Type Here to Get Search Results !

हैपी फोरजिंग 550 करोड़ के निवेश से लुधियाना में स्थापित करेगा आटो पार्टस यूनिट

कम्पनी के चेयरमैन ने प्रोजैक्ट से अवगत कराया, 6000 से अधिक लोगों को मिलेगा रोजग़ार

चंडीगढ़, 14 फरवरी:

        पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व में पंजाब में औद्योगिक विकास को प्रौत्साहन देने के लिए किये जा रहे यत्नों के अंतर्गत आटो पार्टस के क्षेत्र में देश की एक अग्रणी कंपनी मैसर्ज हैपी फोरजिंगस लिमिटिड (एच.एफ.एल) ने गुरूवार को राज्य में प्रस्तावित 550 करोड़ रुपए के निवेश से एक बड़ी उत्पादन इकाई स्थापित करने का फ़ैसला लिया है।


        एच.एफ.एल के चेयरमैन परितोश कुमार गर्ग की आज यहाँ मुख्यमंत्री के साथ एक मुलाकात के दौरान कंपनी ने इस फ़ैसले का ऐलान किया। कंपनी ने अपना यूनिट स्थापित करने के लिए 20 एकड़ ज़मीन पहले ही प्राप्त करने के साथ-साथ ‘इनवैस्ट पंजाब’ के द्वारा ज़रूरी प्रवानगियों की प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। इस प्रोजैक्ट से प्रत्यक्ष रूप से 1000 और अप्रत्यक्ष रूप से कम-से-कम 5000 लोगों को रोजग़ार मुहैया होगा।

        मीटिंग के दौरान परितोश गर्ग ने मुख्यमंत्री को बताया कि इस उत्पादन इकाई के पहले पड़ाव पर काम जारी है और आगामी वित्तीय वर्ष की समाप्ति तक यहाँ काम शुरू हो जायेगा। उन्होंने इनवैस्ट पंजाब की सराहना करते हुये कहा कि इस एक छत के नीचे ज़रूरी सहूलतें मुहैया करवाने वाले दफ़्तर के कारण उनकी योजना वास्तविकता में तबदील हो सकी है।

        श्री गर्ग ने उद्योगों की माँग पूरी करते हुए न सिफऱ् पाँच रुपए प्रति यूनिट बिजली मुहैया करवाने बल्कि रियायतों वाली औद्योगिक नीति को अमली जामा पहनाने के लिए मुख्यमंत्री का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि पंजाब में उद्योगों और श्रमिकों के बीच घनिष्ठ और बढिय़ा सम्बन्ध पैदावार के लिए सहायक हो रहे हैं।

        मीटिंग के उपरांत एक प्रवक्ता ने बताया कि इस प्रोजैक्ट से आटोमोबाईल और आटो पार्टस से सम्बन्धित उद्योगों को और प्रौत्साहन मिलेगा और यह प्रोजैक्ट राज्य में इस उद्योग की मज़बूत स्थापना के लिए सहायक सिद्ध होगा।

        प्रवक्ता ने बताया कि एच.एफ.एल. के पिछले वित्तीय वर्ष के दौरान सालाना टर्नओवर 560 करोड़ रुपए था जिसमें चालू वित्तीय वर्ष के दौरान 45 प्रतिशत का विस्तार होने की संभावना है और नये यूनिट की स्थापना से यह कंपनी हर महीने 1000 मीट्रिक टन लोहा ढाल कर फोरजिंग क्षेत्र में देश में दूसरे नंबर की कंपनी बनेगी।

        अत्याधुनिक ढलाई और मशीनी सहूलतों से लैस एच.एफ.एल. अलग -अलग इंजन मशीनों के पार्टस, ट्रांसमिशन, सस्पेंशन, रेल गाड़ीयों से सम्बन्धित पार्टस, तेल और गैस आदि बनाने में माहिर है। एच.एफ.एल. के उत्पादों में करैंक शाफ्ट, फ्रंट ऐकसल बीम, स्टेयरिंग पुर्जे, स्पिंडल, डिफरैंशिअल केस, कनैकटिंग रॉड्स, टाई रॉड्स असेंबली, पिस्टन पिनों, गेयर बलैंकस, हबस, कराऊन और पिनियनज़ आदि शामिल हैं और कंपनी कई देसी और विदेशी कंपनियों की भरोसेमन्द सप्लायर है। इन कंपनियों में अशोक लेअलैंड, महिन्द्रा एंड महिन्द्रा, जे.सी.बी., ऐसकोरटस, स्वराज ट्रैकटरज़, इंटरनेशनल ट्रैकटरज़, सोनालिका, आईशर ट्रैकटरज़, मैरीटोर इटली, मैरीटोर स्वीडन, ओरलीकोन ग्रैज़ैन्यो (दाना), येनमार जापान, अमेरिकन ऐकसलज़, आटोमोटिव ऐकसलज़, जोस्ट, ईटन, डैमलर आदि शामिल हैं।

        मीटिंग में दूसरों के अलावा मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल, अतिरिक्त मुख्य सचिव इनवेस्टमैंट प्रोमोशन विन्नी महाजन, मुख्यमंत्री के विशेष प्रमुख सचिव गुरकिरत कृपाल सिंह और इनवैस्ट पंजाब के सी.ई.ओ. रजत अग्रवाल उपस्थित थे।

----------

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.