[post ads]

ऑनलाईन बुकिंग /रजिस्ट्रेशन 2 नवंबर से होगी शुरू

डेरा बाबा नानक, 31 अक्तूबर:
श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के पवित्र मौके को समर्पित ऐतिहासिक नगर डेरा बाबा नानक में 8 नवंबर से शुरू होने वाले चार दिवसीय डेरा बाबा नानक उत्सव समागमों में लगभग 30 हज़ार श्रद्धालु रोज़मर्रा एकत्रित हुआ करेंगे। इन श्रद्धालुओं में दूर-दराज़ के स्थानों से दर्शनों के लिए पहुंची संगतें भी शामिल होंगी जिनके ठहरने का प्रबंध 30 एकड़ जगह में फैली सुविधाओं से लैस टैंट सिटी में किये गए हैं जहाँ कुल 3500 श्रद्धालुओं के ठहरने का प्रबंध है।


इस ऐतिहासिक अवसर पर इस शहर में बनाई गई यह टैंट सिटी संगत के स्वागत के लिए तैयार है जहाँ 544 टैंट युरोपियन स्टाइल, 100 स्विस कौटेज और 20 दरबार स्टाइल की रिहायशें हैं। 
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने आज मुख्य समागम के लिए बनाए गए मुख्य पंडाल के साथ-साथ टैंट सिटी का भी निरीक्षण किया और प्रबंधों पर तसल्ली ज़ाहिर की। इस मुख्य पंडाल में 30 हज़ार की संख्या में संगत एकत्रित होने का सामथ्र्य है। 8 से 11 नवंबर, 2019 से चलने वाले चार दिवसीय डेरा बाबा नानक उत्सव के हरेक दिन इतनी संख्या में संगत के जुडऩे की संभावना है। 
टैंट सिटी का प्रोजैक्ट 4.2 करोड़ रुपए की लागत से विकसित किया गया है जिसमें युरोपियन तरीके की रिहायश भी बनाई गई है जहाँ 6-6 व्यक्ति ठहर सकते हैं। इस तरीके की रिहायश के साथ 140 अलग बाथरूम और 140 वॉशरूम भी बनाए गए हैं जिससे श्रद्धालुओं की प्राथमिक ज़रूरतें भी पूरी हो सकें। हरेक स्विस कौटेज में दो व्यक्ति ठहर सकते हैं जिसके साथ बाथरूम भी अटैच होगा। इसी तरह दरबार टैंट के साथ भी बाथरूम होगा जहाँ चार -चार व्यक्ति ठहर सकेंगे। 
इस टैंट सिटी में कुल 3544 व्यक्ति ठहर सकते हैं जिनमें से 26 युरोपियन स्टाइल, 10 स्विस कौटेज और 2 दरबार टैंट सिविल अफसरों और कर्मचारियों के लिए होंगे और युरोपियन तरीके वाली टैंट सिटी में हरेक के लिए पश्चिमी शोचालय/वॉशरूम की सुविधा मुहैया करवाई गई है। पुलिस अफसरों /मुलाजिमों के लिए और 56 युरोपियन स्टाइल टैंट, 8 स्विस कौटेज और दो दरबार टैंट रखे गए हैं और हरेक युरोपियन टैंट के लिए 17 शोचालय/वॉशरूम की सुविधा मुहैया करवाई गई है।
एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि 1000 लीटर प्रति घंटे की सामथ्र्य के साथ पानी संशोधन करने वाला एक आर.ओ. और पानी मुहैया करवाने के लिए 18 स्थान निर्धारित किए गए हैं जिससे संगतों को साफ़ पानी मुहैया करवाना यकीनी बनाया जा सके। इसी तरह बिजली की निर्विघ्न सप्लाई के लिए 125 किलोवॉट के सामथ्र्य वाले चार जनरेटर भी होंगे। 
इस टैंट सिटी में रजिस्ट्रेशन रूम, जोड़ा घर, गठरी घर, वी.आई.पी. लौंज और फायर स्टेशन समेत अन्य भी सुविधाएं उपलब्ध होंगी। बुकिंग या रजिशट्रेशन की सुविधा मुफ़्त होगी जिसको ऑनलाइन या ऑफलाइन किया जा सकता है। ऑनलाइन बुकिंग 2 नवंबर से शुरू होगी। 
इस अवसर पर सहकारिता और जेल मंत्री सुखजिन्दर सिंह रंधावा, तकनीकी शिक्षा मंत्री चरनजीत सिंह चन्नी, लोक निर्माण और शिक्षा मंत्री विजय इंदर सिंगला, विधायक फतेह जंग सिंह बाजवा, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव तेजवीर सिंह, डी.जी.पी. दिनकर गुप्ता, मुख्यमंत्री के राजनैतिक सचिव कैप्टन संदीप सिंह संधू, अतिरिक्त मुख्य सचिव सहकारिता कल्पना मित्तल बरूहा, मार्कफैड्ड के एम.डी. वरुण रूजम, मिल्कफैड्ड के एम.डी. कमलदीप सिंह संघा, शूगरफैड्ड के एम.डी. पुनीत गोयल, गुरदासपुर के डिप्टी कमिश्नर विपुल उज्जवल, बॉर्डर रेंज के आई.जी. एस.पी.एस. परमार और बटाला के एस.एस.पी. उपिन्दर सिंह घूम्मण भी उपस्थित थे। 
-------------



सभी हिदायतों वाली पुस्तिका जल्द वैबसाईट पर होगी अपलोड
सम्बन्धित पक्षों को मिलेगा लाभ ; मामलों के निपटारे में आएगी तेज़ी


