विभाग द्वारा रखी जा रही है निरंतर नजऱ - बरनाला में ग़ैरकानूनी धान के 5 ट्रक और चावल का 1 ट्रक किया काबू - BTTNews

Breaking

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

POLL- PM KON ?

Saturday, December 01, 2018

विभाग द्वारा रखी जा रही है निरंतर नजऱ - बरनाला में ग़ैरकानूनी धान के 5 ट्रक और चावल का 1 ट्रक किया काबू

पंजाब खाद्य सप्लाई विभाग को ग़ैर -कानूनी ढंग से खऱीदे धान/चावल की 5.03 लाख बोरियों की बिक्री पर रोक लगाने में मिली कामयाबी: भारत भूषण आशु
विभाग द्वारा रखी जा रही है निरंतर नजऱ - बरनाला में ग़ैरकानूनी धान के 5 ट्रक और चावल का 1 ट्रक किया काबू
चंडीगढ़, 1 दिसंबर:
पंजाब फूड सप्लाई विभाग की विजीलैंस टीम द्वारा बरनाला में देर रात को की गई एक कार्यवाही के दौरान पंजाब की मंडियों में बेचने के लिए दूसरे राज्यों से लाए धान/चावल लेजा रहे 6 ट्रकों को काबू करने में सफलता हासिल की है। इस छापेमारी से राज्य में अब तक धान की कुल 5.03 लाख बोरियाँ ज़ब्त की गई हैं। उक्त जानकारी राज्य के खाद्य एवं सिविल सप्लाई मंत्री श्री भारत भूषण आशु ने दी।
श्री आशु ने दावा करते हुए कहा कि पंजाब खाद्य सप्लाई विभाग के अधिकारियों द्वारा की जा रही लगातार नजऱसानी स्वरूप बीते दो महीनों के दौरान की गई छापेमारियों में विभाग द्वारा 18865 मीट्रिक टन धान /चावल ज़ब्त किये जा चुके हैं। ज़ब्त किया गया धान/चावल अन्य राज्यों से कम कीमत पर खरीद कर पंजाब की मंडियों में बेचा जाना था।
इस सम्बन्धी और जानकारी देते हुए श्री आशु ने कहा कि हाल ही में बरनाला में छापेमारी के दौरान अन्य राज्यों से 5 धान और 1 चावल के ट्रकों द्वारा पंजाब लाए जा रही धान/चावल की 3000 बोरियाँ ज़ब्त की गई।
प्राथमिक जांच से यह तथ्य सामने आए हैं कि बरनाला के एक व्यापारी द्वारा अन्य राज्यों से स्टार एग्रो और किसान ट्रेडिंग कंपनी नाम की दो फज़ऱ्ी फर्मों के नाम अधीन सस्ते भाव में खरीदा धान/चावल मिल मालिकों, आढ़तियों और राज्य की मंडियों में एमएसपी रेट पर बेचा जाना था।
राज्य में अन्य राज्यों से ऐसा रिकार्ड रहित धान/चावल लाने और बेचने के मद्देनजऱ उक्त फज़ऱ्ी फर्मों पर धनौला पुलिस थाना में मकद्दमा दर्ज कर लिया गया है। इन फर्मों द्वारा मार्केट कमेटी फीस भी अदा नहीं की जाती थी, अंतरराज्यीय सीमा पर बिल देना होता है और मार्केट कमेटी की फीस अपने ठिकाने पर पहुँचकर अदा करनी होती है परन्तु क्योंकि उक्त फर्में फज़ऱ्ी थीं इसलिए इनके द्वारा कभी भी धान /चावल की खऱीद या बिक्री सम्बन्धी रिपोर्ट नहीं दी गई। मार्केट कमेटी फीस से बचने के लिए यह सीधे तौर पर खरीदने वाले के साथ सौदा करते थे और रिकार्ड रहित धान की फ़सल बेच देते थे। दूसरी तरफ़ खरीददार धान को मंडी में से किसान द्वारा खरीदा दिखाकर और एमएसपी का 300 से 600 रुपए प्रति क्विंटल कमा रहे हैं। इस तरह के एक अन्य मामले में बीते दिनों स्टार एग्रो का एक ट्रक रात को 2 बजे लुधियाना के सलेम टाबरी मेंडी में धान की फ़सल उतारते समय काबू किया गया था। जबकि 2 ट्रक मौके से फऱार होने में कामयाब हो गए थे। शुक्रवार को चलाई गई मुहिम के दौरान पटियाला जिले के देवीगढ़ और रामनगर के साथ लगती सीमा पर लगाए दो नाकों के दौरान ऐसे और 5 ट्रकों को जांच के लिए रोका गया जिनमें धान और चावल लादा हुआ था। इनमें से दो ट्रक उस व्यापारी के थे जिसके ट्रक बरनाला में पकड़े गए थे और एफआईआर दर्ज हुई थी।
मंत्री ने कहा कि धान की खऱीद का पूरा अमल मुकम्मल होने तक जांच टीमें अपनी कार्यवाही जारी रखेंगी।