.डी.सी.एल. कृष्णा जीवी, त्रिवैनी इंज इंडसटरीका और मैस. गिरधारी लाल अगरवाल कंटरैकटरका के अधिकारियों को लताड़ते हुए कहा कि वह यह कभी भी बर्दाश्त नहीं करेंगे कि लोगों का पैसा बेकार जाये। उन्होंने कंपनी को हिदायत की कि वह आज ही अपने काम का ब्योरा सौंपें और बताएं कि कौन सा काम कब तक पूरा हो जायेगा। वह यह भी बताएं कि कौन सा काम किस-किस ठेकेदार द्वारा करवाया जा रहा है, कौन सी सामग्री इस्तेमाल करी जा रही है और कौन सी मशीनरी उनके पास उपलब्ध है। विधायकों ने आज इस बात पर भी शंक ज़ाहिर किये कि जहाँ कंपनी ने सब लैटिंग करके आगे काम छोटे ठेकेदारों को सौंप दिया है वहीं उनके पास अपेक्षित मशीनरी भी नहीं है और जबकि दूसरे शहर से मशीनरी का प्रबंध किया जाता है तो काम कई-कई दिन तक रुका रहता है । स. सिद्धू ने कंपनियों को हिदायतें दी कि एक महीने के बाद वह स्वयं सभी शहरों का दौरा करके इसका मूल्यांकन करेंगे और यदि कोई कमी पाई गई तो न सिफऱ् वह कंपनी को ब्लैक लिस्ट करवाने की सिफ़ारिश करेंगे बल्कि अपराधिक मामला भी दर्ज करवाएंगे। उन्होंने बताया कि विभाग द्वारा हर काम के लिए नोडल अधिकारी नामज़द किये गए हैं जो निरंतर काम का रिपोर्ट विभाग और स्थानीय विधायकों को देंगे। मैसर्ज शाहपूरजी पालूनज़ी लिमटिड के पास 9 शहरों और जी.डी.सी.एल. कृष्णाजीवी के पास 8 शहरों का काम है।
स. सिद्धू ने कहा कि पिछली सरकार द्वारा जिन कंपनियों को सिवरेज का करोड़ों का काम सौंपा गया, उस समय कई ख़ामियाँ रहने के कारण आज भी कई शहरों की हालत बहुत बुरी है। उन्होंने कहा कि हमारे विभाग द्वारा कामों को सुचारू तरीकों के साथ पूरा करने के लिए कई अहम कदम उठाए गए जिनमें जे.ई से लेकर चीफ़ इंजनियर तक सभी फील्ड स्टाफ की जीओ टैगड हाजिऱी, मज़दूरों के काम, मशीनरी और अन्य कामों आदि की साप्ताहिक आधार पर माईक्रो प्लानिंग, ऑनलाईन मंजूरियां, तीसरी पक्ष द्वारा निरीक्षण के दौरों की संख्या बढ़ानी और उनकी रिपोर्टों का ऑनलाइन निरीक्षण, तय समय में फील्ड निरीक्षण न होने की सूरत में एस.एम.एस. आधारित नोटिफिकेशन, निर्माण वाली जगहों पर सामग्री की गुणवत्ता देखने के लिए अचानक चैकिंग करनी, जीओ टैगट के द्वारा तस्वीरों और वीडियो के द्वारा रोज़मर्रा का निरीक्षण करना, काम की बिलिंग के लिए ऑनलाइन एप्लीकेशन आदि शामिल हैं। उन्होंने कहा कि विभाग की तरफ से उठाए गए कदमों के बावजूद कंपनी की तरफ से किये जा रहे कामों से स्थानीय लोग खुश नहीं जिस कारण वह आखिरी बार लताड़ कर रहे हैं कि यदि लोगों की उम्मीदों अनुसार काम नहीं हुआ तो वह सख्त कार्यवाही करेंगे।
इस मौके पर विधायक श्री दलवीर सिंह गोलडी, विधायक श्री गुरप्रीत सिंह जी.पी. पूर्व विधायक मुहम्मद सदीक, भाई राहुल इन्द्र सिंह कुक्कू, स्थानीय निकाय विभाग के प्रमुख सचिव श्री ए वेनू प्रसाद, पी.एम.आई.डी.सी. के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री अजोए शर्मा भी उपस्थित थे।