चंडीगढ़, 30 अक्तूबर:

          पंजाब के वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने आज पंजाब भवन में नई पैंशन स्कीम की एक महत्वपूर्ण पुस्तिका (मैनुअल) रिलीज़ की। इस पुस्तिका में नई पैंशन स्कीम की साल 2018 तक जारी हुई सभी हिदायतों और रैगूलेशनज़ को छापा गया है। इस पुस्तिका के द्वारा नई पैंशन स्कीम के अंशदाता, ड्रॉइंग और डिसबर्सिंग अधिकारी और जि़ला खज़़ाना अधिकारियों के अलावा सभी विभागों को एक जगह पर सभी हिदायतें आसानी से मिल सकेंगी जिससे नई पैंशन स्कीम के मामलों के निपटारे में तेज़ी आएगी।


          इस सम्बन्धी जानकारी देते हुए एक प्रवक्ता ने बताया कि इससे पहले मैनुअल में साल 2018 तक की सभी हिदायतों /रैगूलेशनों को चैप्टर वाइज़ शामिल किया गया है जिसके दो पार्ट और 11 चैप्टर बनाए गए हैं। उन्होंने बताया कि इस पुस्तिका की पीडीएफ फाइल बना कर जल्द ही पंजाब सरकार की वैबसाईट पर अपलोड किया जाएगा जिससे ज़्यादा से ज़्यादा लोगों तक इसकी पहुँच हो। 

          गौरतलब है कि मौजूदा समय पंजाब में 1.60 लाख के करीब अधिकारी /कर्मचारी नई पैंशन स्कीम के अंतर्गत नौकरी कर रहे हैं। पंजाब सरकार द्वारा तारीख़ 1 जनवरी, 2004 और इसके बाद भर्ती हुए अधिकारियों/ कर्मचारियों के लिए नई पैंशन स्कीम लागू की हुई है। इस अवसर पर वित्त विभाग के प्रमुख सचिव अनिरुद्ध तिवारी के अलावा अन्य सीनियर अधिकारी भी उपस्थित थे।

कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने किसानों की आमदन बढ़ाने और पानी बचाने के लिए राज्य सरकार के प्रयासों को सहयोग देने के लिए कहा
चंडीगढ़, 29 अक्तूबर:
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने आज किसानों को गेहूँ-धान के फ़सलीय चक्कर में से निकाल कर फ़सलीय विभिन्नता की तरफ मोडऩे के लिए विश्व बैंक से तकनीकी और वित्तीय सहायता की माँग की है जिसका मनोरथ किसानों की आमदन बढ़ाने के साथ-साथ पानी के संरक्षण को यकीनी बनाना है।


विश्व बैंक के कृषि और पानी के वैश्विक डायरैक्टर डॉ. ज्युरेगन वोइगेले के नेतृत्व में आए प्रतिनिधिमंडल के साथ मीटिंग के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा चलाए गए प्रोग्रामों के कारण बहुत से किसानों ने रिवायती फसलों का त्याग करके वैकल्पिक फसलों को अपनाया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों को तकनीकी और वित्तीय सहायता की ज़रूरत है जिसके लिए विश्व बैंक उचित सहायता मुहैया करवा सकता है।
कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने राज्य के कृषि विभाग को निर्देश दिए कि फ़सलीय विभिन्नता और भूजल को बचाने वाले प्रोजैक्टों का नक्शा तैयार करके विश्व बैंक को सौंपा जाये जिससे बैंक से तकनीकी और वित्तीय सहायता हासिल की जा सके।
किसानों की आमदन बढ़ाने और पानी के गिर रहे स्तर को रोकने के लिए फ़सलीय विभिन्नता के अहम मुद्दों पर आधारित उच्च स्तरीय मीटिंग के दौरान मुख्यमंत्री ने विश्व बैंक को पंजाब में से फल और पशुधन के निर्यात को उत्साहित करने के लिए सहायता मुहैया करवाने की अपील की जैसे कि उजबेकिस्तान में किया गया है। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों को कहा कि भूजल को बचाने के लिए राज्य सरकार द्वारा किये जा रहे यत्नों को पूरा करने के लिए वह अपने तजुर्बे और अनुसंधानों को साझा करें।
मुख्यमंत्री ने खेती सब्सिडियों को उत्पादन से अलग करने का प्रस्ताव रखा और खेती विभिन्नता के लिए किसानों को प्रभावी मंडीकरण का ढांचा देने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया। उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में विश्व बैंक द्वारा राज्य सरकार के प्रोग्रामों के लिए सहायता की जा सकती है। उन्होंने मौजूदा खेती सहायता विधि के प्रसार की महत्ता पर भी ज़ोर दिया जिसके अंतर्गत भारत सरकार द्वारा मक्कई, नरमा और गन्ने जैसी वैकल्पिक फसलों की खऱीद समर्थन मूल्य पर किया जाना अहम है।
मुख्यमंत्री ने प्रतिनिधिमंडल को जानकारी दी कि किसानों के लिए उपयुक्त ढांचा मज़बूत करने के हिस्से के तौर पर राज्य सरकार द्वारा विधानसभा में जल्द ही संशोधित कृषि उत्पादन मंडी कमेटी एक्ट पेश किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मंडी संशोधनों के उद्देश्य से नियमों में संशोधन किये जाने को पहले ही अंतिम रूप दिया जा चुका है।
असरदार डाटा बेस होने की महत्ता का जि़क्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कृषि विभाग को खेती सैक्टर में विश्लेशनात्मक काम के मिलान के लिए स्थाई ढंग तैयार करने के लिए कहा। मीटिंग के दौरान पराली जलाने का मुद्दा भी उठा और मुख्यमंत्री ने कहा कि इस ख़तरनाक अमल के विरुद्ध शुरु की गई मुहिम को सफल बनाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा किसानों को मुआवज़ा देने की ज़रूरत है।
प्रतिनिधिमंडल के नुमायंदो ने राज्य सरकार के ‘पानी बचाओ, पैसा कमाओ’ जैसे प्रयासों की प्रशंसा की और खेती विभिन्नता और पानी के संरक्षण सम्बन्धी राज्य सरकार के यत्नों को विश्व बैंक से पूरी सहायता देने का भी भरोसा दिया। उन्होंने कहा कि फलों की पैदावार और सहायक सैक्टरों में अपना सामथ्र्य बढ़ाकर पंजाब के पास नई खेती क्रांति का अहम मौका है।
मीटिंग में अन्यों के अलावा मुख्यमंत्री के सीनियर सलाहकार लैफ्टिनैंट जनरल (रिटा.) टी.एस. शेरगिल्ल, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल, मुख्यमंत्री के मुख्य प्रमुख सचिव सुरेश कुमार, अतिरिक्त मुख्य सचिव कृषि विसवाजीत खन्ना, मुख्य सचिव करन अवतार सिंह, प्रमुख सचिव वित्त अनिरुद्ध तिवारी, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव तेजवीर सिंह, पी.ए.यू. के उप- कुलपति बलदेव सिंह ढिल्लों और पंजाब किसान आयोग के चेयरमैन अजयवीर जाखड़ शामिल थे।
प्रतिनिधिमंडल के अन्य सदस्यों में प्रोग्राम नेता और पंजाब के कोऑर्डीनेटर भावना भाटिया, सतत विकास प्रोग्राम के प्रमुख सुमिला गुलयानी और सीनियर खेती माहिर मनीवानन पाथी शामिल थे।  

