चंडीगढ़, 12 फरवरी:
शिक्षा मंत्री पंजाब श्री ओम प्रकाश सोनी ने आज एक अहम फ़ैसला लेते हुए 3582 भर्ती अधीन नियुक्त अपंग अध्यापकों की अपने घरों के नज़दीक बदली करने को मंजूरी दे दी। 3582 भर्ती अधीन नियुक्त हुए अध्यापकों को राज्य सरकार ने सरहदी क्षेत्र में शिक्षा तंत्र को मज़बूत करने के मकसद से नौकरी के प्रारम्भिक तीन वर्ष सरहदी जिलों में नौकरी करने के लिए पाबंद किया था।

आज यहाँ 3582 अध्यापक यूनियन और शिक्षा विभाग की विभिन्न सोसायटियों अधीन कलैरीकल नौकरी कर रहे मुलाजिमों की जत्थेबंदियों के नेताओं द्वारा शिक्षा मंत्री श्री ओम प्रकाश सोनी के साथ मुलाकात की गई।
इस मुलाकात के दौरान इन यूनियन नेताओं ने सरकार की तरफ से स्कूल शिक्षा को मज़बूत करने की दिशा में किये जा रहे काम की सराहना की और साथ ही शिक्षा मंत्री के ध्यान में लाया कि 3582 भर्ती अधीन नियुक्त अध्यापकों में कुछ अपंग, विधवाएं और गंभीर बीमारियों से पीडि़त हैं जिस कारण उनको अपनी ड्यूटी पूरी ईमानदारी के साथ निभाने में दिक्कत आ रही है। 
शिक्षा मंत्री ने इनकी सभी माँगों को सुनने के उपरांत मीटिंग में मौजूद सचिव, स्कूल शिक्षा, कृष्ण कुमार को हिदायत की कि वह 3582 भर्ती अधीन नियुक्त अपंग, विधवांओं और गंभीर बीमारियों के साथ जूझ रहे अध्यापकों की 15 मार्च के बाद उनके घरों के नज़दीक बदलियां कर देें।
मीटिंग में उपस्थित विभिन्न सोसाईटियों के अधीन कलैरीकल नौकरियाँ कर रहे मुलाजिमों की जत्थेबंदी के नेताओं ने शिक्षा मंत्री श्री ओम प्रकाश सोनी को विनती की कि जैसे एस.एस.ए /रमसा के अधीन काम करते हुये अध्यापकों को राज्य सरकार की तरफ से शर्तों के अनुसार पक्का किया गया है उसी तजऱ् पर उनकी सेवाएँ भी रेगुलर की जाएँ। जिस पर सहमति प्रकटाते हुये शिक्षा सचिव को निर्देश दिए कि वह इस संबंधी एजेंडा तैयार कर कर कैबिनेट की मंजूनल हेतु भेजें।
श्री सोनी ने इस मौके पर कहा कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली राज्य सरकार शिक्षा तंत्र को मज़बूत करने के लिए वचनबद्ध है और साथ ही अध्यापकों के कल्याण के लिए भी वचनबद्ध है। उन्होंने कहा कि राज्य में सत्ता संभालने के बाद कई अध्यापक वर्र्गों को लाभ पहुँचाने वाले और शिक्षा तंत्र के हक के फ़ैसले लिये गये हैं। 
--------------

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.