आखिरी दिन पंजाब ने एक स्वर्ण और दो काँस्य पदक जीते
पंजाब ने 23 स्वर्ण, 19 रजत और 30 काँस्य पदकों सहित कुल 72 पदक जीते
खेल मंत्री राणा सोढी और अतिरिक्त मुख्य सचिव द्वारा राज्य के खेल दल को मुबारकबाद

चंडीगढ़, 20 जनवरी:
पुणे में पिछले 12 दिनों से चल रही खेलो इंडिया यूथ गेम्ज़ के आखिरी दिन आज पंजाब ने तीन पदक जीते। तीरअन्दाज़ी में एक-एक स्वर्ण और काँस्य और लड़कियों की हॉकी टीम ने एक काँस्य पदक जीते। इन खेल में पंजाब ने 23 स्वर्ण, 19 रजत और 30 काँस्यपदकों सहित कुल 72 पदक जीते।


पंजाब के खेल मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढी ने पंजाब के समूचे खेल दल को मुबारकबाद देते हुए आशा व्यक्त की कि अगली बार पंजाब के खिलाड़ी और भी पदक जीतेंगे। उन्होंने कहा कि जो खिलाड़ी इस बार पदक नहीं जीत सके, वह आगे से और भी मेहनत करके पदक सूची में अपना नाम दर्ज करवाएंगे। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय खेल और अगले साल होने वाले टोकियो ओलम्पिक खेल के लिए पंजाब के खिलाडिय़ों को अभी से ही तैयारी कस लेनी चाहिए। अतिरिक्त मुख्य सचिव (खेल) श्री संजय कुमार ने भी विजेता खिलाडिय़ों को बधाई दी और उनकी प्राप्ति का श्रेय कोचिंग स्टाफ और खिलाडिय़ों के माता-पिता को दिया।
पंजाब के खेल दल की प्रमुख और खेल विभाग की डायरैक्टर श्रीमती अमृत कौर गिल ने खेल के आखिरी दिन पदक जीतने वाले पंजाब के खिलाडिय़ों बारे जानकारी देते हुए बताया कि तीरअन्दाज़ी के अंडर-21 में संगमप्रीत सिंह ने स्वर्ण और अंडर -17 में अमनप्रीत कौर ने कांस्य पदक जीते। संगमप्रीत सिंह ने कम्पाउंड इवेंट के फ़ाईनल में हरियाणा के राहुल को 145 -139 से हराया। लड़कियों की अंडर -21 हॉकी में पंजाब की टीम ने काँस्य  पदक जीते। काँस्य पदक वाले मैच में पंजाब ने उड़ीसा को 2-1 से हराया।
———

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.