चंडीगढ़, 29 अक्तूबर:
दीवारें उनकी बहादुरी की कहानी/गाथा ब्यान करती हैं। सुनहरी तख्ती उनकी शान की गवाही भरती है। यह छोटे म्युजिय़म की झलक पेश करता है। वास्तव में यह कमरा पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने 2-सिखज़, जिसके साथ उनका अटूट नाता है, की बहादुरी को समर्पित है, जिसमें उनके परिवार की तीन पीढिय़ों ने शानदार सेवाएं दी हैं। 


मोहाली के गाँव सिसवां में घने हरे-भरे वातावरण के बीच में बने मुख्यमंत्री के फार्म का यह कमरा सिख रेजीमेंट के साहस की कहानी बेहद ख़ूबसूरत ढंग से पेश करता है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह से पहले उनके पिता और दादा जी भी सिख रेजीमेंट का हिस्सा रह चुके हैं। 
रेजीमेंट के 10 वीर चक्कर और 2 परमवीर चक्कर विजेताओं के चित्र इस 2-सिख को समर्पित कमरे की दीवारों का श्रृंगार हैं। 
स्थानीय कलाकार कुलदीप द्वारा तैयार किये गए यह चित्र उन बहादुर शूरवीरों की सेना के इतिहास में छोड़ी विलक्षण पहचान की बाकमाल पेशकारी करती हैं। समूचा कमरा रेजीमेंट के गौरवमई इतिहास से लबालब है, जिसको कैप्टन अमरिन्दर सिंह जैसी शख्सियतें अपने ढंग से जीवित रख रही हैं। 
इस कमरे ने 2-सिखज़ के मोटो ‘निश्चय करि अपुनी जीत करों ’ की उस समय पर गवाही भरी जब मुख्यमंत्री ने अपनी समकालीन रेजीमेंट के अफसरों को उनकी पत्नियों समेत रात के खाने पर बुलाया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि अपनी रेजीमेंट के जवानों के साथ समय व्यतीत करना उनको बहुत पसंद है और इतिहास और यादों के साथ भरे इस कमरे में उनके साथ होना ख़ास है। उन्होंने कहा कि 2-सिखज़ रेजीमेंट के जवानों के साथ समय बिताने पर वह बहुत खुश हैं। इस अवसर पर कर्नल के.एस. चिब्ब, सी.ओ., 2-सिखज़, कर्नल सुखविन्दर सिंह, लैफ. जनरल ए.के. शर्मा और लैफ. जनरल आर.एस. सुजलाना उपस्थित थे। 
अफसरों के लिए यह पल जंग के मैदान से कोसों दूर, आज भी उनके दिलों के नज़दीक इतिहास को एक नये परिपेक्ष में देखने का समय था। 

समाज में से भ्रष्टाचार की बुराई के ख़ात्मे के लिए विजीलैंस वचनबद्ध-बी.के. उप्पल
‘ईमानदारी -जीवन का एक रास्ता’ विषय पर मनाया जायेगा विजीलैंस जागरूकता सप्ताह
चंडीगढ़/एस.ए.एस. नगर, 29 अक्तूबर:
समाज में से भ्रष्टाचार के ख़ात्मे के लिए पंजाब विजीलैंस ब्यूरो द्वारा आज पंजाब विजीलैंस भवन, एस.ए.एस नगर में विजीलैंस जागरूकता सप्ताह मनाया गया जहाँ ए.डी.जी.पी.-कम-चीफ़ डायरैक्टर विजीलैंस ब्यूरो बी.के. उप्पल ने सभी अधिकारियों को राज्य में से भ्रष्टाचार के ख़ात्मे की शपथ दिलाई।


