आपराधिक गिरोह के तीन सदस्‍य काबू, पिस्तौतल, मैगजीन व जिंदा कारतूस बरामद - BTTNews

ताजा अपडेट

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Friday, March 15, 2019

आपराधिक गिरोह के तीन सदस्‍य काबू, पिस्तौतल, मैगजीन व जिंदा कारतूस बरामद


बड़ी अपराधिक गतिविधियों को अंजाम देने की बना रहे थे योजना
0.32 बोर की दो पिस्तौलों समेत 3 मैगज़ीनें, 14 जिंदा कारतूस बरामद

अमृतसर, 15 मार्च:
पंजाब पुलिस के खुफिय़ा विंग ने आज समाज विरोधी और राष्ट्र विरोधी तत्वों के गिरोह का पर्दाफाश किया है जो पंजाब में बड़ी अपराधिक गतिविधियों को अंजाम देने की योजना बना रहे थे। इस संबंधी मिली विशेष जानकारी पर कार्यवाही करते हुए स्टेट स्पैशल ऑपरेशनज़ सैल अमृतसर की पुलिस टीम ने अमृतसर से तीन व्यक्तियों को गिरफ़्तार किया है।


इस संबंधी जानकारी देते हुए पंजाब पुलिस के प्रवक्ता ने बताया कि अब तक की गई प्राथमिक जांच के अनुसार अजनाला के बलजीत सिंह, गुरूद्वारा बाबा बकाला के जगदेव सिंह और अमृतसर जिले के मनजीत सिंह को गिरफ़्तार किया गया है। पुलिस की तरफ से उनसे 0.32 बोर के दो पिस्तौलों समेत 3 मैगजीनें और 14 जिंदा कारतूस बरामद किये गए हैं।
      उन्होंने आगे कहा कि बलजीत सिंह, जगदेव सिंह और मनजीत सिंह विभिन्न कट्टड़पंथी जत्थेबंदियों से जुड़े हुए हैं और पंजाब में कट्टड़पंथी गतिविधियों में सक्रिय हिस्सा ले रहे हैं। इसके अलावा यह तीनों सोशल मीडिया के ज़रिये एक-दूसरे के संपर्क में आए और पंजाब में हुई बेअदबी की घटनाओं के लिए जि़म्मेदार व्यक्तियों और हिंदु शिव सेना नेताओं को निशाना बनाने की योजना बना रहे थे।
उन्होंने बताया कि दोषियों ने यह हथियार इन्दौर, मध्य प्रदेश से खऱीदे थे। उन्होंने आगे कहा ‘‘बरामद किये गए हथियारों के असली मूल का पता लगाया जा रहा है और सप्लायर की पहचान की जा रही है।’’
उन्होंने आगे बताया कि गिरफ़्तार दोषी बलजीत सिंह मूलभूत तौर पर श्री हरगोबिन्दपुर साहिब नज़दीक बटाला से संबंधित है जिसने नागपुर, महाराष्ट्र में गुरूद्वारे में ग्रंथी के तौर पर 4 साल काम किया और हाल ही में अजनाला, अमृतसर में शिफ्ट हुआ था।
इसके साथ ही बलजीत सिंह विभिन्न कट्टड़पंथी जत्थेबंदियों से जुड़ा हुआ था और अजनाला में उसकी रिहायश की छानबीन के दौरान कट्टड़पंथी जत्थेबंदियों से सम्बन्धित साहित्य ज़ब्त किया गया है।
उन्होंने आगे कहा कि इस ग्रुप के नेटवर्क और संबंधों का पता लगाने के लिए आगामी जांच चल रही है। उन्होंने आगे कहा कि इसका भी पता लगाया जा रहा है कि क्या दोषियों को कट्टड़पंथी जत्थेबंदियों द्वारा फंड देकर काम करवाए जा रहे थे। इसके अलावा गिरफ़्तार मुलजिमों के भारतीय और विदेशी संपर्कों का भी पता लगाया जा रहा है।
इस संबंधी एस.एस.ओ.सी पुलिस स्टेशन अमृतसर में आम्र्स एक्ट की धारा 25 के अंतर्गत एफ.आई.आर दर्ज की जा चुकी है।   
--------


No comments:

Post a Comment