मानसा
जिले के गांव कोटड़ा कलां की निवासी एक महिला को बिना लाईसेंस (बगैर रजिस्टे्रशन ) से बाहर भेजने का काम करने वाले दो जाली ट्रेवल एजेंटों के चंगुल में फंसना बहुत महंगा पड़ा। विदेश में नौकरी के झांसे में आकर एजेंटों के हाथ ठगी का शिकार हुई महिला की शिकायत पर थाना भीखी की पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर आगे वाली कारवाई शुरु कर दी है।




जानकारी अनुसार जिले के गांव कोटड़ा कलां वासी एक महिला बलजिंदर कौर पतनी सुखवीर सिंह ने एक अखबार में विदेश भेजने का विज्ञापन पडक़र बाबा दीप सिंह उवरसीज़ के नाम नीचे बाहर भेजने के लिए एजेंट का काम करते सुखविंदर कुमार वासी जालंधर और अंमृतपाल सिंह वासी श्री अमृतसर संपर्क बनाया और हागकांग के लिए वर्क वीज़ा लगवाने की बात की, जिस पर उक्त एजेंटों ने मक्यू देश के द्वारा हागकांग भेज देने के लिए कहा और तीन लाख रुपए में बात तह हो गई, इस उपरांत उक्त एजेंटों ने बलजिन्दर कौर को 4 मई 2017 को टूरसिट वीजा पर मकयू भेज दिया और जब हागकांग जाने के लिए कोई बात न बनी तो वह 11 मई 2017 को ही वापिस आ गई।

इस उपरांत उक्त एजेंटों ने उसे मलेशिया के रास्ते सिंगापुर भेजने के लिए वर्क वीज़ा लगवाने की बात कही, तो उसकी सहमति पर उसे मलेशिया भेज दिया परन्तु फिर आगे उसे सिंगापुर न भेजा गया और वहा से भी बलजिंदर कौर वापिस आ गई, इस दौरान उसका करीब एक लाख रुपए  ख़र्च आ गया और जो मानसिक तौर पर परेशान उठानी पड़ी वह अलग रह गई, इस उपरांत उक्त एजेंटों ने उसकी रकम वापिस करने से इंकार कर दिया, जिसको लेकर पीडि़ता बलजिंदर कौर ने जिला पुलिस प्रमुख मानसा के पास शिकायत की, जिसकी जांच करवाने उपरांत उनकी और से जारी हुक्मों पर सहायक थानेदार राजिंदर सिंह ने एजेंटों सुखविंदर कुमार और अंमृतपाल सिंह के खिलाफ धारा 420,बी और पंजाब प्रीवेन्शन ऑफ हयुमन समगलिंग की धारा & तहत मामला दर्ज कर उनकी खोज शुरु कर दी है।




Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.