अधिकारियों और कर्मचारियों के जलसे को संबोधन करते हुए विजीलैंस ब्यूरो के चीफ़ डायरैक्टर ने कहा कि लोगों को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करना हमारा नैतिक कत्र्तव्य है। उन्होंने कहा कि मौजूदा संदर्भ में हमारी जि़म्मेदारी में वृद्धि हुई है और हमें इस चुनौती को पारदर्शिता, जवाबदेही और भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन की नीति के प्रति लोक जागरूकता पैदा करने के एक अवसर के तौर पर इस्तेमाल करना चाहिए।
उन्होंने बताया कि नौजवानों को भ्रष्टाचार के बुरे प्रभावों संबंधी जागरूक करने के लिए ब्यूरो द्वारा इस हफ़्ते के दौरान राज्य भर में खासकर शैक्षिक संस्थाओं में जागरूकता मुहिम चलाई जायेगी। इसके साथ ही सरकारी दफ़्तरों में भ्रष्टाचार की रोकथाम के लिए राज्य विजीलैंस ब्यूरो द्वारा किये जा रहे यत्नों के प्रति लोगों को अवगत करवाया जायेगा। उन्होंने कहा कि इस हफ्ते के दौरान, विजीलैंस ब्यूरो भाषण और मुकाबलों के द्वारा विद्यार्थियों के साथ जुड़ेगा जिससे इस बुराई के विरुद्ध दृढ़ता से खड़े होने के लिए उनको मज़बूत बनाया जा सके।
विजीलैंस ब्यूरो के प्रमुख ने आगे कहा कि विजीलैंस जागरूकता सप्ताह ‘‘ईमानदारी-जीवन का एक रास्ता’’ विषय के साथ मनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस हफ्ते के दौरान हमारा ध्यान भ्रष्टाचार की रोकथाम और समाज में जागरूकता पैदा करने की तरफ होगा। उन्होंने बताया कि इसके अलावा, विजीलैंस ब्यूरो उन समूहों की पहचान करेगा जिनको आम तौर पर भ्रष्टाचार में शामिल होने के लिए जि़म्मेदार ठहराया गया था और उनके कामकाज के ढंग में बदलाव लाने के लिए उनका मार्गदर्शन करेगा।

चंडीगढ़, 23 अक्तूबर:
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने केंद्र सरकार द्वारा गेहूँ के न्युनतम समर्थन मूल्य में किये 85 रुपए प्रति क्विंटल की मामूली वृद्धि को अपर्याप्त बताते हुए रद्द कर दिया। उन्होंने कहा कि इस मामूली वृद्धि से खेती लागतों की कीमतों में हुई वृद्धि की भरपाई भी नहीं होगी। 

केंद्र सरकार के इस फ़ैसले को खानापूर्ती बताते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस वृद्धि से किसानों की बड़ी समस्याओं का हल होना तो एक तरफ़ रहा, इससे संकट में डूबी किसानी को अंतरिम राहत मिलने की भी कोई उम्मीद नजऱ नहीं आती। 
मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार द्वारा 100 रुपए प्रति क्विंटल बोनस का ऐलान न करने पर सख्त आलोचना करते हुए कहा कि उन्होंने फ़सल काटने के बाद पराली का निपटारा करने के लिए यह बोनस देने की माँग बार-बार उठाई थी जिसको केंद्र ने कोई स्वीकृति नहीं दी। उन्होंने कहा कि इससे पता लगता है कि मोदी सरकार किसानों का भला करने में बिल्कुल संजीदा नहीं जबकि देश भर के किसान बहुत बुरी स्थिति से गुजऱ रहे हैं और यहाँ तक कि कई किसानों ने खुदकुशी का रास्ता भी अपना लिया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि गेहूँ के भाव में की गई ताज़ा वृद्धि से राज्य सरकार की तरफ से की गई माँग की पूर्ति नहीं की गई।
कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि केंद्र द्वारा भाव में वृद्धि का किया गया ऐलान न तो संकट में डूबी किसानी की उम्मीदों पर खरा उतरा है और न ही स्वामीनाथन आयोग द्वारा पहचान की गई समस्या की जड़ को सुलझाने के लिए उपयुक्त बैठता है। उन्होंने एम.एस. स्वामीनाथन आयोग की सिफ़ारिशों को पूरी तरह अमल में लाने की माँग को दोहराया है। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि मोदी सरकार बाकी फसलों को न्युनतम समर्थन मूल्य पर खरीदने को यकीनी बनाने के लिए भी नाकाम सिद्ध हुई है। उन्होंने कहा कि यदि केंद्र सरकार इस तरफ़ ध्यान दे तो इससे जहाँ किसानों को गेहूँ और धान के फ़सलीय चक्कर जिससे पानी का स्तर गिर रहा है, में से बाहर निकाला जा सकेगा, वहीं किसानों की आय में भी फर्क पड़ेगा। 
मुख्यमंत्री ने भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के किसानों के प्रति संवेदनहीन रूख पर दुख ज़ाहिर करते हुए कहा कि पिछले पाँच सालों से अधिक समय के दौरान सत्ता में केंद्र सरकार ने किसानों की मुश्किलें दूर करने के लिए एक भी कारगर प्रयास नहीं किया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने कजऱ्े के बोझ के नीचे दबे किसानों का एक भी पैसा माफ नहीं किया जबकि इसके उलट पंजाब और अन्य राज्यों में कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकारों ने किसानी को राहत प्रदान की है। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार ने अब तक राज्य के 5.61 लाख छोटे और सीमांत किसानों के 4609.08 करोड़ रुपए के कर्जों का निपटारा किया है। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि चाहे राज्य सरकार किसानों की तत्काल समस्याओं को हल करने के लिए अपने स्तर पर कोशिशें कर रही है परन्तु किसानों की मुश्किलों के स्थाई हल के लिए केंद्र सरकार द्वारा किसान समर्थकीय राष्ट्रीय नीति बनाने की ज़रूरत है। 
----------

