खाद्य आयोग पायलट प्रोजैक्ट के तौर पर अपनाएगा योजना
चंडीगढ़, 14 नवम्बर:
पंजाब राज्य के स्कूलों में पढऩे वाले बच्चों को मिड -डे मील योजना के अधीन मानक और गुणवत्ता भरपूर भोजन मुहैया करवाने के लिए पंजाब राज्य खाद्य आयोग द्वारा मार्कफैड के साथ तालमेल किया गया। मूलभूत दौर में यह योजना पायलट स्कीम के अधीन शुरू की जायेगी। पंजाब राज्य खाद्य आयोग के चेयरमैन श्री डी.पी. रैड्डी ने कहा कि अगर यह तजुर्बा सफल रहा तो इसको पंजाब भर में लागू किया जायेगा।


इस संबंधी एक प्रवक्ता ने बताया कि पंजाब राज्य खाद्य आयोग के चेयरमैन श्री डी.पी. रैड्डी की अध्यक्षता अधीन एन.एफ.एस.ए. एक्ट के 2013 अधीन चल रही मिड-डे मील योजना संबंधी मीटिंग की गई। मीटिंग के दौरान सचिव शिक्षा विभाग कृष्ण कुमार ने बताया कि इस स्कीम पर 60 प्रतिशत हिस्सा केंद्र और 40 प्रतिशत हिस्सा राज्य सरकार द्वारा अदा किया जाता है। इस योजना अधीन राज्य के सभी सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूल जिनमें पहली से पाँचवी तक प्राथमिक कक्षाओं और छटी से आठवीं तक माध्यमिक स्कूलों में पढऩे वाले विद्यार्थियों को मिड-डे मील दिया जाता है। इस योजना के अधीन बच्चों को 100 से 150 ग्राम तक उनकी आयु के हिसाब के साथ डाइट दी जाती है।
मीटिंग में पंजाब राज्य खाद्य आयोग के समूह मैंबर, सचिव स्कूल शिक्षा कृष्ण कुमार, डी.पी.आई. (एलिमेंट्री) इन्द्रजीत सिंह और मिड -डे मील योजना के जनरल मैनेजर प्रभचरन सिंह उपस्थित थे। 

----------------

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.