Type Here to Get Search Results !

ईएचएस सोलर कंपनी के एमडी ने लोगों से लाखों ठगे, शातिर एमडी गिरफ्तार

ईएचएस सोलर कंपनी के एमडी ने लोगों से लाखों ठगे, शातिर एमडी गिरफ्तार
फाजिल्का : भव्य गोल्ड कंपनी बनाकर लोगों को लालच देते हुए रुपये ऐंठने के बरनाला में 2018 को दर्ज मामले में बरनाला पुलिस ने फाजिल्का पुलिस के साथ मिलकर आरोपित को रविवार देर रात फाजिल्का से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस आरोपित को गिरफ्तार कर बरनाला ले गई, जिसे कोर्ट में पेश करने के बाद दो दिन का रिमांड हासिल किया गया है।बरनाला पुलिस चौकी इंचार्ज अंग्रेज सिंह ने बताया कि उन्हें बरनाला निवासी राजीव कुमार ने शिकायत दी थी कि बरनाला निवासी जसविंद्र सिंह, संगरूर निवासी राज¨वद्र सिंह व पवन भाटिया पुत्र नानू राम वासी सादुलशहर( मटीली )ने भव्य गोल्ड नामक एक कंपनी बनाई हुई है, जो लोगों को पैसा निवेश करने के उपरांत 75 प्रतिशत रकम का सोना देने और बाकी पैसे वापस लौटाने का वादा करते थे। राजीव कुमार ने भी जस¨वद्र सिंह की बातों में आकर उक्त कपंनी में दो लाख 31 हजार रुपये निवेश किए। लेकिन बाद में उक्त व्यक्तियों ने न ही उसे सोना दिया और न ही उसके पैसे वापस किए। राजीव ने पुलिस को शिकायत की। पुलिस ने सितंबर 2018 में जस¨वद्र सिंह, पवन कुमार व राजविंद्र सिंह के खिलाफ ध्पर्चा दर्ज कर लिया था। परंतु आरोपी ने माननीय हाईकोर्ट में जमानत लगा दी थी लेकिन माननीय हाईकोर्ट ने इसकी जमानत को खारिज कर दिया था । उसके बाद ही से ही पुलिस को इसकी तलाश थी रविवार को बरनाला पुलिस को सूचना मिली कि पवन भाटिया फाजिल्का में है। इस पर पुलिस ने फाजिल्का पुलिस के साथ तालमेल करते हुए पवन  भाटिया   को देर रात्रि फाजिल्का के गांव सुरेश वाला के नजदीक से आरोपी को गिरफ्तार कर लिया और रात को ही अपने साथ पवन भाटिया को बरनाला ले गई। जिसे सुबह कोर्ट में पेश करके दो दिन का पुलिस रिमांड हासिल किया गया। चौकी इंचार्ज ने लोगों से अपील की कि जिन लोगों ने उक्त कंपनी में अपना निवेश किया है, वह पुलिस के साथ संपर्क करके इसकी शिकायत दे सकते हैं
।पड़ताल में यह बात भी सामने आई है कि किए आरोपी  एमडी पवन भाटिया जनता को फंसाने के लिए पंफलेटअखबारों में देता था इनमें से एक पंफलेट पर माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की फोटो छपवा कर अखबारों में डलवा कर अपने गोरखधंधे का प्रचार करता था प्रधानमंत्री की फोटो लगी होने के कारण  कई लोग इसके झांसे में आ गए।
इससे लगभग 3 माह पहले फाजिल्का के दो पत्रकारों ने जब इसकी  ठगी की पोल खोलनी चाही तो इसने उन पर झूठा मुकदमा दर्ज करवा दिया था ।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.