पंजाब कांग्रेस द्वारा राहुल के नेतृत्व में पूर्ण भरोसा प्रकट, ए.आई.सी.सी. का प्रधान बने रहने की विनती - BTTNews

Breaking

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Thursday, May 30, 2019

पंजाब कांग्रेस द्वारा राहुल के नेतृत्व में पूर्ण भरोसा प्रकट, ए.आई.सी.सी. का प्रधान बने रहने की विनती


पंजाब सी.एल.पी., संसद सदस्यों, पी.पी.सी.सी. और आशा कुमारी द्वारा प्रस्ताव पास
राज्य में जीत के लिए वर्करों को धन्यवाद का प्रस्ताव भी पास
जाखड़ का इस्तीफ़ा रद्द करने के लिए ए.आई.सी.सी. के प्रमुख से अपील

चंडीगढ़
पंजाब कांग्रेस ने राहुल गांधी के नेतृत्व में सर्व सम्मति के साथ पूर्ण विश्वास प्रकट किया है और उनको इस संकट के क्षण में कुल हिंद कांग्रेस कमेटी के प्रधान के तौर पर लगातार पार्टी का नेतृत्व करते रहने की अपील की है।


कांग्रेसी नेताओं के अनुसार हाल ही की लोकसभा चुनावों में पार्टी की बुरी कारगुज़ारी का कारण राहुल गांधी की कोशिशों में कमी नहीं है बल्कि यह बी.जे.पी. के राष्ट्रवाद के ब्रांड का नतीजा है जो कि देश के धर्मनिरपेक्ष मूल्यों के खि़लाफ़ है।
इस सम्बन्धी एक प्रस्ताव प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रधान सुनील जाखड़ और कुल हिंद कांग्रेस कमेटी के जनरल सचिव और पंजाब के इंचार्ज आशा कुमारी समेत पंजाब कांग्रेस विधायक पार्टी (सी.एल.पी.) और राज्य से लोकसभा के लिए नये चुने गए सदस्यों ने पास किया।
यह प्रस्ताव मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने पेश किया था जिन्होंने पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सभी नेताओं और वर्करों को बधाई दी और राज्य में उनकी पार्टी की जीत के लिए की गई कोशिशों की सराहना की। मुख्यमंत्री ने मंत्रियों समेत सभी विधायकों और संासदों को आज दोपहर पंजाब भवन में चाय पर न्योता दिया।
प्रस्ताव में कहा गया है कि सुनील जाखड़ के नेतृत्व वाली पी.पी.सी.सी. और ए.आई.सी.सी. की जनरल सचिव और पंजाब की इंचार्ज आशा कुमारी के साथ पंजाब प्रदेश विधायक पार्टी और नये चुने गए संसद मैंबर राहुल गांधी के नेतृत्व में पूर्ण विश्वास रखते हैं। उन्होंने इस संकट की घड़ी में राहुल गांधी को ए.आई.सी.सी. के प्रधान बने रहने की सर्व सम्मति से अपील की। संसद सदस्यों और पी.पी.सी.सी. के साथ सी.एल.पी. ने राहुल गांधी को अपना पूरा समर्थन दिया है और उनको इस अहम समय में इस्तीफ़ा न देने की अपील की है। प्रस्ताव में कहा गया है कि हाल ही के लोकसभा मतदान में पार्टी की बुरी कारगुज़ारी राहुल गांधी की कोशिशों की कमी या दिशा के कारण नहीं हुई बल्कि बी.जे.पी. के राष्ट्रवाद के ब्रांड के कारण हुई है जो देश की धर्म निरपेक्ष मूल्यों के विरुद्ध है। प्रस्ताव में कहा गया है कि इस चुनौतीपूर्ण समय में कांग्रेस को मज़बूत बनाने के लिए राहुल गांधी का पार्टी प्रधान के तौर पर बने रहना ज़रूरी है।
