जगमीत की मौत के बाद पूरा गांव सकते में 

 बड़ा भाई नशे की लत की वजह से ही जेल में

 लंबी


कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा सरकार बनाने से पहले गुटका साहिब हाथ में लेकर पंजाब को नशामुक्त करने की कसम खाने के बावजूद राज्य में नशे का छटा दरिया युवाओं को अपनी उफनती लहरों में जकडक़र मौत के मुंह में लेता जा रहा है। आए दिन नशे की ओवर डोज से हो रही मौतों के सिलसिले को देखते हुए पंजाब में जमीनी हकीकत को नशे पर आधारित फिल्म उड़ता पंजाब से भी भयावह नजर आने लगी है। 


सोमवार को लंबी के गांव कक्खावाली के महज 22 साल के युवक जगमीत सिंह पुत्र सुरजीत सिंह की नशे की ओवरडोज के कारण मौत हो गई। अविवाहित जगमीत सिंह का बड़ा भाई नशे की लत की वजह से ही जेल में है तथा उसके बीवी बच्चों के साथ घर में रह रहे बुजुर्ग माता पिता पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। परिवार के पास चार एकड़ जमीन थी जो सारी की सारी नशे की भेंट चढ़ चुकी है। जगमीत के चचेरे भाई गुरमीत सिंह के अनुसार जमगीत की मौत ओवरडोज के कारण हुई है। उसने बताया कि उनके गांव में नशा बेचने और खाने वालों की कोई कमी नहीं है, उन्होंने अपने स्तर पर भी नशा रोकने के प्रयास किए लेकिन प्रशासन के कोई सहयोग न देने कारण नशा फलफूल रहा है। जगमीत की मौत के बाद पूरा गांव सकते में आ गया है क्योंकि गांव में बहुत सारे युवक चिट्टे की लत के शिकार हैं। गांव के रविंदर सिंह ने गांव में नशे की बिक्री और सेवन पर चिंता जताते हुए इसके लिए पुलिस प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया तथा कहा कि महज बैठकों से नशा खत्म नहीं होने वाला। गांव के सरपंच ने भी कहा कि उनके गांव में नशा सरेआम बिकता है तथा करीब आधा गांव नशे की चपेट में है और इसी की भेंट आज युवा चढ़ गया है। 

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.