गुरुद्वारा खेल साहिब में एक दूसरे के हुए सियालकोट की किरण और अंबाला का परविंदर - BTTNews

Breaking

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

POLL- PM KON ?

Monday, March 11, 2019

गुरुद्वारा खेल साहिब में एक दूसरे के हुए सियालकोट की किरण और अंबाला का परविंदर


सीमा पर तनाव के बावजूद परिवार समेत पहुंची टीचर किरण ने की परविंदर से शादी

पटियाला (पंजाब)
भारत और पाक के बीच मौजूदा समय में चल रही कड़वाहट के बाद चल रही मुसीबतों के बावजूद पाकिस्तान के सियालकोट से परिवार के साथ पहुंची सियालकोट की रहने वाली किरण चीमा (27) ने अपने प्रेमी अंबाला के गांव तेपला निवासी परविंदर सिंह (33) शादी के साथ पटियाला के 22 नंबर फाटक के पास स्थित गुरुद्वारा खेल साहिब में शादी की।


परविंदर ने बताया कि पुलवामा हमले के बाद तनाव के चलते समझौता एक्सप्रेस रद होने के कारण किरण का परिवार एक दिन देरी से भारत पहुंचा। यही नहीं किरण को अंबाला के बजाय 45 दिनों का वीजा भी पटियाला का ही मिल पाया है जिसके चलते वह शादी के बाद वीजा अवधि बढ़ाने के लिए आवेदन करेंगे तथा यह भी प्रयास करेंगे कि किरण को अंबाला में रहने का ही वीजा मिल जाए, ताकि वह लोग एकसाथ परिवार के साथ अपने घर में रह सकें। परविंदर के अनुसार पहले करीब एक साल पहले शादी के लिए पाक का वीजा अप्लाई किया था, लेकिन रिजेक्ट हो जाने के बाद किरण और उसके परिवार को भारत बुलाया गया। परविंदर ने बताया कि किरण का परिवार उसकी चाची का दूर का रिश्तेदार है। ये लोग 1947 में देश विभाजन के समय सियालकोट में रह गए थे। वहीं लडक़ी के पिता सुरजीत चीमा ने कहा कि तनाव के चलते चाहे एक दिन देरी से भारत पहुंचे, लेकिन उनको कहीं कोई मुश्किल नहीं आई है। बता दें कि किरण अपने पिता सुरजीत चीमा, माता समायरा, भाई अमरजीत व बहन रमनजीत कौर के साथ समझौता एक्सप्रेस से पटियाला आई हुई है।परविंदर की मां पुष्पिंदर कौर व भाई लखविंदर सिंह ने कहा कि आज उनके लिए सबसे बड़ी खुशी का दिन है। उन्होंने कहा कि भारत और पाकिस्तान की स्थिति अलग है, लेकिन दोनों देशों के नागरिक शांति के साथ मिलजुल कर रहना चाहते हैं। इसी सोच के कारण ही यह रिश्ता हुआ। लडक़ी की मां समायरा चीमा ने कहा कि उनकी बेटी की शादी भारत में हुई है, इसकी उन्हें बहुत खुशी है। उन्होंने बताया कि उनके रिश्तेदार पाकिस्तान और भारत दोनों देशों में हैं और इस शादी के जरिये उन्होंने अपनी पुरानी सांझ को आगे बढ़ाया है।

No comments:

Post a Comment