SAVES RS 1.55 LACS ON EIGHT ACRES OF LAND ANNUALLYUSES FARM MACHINERY ONLY ON SHARING BASIS

Mansa, Oct 23

            32 years old Sukhjit , a computer graduate from Panjab University Chandigarh owing 8 acres of land in village Beeroke Kalan, has not put paddy stubble on fire in his fields for the past four years. This time it would be his fifth year in row wherein he will opt for direct sowing of wheat into the paddy stubble and save upto Rs 1.55 lacs.


            Four years ago, after his brother's newborn son was diagnosed of suffering from congenital disorder, doctors at the PGI Chandigarh told the family that it may be due to increased use of farm chemicals. "We decided not to use any chemical for farming and starting with saying no to stubble burning was our first step," he says.
            Earlier, while Sukhjit spent Rs 1.80 lacs annually on the wheat and paddy cultivation, he input cost has drastically reduced and now he spends only Rs 25000 annually on both the crops. Besides saving monetarily, the fertility of his soil has improved to such an extent that even a child can easily dig his fields as compared to the hard soil surface one sees in the fields where stubble is put on fire. He is expecting around 24 quintal per acre Basmati 1509 of yield this year as compared to 16 to 19 quintals per acre for the same variety.
He also uses the bed plantation technique (without puddling) for sowing paddy on ridges.  Similarly, in wheat sowing he uses SRI technique wherein he uses 5 kilo seeds in one acre of land on the ridges. He doesn’t use any additional fertilizers for the crops and rather resorts to indigenous ways of farming to fight against any of the plant infections. He adds that the result of sowing on ridges both wheat and paddy crop are excellent as the crop germinates earlier, requires lesser water and almost no fertilizers and has higher yield. Ridges also allow him to use multi cropping system and increase his income.
Sukhjit does not owe any expensive agriculture implement such as Happy Seeder. Rather he uses it on sharing basis with the farmer cooperative societies thereby reducing his agriculture input and saves money.
Besides conventional wheat and paddy, by the start of May he cultivates corn (60 to75 days crop) and moong (55 days crop) together. He sells corn at Rs 23000 to Rs 24000 per acre for usage as silage, known as achaar amongst dairy farmers, (used for making feed for milk yielding animals) and Rs 35000 to Rs 40000 after drying it (used for grinding into corn flour and as feed for poultry).



कहा, 11 लाख रुपए की लागत से अनाथालय का किया जाएगा कायाकल्प


फिरोजपुर, 23 अक्टूबरः
कैंट क्षेत्र के महर्षि दयानंद अनाथालय में नए बने एयर कंडीशंड डाइनिंग हॉल का उद्घाटन बुधवार को विधायक परमिंदर सिंह पिंकी और डिप्टी कमिश्नर चंद्र गैंद ने संयुक्त रूप से किया। यह नया डाइनिंग हॉल करीब 6 लाख रुपए की लागत से तैयार किया गया है। विस्तृत जानकारी देते हुए विधायक परमिंदर सिंह पिंकी ने बताया कि अनाथालय के कायाकल्प के लिए हमारे पास 11 लाख रुपए की ग्रांट आई है, जिसमें से इस नए डाइनिंग हॉल का निर्माण किया गया है। उन्होंने कहा कि पूरे क्षेत्र में इस तरह का मॉड्रन डाइनिंग हॉल कहीं भी नहीं है। विधायक पिंकी ने कहा कि हम अपने बच्चों या अपने घर के लिए तो अकसर बहुत कुछ करते रहते हैं लेकिन इन अनाथ बच्चों के प्रति भी हमारा कोई फर्ज है।


