बादलों और अक्षय को सम्मन जारी करने में सरकार का रोल नहीं - BTTNews

Breaking

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Monday, November 12, 2018

बादलों और अक्षय को सम्मन जारी करने में सरकार का रोल नहीं


कैप्टन ने दिया किसानों को मंडियों से फ़सल का एक -एक दाना उठाने का भरोसा
संगरूर
          पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने आज स्पष्ट किया कि वर्ष 2015 में घटित बेअदबी और पुलिस गोलीबारी की घटनाओं की जांच के लिए बनाई गई विशेष जांच टीम (एस.आई.टी.) द्वारा बादलों और फि़ल्म अदाकार अक्षय कुमार को सम्मन जारी करने में उनकी सरकार की कोई भूमिका नहीं है।


   आज संगरूर में होमी भाभा कैंसर अस्पताल के उद्घाटन के बाद पत्रकारों से बातचीत के दौरान एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि विशेष जांच टीम एक स्वतंत्र एजेंसी है जो सरकार के किसी किस्म के दख़ल के बिना काम कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि विधानसभा में सर्वसम्मति से हुए फ़ैसले के अंतर्गत एस.आई.टी. का गठन करना उनकी सरकार का काम था जो उन्होंने कर दिया है और अब जांच की जि़म्मेदारी एस.आई.टी. के कंधों पर है।
   एक अन्य सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने मंडियों में किसानों की फ़सल का एक -एक दाना उठाने के लिए अपनी सरकार की वचनबद्धता को दोहराया। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने उपभोक्ता मामलों, ख़ाद्य और सार्वजनिक वितरण केंद्रीय मंत्री को पहले ही पत्र लिख कर नमी की मात्रा का मामला हल करने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि कटाई से पहले बेमौसमी और भारी बारिश पडऩे से यह समस्या पैदा हुई है। मुख्यमंत्री ने बताया कि उन्होंने केंद्रीय मंत्री को लिखे पत्र में धान की शुष्कता के तौर पर कम से कम समर्थन मूल्य पर एक की बजाय 2 प्रतिशत छूट देने की माँग की थी जिससे सावन ॠतु की बाकी रहती खऱीद बिना किसी दिक्कत और निर्विघ्न की जा सके।
   सरकारी अस्पतालों में डाक्टरों की कमी के मुद्दे पर मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी अस्पतालों में जल्द ही 588 डाक्टरों की तैनाती की जायेगी। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि वह डाक्टरों को उनकी रिहायश के नज़दीक ही तैनात करने के हक में हैं जिससे उनके काम करने में और कुशलता आयेगी।
          अध्यापकों के चल रहे प्रदर्शन संबंधी पूछे सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने अध्यापकों को उचित पेशकश की थी कि या तो वह प्रोबेशनरों के तौर पर रेगुलर नौकरी पर उपस्थित हों या फिर ठेके के आधार पर सेवाएंं जारी रखें। उन्होंने कहा कि इस पेशकश को स्वीकृत या रद्द करना अब अध्यापकों पर निर्भर है।
          योग्य नौजवानों को स्मार्ट फ़ोन देने के चुनावी वायदे संबंधी मुख्यमंत्री ने कहा कि इस संबंधी टैंडरिंग प्रक्रिया पहले ही शुरू की जा चुकी है और फ़ोन बाँटने जल्द ही शुरू किये जाएंगे।
          वर्ष 2019 के लोक सभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों के ऐलान संबंधी कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि चुनाव का ऐलान होने के बाद उम्मीदवारों संबंधी फ़ैसला लिया जायेगा।

--------------