पंजाब सरकार द्वारा सभी सहकारी चीनी मिलों को चलाया जायेगा- सुखजिन्दर रंधावा - BTTNews

ताजा अपडेट

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Friday, August 03, 2018

पंजाब सरकार द्वारा सभी सहकारी चीनी मिलों को चलाया जायेगा- सुखजिन्दर रंधावा



कोई भी सहकारी चीनी मिल बंद नहीं की जाएगी

सहकारी चीनी मिलों के घाटे में जाने संबंधी पिछले तीन सालों का रिकार्ड जाँचने के आदेश

चंडीगढ़, 3 अगस्त-

पंजाब सरकार द्वारा कोई भी सहकारी चीनी मिल बंद नहीं की जायेगी बल्कि सभी सहकारी चीनी मिलों को चलाने के लिए ठोस उपराले किये जाएंगे। आज यहाँ पंजाब भवन में राज्य की सहकारी चीनी मिलों की मौजूदा स्थिति और अन्य भविष्य में किये जाने वाले सुधार के लिए विभाग के अधिकारियों और विधायकों के साथ रखी मीटिंग की अध्यक्षता करते हुए सहकारिता मंत्री स. सुखजिन्दर सिंह रंधावा ने कहा कि घाटे में चल रही सहकारी चीनी मिलों के नवीनीकरण करके उनसे बढिय़ा नतीजे प्राप्त किये जाएंगे।

स. रंधावा ने कहा कि ज़रूरत अनुसार सहकारी चीनी मिलों की मशीनरी में सुधार किया जायेगा या नयी मशीनरी लगाई जायेगी। उन्होंने साथ ही कहा कि गन्ने के ऐसे बीज पैदा किये जाएँ जिससे चीनी की अधिक मात्रा प्राप्त की जा सके। उन्होंने कहा कि इस कार्य के लिए टिसू कल्चर को विकसित किया जायेगा और अधिक मात्रा में चीनी पैदा करने वाले गन्ने के बीजों संबंधी लोगों को जागरूक करने के लिए मुहिम चलाई जायेगी।

मीटिंग के दौरान सहकारिता मंत्री ने सभी चीनी मिलों के जनरल मैनेजरों और अधिकारियों को लताड़ते हुए कहा कि निजी चीनी मिलों को लाभ पहुंचाने बंद किये जाएँ। उन्होंने कहा कि निजी चीनी मिलों के बराबर सहकारी चीनी मिलों से नतीजे प्राप्त किये जाएँ ऐसा न करने वाले अधिकारियों की जवाबदेही तय की जाये।

एक और अहम एलान करते हुए सहकारिता मंत्री ने कहा कि वह सभी चीनी मिलों का ख़ुद दौरा करेंगे, जहाँ सहकारी चीनी मिलों घाटे में जाने और सुधारों संबंधी हिस्सेदारों और किसानों के साथ खुले मंच पर विचार-विमर्श किया जाएगा। उन्होंने साथ ही कहा कि इस मौके पर जनरल मैनेजरों और अन्य अधिकारियों को लोगों के सवालों के सबके सामने जवाब देने पड़ेंगे।

स. रंधावा ने इस मौके पर सहकारी चीनी मिलों के घाटे में जाने संबंधी पिछले तीन सालों का रिकार्ड जाँचने के आदेश भी दिए और कहा कि दोषी पाए जाने वाले अधिकारियों के खि़लाफ़ बड़ी कार्यवाही की जायेगी।

इस मौके पर स. संगत सिंह गिलजियां विधायक, स. कुशलदीप सिंह ढिल्लों विधायक, चौधरी दर्शन लाल विधायक, स. हरमिन्दर सिंह गिल विधायक, स. हरप्रताप सिमघ अजनाला विधायक, श्री धर्मवीर अग्निहोत्री विधायक, स. कुलबीर सिंह ज़ीरा विधायक, बरिन्दरजीत सिंह पाहड़ा विधायक, स. हरदेव सिंह लाडी विधायक, कुलदीप सिंह वैद विधायक, स. लखबीर सिंह लक्खा विधायक, स. दविन्दर सिंह घुबाया विधायक और पूर्व मंत्री श्री मलकीत सिंह दाखा, रजिस्ट्रार सहकारी सोसायटी श्री विकास गर्ग, शुगरफैड के प्रशासनिक निदेशक श्री गुरलवलीन सिंह और अलग-अलग सहकारी चीनी मिलों के जी.एम भी मौजूद थे।