पिछले तीन साल से आलू के दाम घटने कारण समस्या से घिरे आलू उत्पादक

चंडीगढ़, 2 फरवरी:
राज्य के संकट में घिरे आलू उत्पादकों की मदद करने के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने पंजाब से बाहर अपनी फ़सल को बेचने के लिए आलू उत्पादकों को फ़सल की ढुलाई के लिए सब्सिडी मुहैया करवाने हेतु करोड़ रुपए जारी करने के हुक्म दिए हैं। 

आलू उत्पादकों के समर्थन में कई कदम उठाने का ऐलान करते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री ने आलू उत्पादकों की मदद के लिए हर संभव कदम उठाने के लिए कृषि विभाग को निर्देश दिए हैं जिससे वह अपनी फ़सल के बढिय़ा दाम प्राप्त कर सकें। उन्होंने माल भाड़ा सब्सिडी की मदद से आलू की फ़सल के निर्यात के लिए कदम उठाने हेतु भी सम्बन्धित विभाग को निर्देश दिए हैं। इसके लिए कैप्टन अमरिन्दर सिंह की सरकार पंजाब एग्रो इंडस्ट्रीज़ कार्पोरेशन को ढुलाई सम्बन्धी सब्सिडी जारी कर रही है। 
मुख्यमंत्री ने मिड -डे -मील और आंगनवाड़ी में तैयार किये जा रहे भोजन में प्रयोग के लिए किसानों से आलू की सीधी खरीद करने के लिए स्कूल शिक्षा और जेल विभागों को पहले ही हुक्म जारी किये हुए हैं। किसान समुदाय की कोई भी मदद करने में केंद्र सरकार के असफल रहने के परिणामस्वरूप आलू उत्पादकों के संकट में घिरने पर मुख्यमंत्री ने गंभीर चिंता प्रकट की है। 
पंजाब में हर साल तकरीबन एक लाख हैक्टेयर क्षेत्रफल पर आलू की बिजाई की जाती है जिससे तकरीबन 25 लाख टन का उत्पादन होता है। पिछले तीन सालों से आलू के दाम घटने के कारण आलू उत्पादक समस्याओं का सामना कर रहे हैं। 
मुख्यमंत्री ने आलू उत्पादकों की मदद के लिए उद्योग से भी समर्थन की माँग की है। अतिरिक्त मुख्य सचिव (विकास) विश्वजीत खन्ना के अनुसार इसकोनबालाजी फूड्ज़ लि. और गोदरेज टाईसन फूड्ज़ लि. नामक आलू प्रोसैसिंग के प्लांट जल्द ही आलू की प्रोसैसिंग शुरू कर देंगे। इनका इस सीजन के दौरान तकरीबन 35000 टन आलू की प्रोसैसिंग करने का लक्ष्य है। 
---------



Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.