पंजाब पुलिस द्वारा लॉरेंस बिशनोई गैंग का ख़तरनाक गुर्गा अंकित भादू ढेर, दो अन्य काबू - BTTNews

Breaking

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Friday, February 08, 2019

पंजाब पुलिस द्वारा लॉरेंस बिशनोई गैंग का ख़तरनाक गुर्गा अंकित भादू ढेर, दो अन्य काबू


उत्तर भारत के 7 राज्यों की पुलिस को था वांछित, उसके दो गैंग मैंबर भी किये मौके पर काबू
3 पिस्तौल समेत विदेशी हथियार बरामद

चंडीगढ़, 8फरवरी:
संगठित अपराधियों के खि़लाफ़ अपनी मुहिम के तहत पंजाब पुलिस ने बीती रात जीरकपुर के नज़दीक एक मुकाबले के दौरान लॉरेंस बिशनोई गैंग केे ख़तरनाक गुर्गे अंकित भादू को ढेर करके उसके गैंग के दो अन्य मेंबर जरमनप्रीत सिंह और गुरविन्दर सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है जोकि दोनों तरन तारन जिले से सम्बन्धित हैं।


इस संबंधी मीडिया को जानकारी देते हुये कुंवर विजय प्रताप सिंह, आई.जी.पी. इंटेलिजेंस, संगठित अपराध नियंत्रण यूनिट (ओकू) ने बताया कि अबोहर के गाँव सिरीए वाला का अंकित भादू और उसके दो साथी विभिन्न गंभीर अपराधों के लिए पुलिस को वांछित थे। 
उन्होंने बताया कि पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि अंकित भादू जीरकपुर के महालक्ष्मी अपार्टमेंट में किराये के फ्लैट में छिपा हुआ है, जिस पर डीएसपी बिक्रम सिंह बराड़ की टीम ने इस इलाके को घेरा डाल कर उसको आत्म-समर्पण करने के लिए कहा परन्तु उसने पुलिस पर गोलीबारी करके भागने की कोशिश की और इसी दौरान वह पड़ोस के एक फ्लैट में दाखिल हो गया और यहाँ उसने दो बच्चों को बंधक बना लिया।

चंडीगढ़ में पंजाब पुलिस के हैडक्वाटर में पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए कुंवर विजय प्रताप सिंह, आई.जी. पी. इंटेलिजेंस, संगठित अपराध नियंत्रण यूनिट

आई.जी.पी. इंटेलिजेंस ने आगे बताया कि अंकित भादू ने पुलिस पर फायरिंग की और इसमें ए.एस.आई. सुखविन्दर सिंह जख्मी हो गया। इसी मुकाबले के दौरान उसके दो साथी पुलिस ने मौके पर ही गिरफ़्तार कर लिए और अंकित भादू की अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई। 
आई.जी. ओ.सी.सी.यू ने और बताया कि कुल 3 पिस्तौल, एक मैगन और 43 जिंदा कारतूस इन अपराधियों से मिले हैं। कुछ हथियार विदेशी भी हैं। उन्होंने बताया कि इनसे और पूछताछ की जा रही है। 
आई.जी. ने आगे कहा कि अंकित भादू को विभिन्न मामलों में उत्तर भारत के सात राज्यों की पुलिस ढूँढ़ रही थी और उसके राजस्थान और हरियाणा पुलिस की तरफ से 1-1लाख रुपए का इनाम रखा हुआ था जबकि पंजाब पुलिस द्वारा उस पर  2 लाख रुपए का इनाम घोषित किया हुआ था। 
उन्होंने कहा कि अंकित भादू के खि़लाफ़ हत्या और फिरौती के पंजाब, राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश आदि में अनेकों केस दर्ज थे। उसपर 7 कत्ल केस दर्ज थे और वह गंगानगर में जार्डन के कत्ल, बनूड़ में कौशलर के पति दलजीत सिंह, चूरू में अजय जैतपुरिया का कत्ल जोकि राजस्थान में अजय राथ के गैंग का मैंबर था, पंकज सोनी सरा$फ के कत्ल और हाल ही में बहादुरगढ़ हरियाणा में हुई गैंगवार हत्याओं में वांछित था। 
इस मौके पर कुंवर विजय प्रताप सिंह ने कहा कि पंजाब पुलिस का उद्देश्य लोगों को सुरक्षित और शांतमयी माहौल उपलब्ध करवाना है। उन्होंने गैंगस्टरों को चेतावनी देते हुए कहा कि वह अपराध का रास्ता छोड़ कर पुलिस के पास आत्म-समर्पण कर देें या गंभीर निष्कर्ष भुगतने के लिए तैयार रहें। 


No comments:

Post a Comment