 हमारी हौंसलावजाई से ये बच्चे जीवन में कुछ कर सकते हैं और हमारे शहर का नाम रोशन कर सकते हैं। उन्होंने बच्चों को अपनी पढ़ाई की तरफ पूरा फोकस करने के लिए कहा, साथ ही आश्वासन दिया कि उन्हें किसी भी तरह की कमी नहीं आने दी जाएगी। विधायक पिंकी ने कहा कि उनके लिए ये अनाथालय नहीं ब्लकि एक मंदिर है इसीलिए वह अकसर यहां आते रहते हैं। विधायक ने बताया कि फिरोजपुर जिले के लिए पीजीआई सेंटर खोलने का काम तेज रफ्तार से चल रहा है और इसी साल काम शुरू होने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि पीजीआई सेंटर खुलने से न सिर्फ लोगों को अव्वल दर्जे की सेहत सुविधाएं यहां मिलेंगी ब्लकि बड़ी तादाद में युवाओं को रोजगार भी मिलेगा।
डिप्टी कमिश्नर चंद्र गैंद ने कहा कि अनाथालय में नया डाइनिंग हॉल बनाया गया है। उन्होंने कहा कि फिरोजपुर में सभी काम प्राथमिकता पर करवाए जाएंगे और किसी भी तरह की कमी नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि विधायक परमिंदर सिंह पिंकी की तरफ से शहर के लिए लगातार फंड्स लाए जा रहे हैं, जिसके चलते कई तरह के प्रोजेक्ट शुरू किए गए हैं और आगे भी ये सिलसिला जारी रहेगा।
अनाथालय की मैनेजर सतनाम कौर, प्रिंसिपल मैडम रमन, वार्डर ज्योति पांडे ने विधायक परमिंदर सिंह पिंकी की तरफ से अनाथालय के बच्चों के लिए किए गए कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि विधायक पिंकी अनाथालय के बच्चों की हौंसलावजाई के लिए उन्हें विधानसभा सत्र दिखा चुके हैं। इसके अलवा मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंदर सिंह से मिलवा चुके हैं। इन बच्चों को दशहरा पर्व पर बतौर विशेष मेहमान वीआईपी गैलरी में साथ लेकर कार्यक्रम भी देख चुके हैं। ये सब इन बच्चों के लिए किसी सपने के पूरा होने जैसा है।
सीनियर सिटीजन फोरम के चेयरमैन एमएल तिवाड़ी और अध्यक्ष पीडी शर्मा ने कहा कि देशभर में किसी भी अनाथालय में इस तरह का डाइनिंग हॉल कहीं नहीं है। ये इन बच्चों के लिए की गई सबसे बड़ी सेवा है। इससे पहले भी विधायक पिंकी की तरफ से अनाथ बच्चों के लिए कई तरह के काम करवाए गए हैं, जोकि प्रशंसनीय हैं।
समाज सेवी चंद्र मोहन हांडा ने कहा कि राजनीतिक लोगों को पॉलिटिक्स से हटकर इस तरह के मानवता के कार्य करने चाहिए ताकि सरकारी सेवाओं का लाभ समाज में निचले स्तर पर पहुंच सके। उन्होंने कहा कि दूसरे नेताओं को भी जमीनी स्तर पर विधायक पिंकी की तरह इस तरह के कार्य करने चाहिए।
इस मौके पर एडवोकेट सतीश शर्मा, डॉ. केशी अरोड़ा, चंद्र मोहन हांडा, बलवीर बाठ, धर्मजीत हांडा, रिशी शर्मा, दलजीत दुलचीके, प्रिंस बाउ, एमएल तिवाड़ी, सुखविंदर अटारी, संजय गुप्ता, उस्मान वाला, बोहड़ सिंह, कश्मीर सिंह, राजिंदर छाबड़ा समेत कई गणमान्य मौजूद थे।


जिले के हरेक ब्लॉक से एक-एक प्रोग्रेसिव फॉर्मर को किया सम्मानित

कहा दूसरे किसानों को भी पराली नहीं जलाने के लिए करें प्रेरितपंजाब सरकार की तरफ से मिलने वाली सब्सिडी का फायदा उठाकर आधुनिक उपकरण खरीदने का आह्वान किया


फिरोजपुर, 23 अक्टूबरः

पर्यावरण को पराली की आग से दूषित होने से बचाने के लिए डिप्टी कमिश्नर फिरोजपुर की तरफ से बुधवार को स्मार्ट फार्मर स्कीम शुरू की गई है, जिसके तहत पराली को आग नहीं लगाने वाले किसानों को स्मार्ट फार्मर का सर्टीफिकेट देकर सम्मानित किया जाएगा। बुधवार को मुहिम की शुरूआत करते हुए फिरोजपुर जिले के हरेक ब्लॉक से एक-एक किसान को सम्मानित किया गया, जिन्होंने पराली को आग लगाना छोड़ दिया है। डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि ये मुहिम उन सभी किसानों के लिए है, जोकि पर्यावरण के मित्र हैं और पराली नहीं जलाकर वातावरण को बचाने में अहम योगदान दे रहे हैं।


जीरा ब्लॉक के किसान कुलदीप सिंह ने बताया कि उनके गांव में 38 एकड़ जमीन पर खेती करते हैं और पिछले 4 साल से पराली को आग लगाना बंद कर दिया है। खेतीबाड़ी विभाग की मदद से हैप्पी सीडर मशीन के साथ वह पराली को जमीन में ही जोत देते हैं। दूसरे किसानों को जागरूक करने के लिए मेरी खेती मेरा किसान नामक यू-ट्यूब चैनल भी चला रहे हैं, जिसमें 2.36 लाख किसान अटैच हैं। उन्होंने बताया कि पराली नहीं जलाने की वजह से उनका लाखों रुपए का फायदा हुआ है क्योंकि अब जमीन की उपजाऊ शक्ति बढ़ने की वजह से उन्हें फर्टिलाइजर, जिंक, पेस्टीसाइड व अन्य पोषक तत्व पहले से कम डालने पड़ते हैं। अब पूरे 38 एकड़ में वह 88 हजार रुपए खर्च करते हैं जबकि पहले 1.50 लाख रुपए सिर्फ पेस्टीसाइड पर ही खर्च हो जाते थे। अब पेस्टीसाइड की जरूरत भी पहले से कम पड़ती है।
इसी तरह फिरोजपुर सिटी के किसान हरबंस सिंह ने बताया कि उनकी 7 एकड़ जमीन है, जिस पर पिछले 6 साल से पराली को आग नहीं लगा रहे। पादरी गांव के किसान सरबजीत सिंह का कहना है कि 7 एकड़ जमीन पर खेती करते हैं, जिसमें 2016 से वह धान की कटाई के बाद पराली को आग नहीं लगा रहे। गुरु हर सहाय के किसान सोहन लाल ने बताया कि 25 एकड़ जमीन पर पिछले छह साल से पराली को आग नहीं लगा रहे। ममदोट ब्लॉक के किसान गुरसेवक सिंह ने बताया कि उनकी 27 एकड़ जमीन है, जिस पर पिछले तीन साल से पराली को आग नहीं लगा रहे। गांव हुकूमतसिंह वाला के किसान दविंदर सिंह सेखों ने कहा कि पिछले साल से उन्होंने पराली को आग लगाना बंद किया है। उनकी गांव में 40 एकड़ जमीन है और पराली को आग नहीं लगाने की वजह से उन्हें कई फायदे हुए हैं।
सभी किसानों ने डिप्टी कमिश्नर चंद्र गैंद की तरफ से किसानों को प्रोत्साहित करने के लिए शुरू की गई स्मार्ट फार्मर मुहिम की प्रशंसा करते हुए कहा कि इससे अच्छा काम करने वाले किसानों को नई उर्जा मिलेगी। डिप्टी कमिश्नर ने सभी किसानों से कहा कि वह अपने गांव में ज्यादा से ज्यादा किसानों को जागरूक करें और पंजाब सरकार की तरफ से सब्सिडी पर मिलने वाली मशीनरी के बारे में बताएं ताकि सभी किसान इसका फायदा उठा सकें। इस मौके पर मुख्य खेतीबाड़ी अधिकारी गुरमेल सिंह भी मौजूद थे।