इस प्रस्ताव की ब्रह्म मोहिन्द्रा ने अपील की और उन्होंने राज्य में पार्टी की जीत के लिए मुख्यमंत्री का विशेष जिक़्र करने को इसमें शामिल करने का प्रस्ताव किया परन्तु कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने इस सुझाव को यह कहते हुए रद्द कर दिया और कहा कि यह जीत पंजाब कांग्रेस वर्करों को समर्पित होनी चाहिए। इसके बाद पंजाब में कांग्रेस की जीत के लिए पार्टी वर्करों का धन्यवाद करता हुआ एक अलग प्रस्ताव पास किया गया।
इस प्रस्ताव में कहा गया है कि सुनील जाखड़ के नेतृत्व वाली पी.पी.सी.सी. और ए.आई.सी.सी. की जनरल सचिव और पंजाब की इंचार्ज आशा कुमारी समेत पंजाब कांग्रेस विधायक पार्टी और राज्य से चुने गए नये संसद सदस्यों ने आई.एन.सी. (पंजाब) वर्करों का राज्य में पार्टी की बड़ी जीत हासिल करने के लिए अथक कोशिशों के लिए धन्यवाद किया। 
लाल सिंह के सुझाव पर एक और प्रस्ताव पास किया गया जिसमें जाखड़ का इस्तीफ़ा रद्द करने के लिए ए.आई.सी.सी. के प्रधान से अपील की गई क्योंकि पार्टी नेता महसूस करते हैं कि उन्होंने पंजाब में प्रभावी जीत के लिए पार्टी का नेतृत्व बढिय़ा तरीके से किया। 
सुनील जाखड़ के नेतृत्व वाली पी.पी.सी.सी. और ए.आई.सी.सी. की जनरल सचिव और पंजाब की इंचार्ज आशा कुमारी समेत पंजाब कांग्रेस विधायक पार्टी और राज्य से चुने गए नये संसद सदस्यों ने सर्व सम्मति के साथ ए.आई.सी.सी. के प्रधान से अपील की कि वह पी.पी.सी.सी. के प्रधान सुनील जाखड़ का इस्तीफ़ा रद्द कर दें। वह जाखड़ के नेतृत्व में भरोसा रखते हैं और यह महसूस करते हैं कि उनको पार्टी प्रधान के तौर पर पार्टी की लगातार सेवा करते रहना चाहिए।
बहुत से विधायकों ने कहा कि पंजाब के नतीजों से यह प्रगटावा होता है कि पार्टी 2022 के विधानसभा मतदान में जीत प्राप्त करेगी। उन्होंने शहरी इलाकों में विकास कार्यों को यकीनी बनाने के लिए मुख्यमंत्री से अपील की। उन्होंने कहा कि विधायकों को विकास अनुदान दिया जाना चाहिए। उन्होंने विधायकों के साथ नज़दीकी विचार विमर्श के द्वारा प्रशासकीय अधिकारियों द्वारा विकास कार्य किये जाने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया।
सुरिन्दर डावर ने कहा कि शहरों के विकास के लिए मंज़ूर किये फंड जारी नहीं किये गए हैं और यह सिफऱ् कागज़ों में ही हैं। अमृतसर से इन्दरबीर सिंह प्रवक्ता ने कहा कि एम.सी. ने शहर में उपयुक्त काम नहीं किया।
सुखजिन्दर सिंह रंधावा की राय थी कि लोगों के साथ किये गए वादों को जल्द से जल्द पूरा करने के लिए बरगाड़ी के बाद गोलीबारी की घटनाओं में सम्बन्धित लोगों को सरकार सजा यकीनी बनाए।
मनप्रीत सिंह बादल ने बठिंडा में शिरोमणि अकाली दल और हरसिमरत कौर बादल को सख्त टक्कर देने के लिए अमरिन्दर सिंह राजा वडि़ंग की सराहना की।
इसी दौरान उन्होंने पंजाब में बी.एस.पी. के वोट बढऩे पर चिंता का भी प्रगटावा किया। मनीश तिवाड़ी ने देश के धर्म निरपेक्ष मूल्यों की रक्षा के लिए भाजपा के एजंडे का मुकाबला करने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया।
-----------

No comments:

Post a Comment