कहा छह पुलिस कर्मियों के खि़लाफ़ पहले ही कार्यवाही आरंभ की गई और 7 नगर निगम कर्मचारियों को चार्जशीट किया

चंडीगढ़, 21 अक्तूबर
दशहरा 2018 रेल हादसे में राज्य सरकार द्वारा कार्यवाही न करने की मीडिया रिपोर्टों को रद्द करते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने सोमवार को कहा है कि छह पुलिस कर्मियों के खि़लाफ़ पहले ही विभागीय कार्यवाही आरंभ की हुई है जबकि नगर निगम अमृतसर के सात कर्मचारियों को इस मामले में चार्जशीट जारी की हुई है।


मैजिस्ट्रेट जांच रिपोर्ट के अनुसार इन पुलिस कर्मियों और नगर निगम के कर्मचारियों ने अपनी ड्यूटी निभाने में लापरवाही की और इनके खि़लाफ़ अपेक्षित कार्यवाही के आदेश दिए थे। 19 अक्तूबर 2018 को घटी इस दुर्घटना की मैजिस्ट्रेट जांच मुख्यमंत्री के आदेशों पर जालंधर डिवीजऩ के कमिश्नर बी.पुरूषार्थ ने की थी। इस दुर्भाग्यपूर्ण हादसे में 58 लोगों की मौत हो गई थी और 71 ज़ख्मी हो गए थे।
हाल ही में प्रकाशित ताज़ा रिपोर्टों का नोटिस लेते हुए मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया कि कानून के अनुसार दोषी पाए जाने वालों के खि़लाफ़ बनती कार्यवाही की जा रही है और जांच रिपोर्ट को अनदेखा करने का सवाल ही नहीं पैदा होता जैसे कि मीडिया के एक हिस्से ने राज्य सरकार पर दोष लगाए हैं।
कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि उनकी सरकार ऐसी घटनाओं को भविष्य में रोकने के लिए हर संभव कदम उठा रही है। उन्होंने कहा कि पुलिस और स्थानीय निकाय विभाग के अधिकारियों को सही उपायों का सुझाव देने के लिए विस्तार में दिशा निर्देश जारी किये हैं जिनमें ऐसे समागमों की आज्ञा देने के लिए सिंगल विंडो प्रणाली स्थापित करना भी शामिल है। उन्होंने कहा कि ऐसे समागमों के लिए अमृतसर, लुधियाना और जालंधर के पुलिस कमीश्नरों के अलावा दूसरे क्षेत्रों के एस.डी.एम्ज़ को सिंगल अथॉरिटी नियुक्त किया गया है।
ऐसे समागमों के लिए प्रबंधकों को सभी ज़रूरी जानकारी वाली चैक लिस्ट सूची सहित समागम से कम-से-कम 15 दिन पहले आवेदन पत्र देना होगा। प्रबंधकों को सुरक्षा, फायर टैंडरों, सफ़ाई आदि के लिए भुगतान देना होगा। इसके अलावा ऐसे समागमों की वीडियोग्राफी करना अनिवार्य है। राज्य सरकार ने यह भी शर्त रखी थी कि यदि सरकारी ज़मीन पर समागम करवाना है तो सम्बन्धित विभाग की आज्ञा भी ज़रूरी है।
जि़क्रयोग्य है कि मुख्यमंत्री ने हादसे के तुरंत बाद हर मृतक के वारिस को 5 लाख रुपए और ज़ख्मी को 50 हज़ार रुपए मुआवज़ा देने के हुक्म दिए थे। सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि मृतकों के वारिसों को मुआवज़े के लिए डिप्टी कमिश्नर अमृतसर को 2.9 करोड़ रुपए जारी कर दिए थे जिसमें से 2.6 करोड़ रुपए बाँटे जा चुके हैं। एक मामला जिसमें एक ही परिवार के सभी चार सदस्य मारे गए थे, उनके परिवार के किसी कानूनी वारिस की पुष्टि नहीं हो सकी। इसके अलावा एक मृतक के कानूनी वारिस की पहचान विवादपूर्ण हो गई थी और एक अन्य पीडि़त की अभी तक पहचान नहीं हो सकी।
प्रवक्ता ने बताया कि 71 ज़खि़्मयों में से 3 ज़खि़्मयों को मुआवज़ा देने का मामला अभी प्रक्रिया अधीन है क्योंकि उनका रिहायशी पता उपलब्ध नहीं हो सका। उनके वैकल्पिक स्थानों को ढूँढने की कोशिशें की जा रही हैं।
मुख्यमंत्री ने चेतावनी देते हुए कहा कि ऐसे समागमों के प्रबंधन और निगरानी में किसी किस्म की अनियमितताओं को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। इसके साथ ही उन्होंने त्योहारों के मौसम के मद्देनजऱ लोगों से अपील की कि वह संयम से काम लें और सारी सावधानियों का पालन करना यकीनी बनाएं। प्रशासन की तरफ से ऐसे समागमों की सुरक्षा के मामले में ज़रुरी यत्न किये जा रहे हैं।

मानसा , 21 अक्तूबर:
विजीलैंस ब्यूरो पंजाब द्वारा आज झूनीर जि़ला मानसा में तैनात सहायक फूड सप्लाई अफ़सर (ए.एफ.एस.ओ) को 5,000 रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों काबू किया गया।


इस सम्बन्धी जानकारी देते हुए विजीलैंस ब्यूरो के प्रवक्ता ने बताया कि उक्त ए.एफ.एस.ओ सुखदेव सिंह को शिकायतकर्ता हरदीप सिंह निवासी गाँव बीरेवाला जि़ला मानसा की शिकायत पर विजीलैंस ब्यूरो बठिंडा रेंज द्वारा रंगे हाथों काबू किया गया है। शिकायतकर्ता ने विजीलैंस ब्यूरो को अपनी शिकायत में बताया कि उक्त ए.एफ.एस.ओ द्वारा उसके सस्ते राशन के सरकारी डीपू का लाइसेंस रद्द न करने और जांच में उसकी मदद करने के बदले 5000 रुपए की माँग की गई है।
विजीलैंस द्वारा जांच के उपरांत उक्त ए.एफ.एस.ओ को दो सरकारी गवाहों की हाजऱी में 5,000 रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों काबू कर लिया गया और भ्रष्टाचार रोकथाम कानून की विभिन्न धाराओं के अंतर्गत विजीलैंस ब्यूरो के थाना बठिंडा में मुकद्मा दर्ज करके अगली कार्यवाही आरंभ कर दी गई है।

 चंडीगढ़, 20 सितम्बर:
पंजाब विजीलैंस ब्यूरो ने भ्रष्टाचार विरुद्ध शुरु की गई मुहिम के अंतर्गत सितम्बर महीने के दौरान कुल 8 छापे मारकर 8 सरकारी मुलाजिमों को अलग-अलग मामलों में रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों काबू किया जिनमें पुलिस विभाग के 4 और दूसरे विभागों के 4 कर्मचारी शामिल हैं।

इस सम्बन्धी चीफ़ डायरैक्टर-कम-ए.डी.जी.पी विजीलैंस ब्यूरो पंजाब बी.के. उप्पल ने कहा कि इस दौरान ब्यूरो ने सार्वजनिक सेवाओं और दूसरे क्षेत्रों में भ्रष्टाचार को रोकने के लिए अपनी पूरी कोशिश की। इस दिशा में विजीलैंस के जांच अधिकारियों ने राज्य की विभिन्न अदालतों में चल रहे मुकद्मों के दौरान दोषियों को न्यायिक सज़ाएं दिलाने के लिए पुख्ता पैरवी की।
उन्होंने बताया कि पिछले महीने के दौरान ब्यूरो की तरफ से भ्रष्टाचार सम्बन्धी 9 मामलों के चालान विभिन्न विशेष अदालतों में पेश किये गए। इसी महीने सरकारी कर्मचारियों के खि़लाफ़ भ्रष्टाचार के मामलों में और गहराई के साथ जांच करने के लिए विजीलैंस की तरफ से 6 मुकद्मे भी दर्ज किये गए। इसके अलावा आय से अधिक संपत्ति बनाने के दोष में एक केस दर्ज किया गया है।
अधिक जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि विजीलैंस की तरफ से दर्ज किये केस की सुनवाई के दौरान पिछले महीने विशेष अदालत रूपनगर की तरफ से एक केस में सिविल सर्जन रूपनगर में तैनात स्टोर कीपर प्रेम सरन बंसल को 3 साल की कैद और दस हज़ार रुपए के जुर्माने की सज़ा सुनाई गई है।


श्री गुरू नानक देव जी के जीवन फलसफे संबंधी राज्य भर में चलने वाले शो की स्पीकर पंजाब विधान सभा के.पी. राणा ने की शुरूआत

चंडीगढ/रूपनगर, 17 अक्तूबर:
श्री गुरु नानक देव जी के 550 साला प्रकाश पर्व सम्बन्धी जश्नों का यहाँ दरिया सतलुज के किनारे आधार बाँधते हुये स्पीकर पंजाब विधान सभा राणा कंवरपाल सिंह ने विशेष तौर पर डिज़ाइन किये फ्लोटिंग लाईट एंड साउंड शो का आज देर शाम उद्घाटन किया। इस अवसर पर पंजाब के पर्यटन और सांस्कृतिक मामले के मंत्री श्री चरनजीत सिंह चन्नी भी विशेष तौर पर मौजूद थे।



इस दौरान स्पीकर पंजाब विधान सभा राणा के.पी. सिंह ने बताया कि शो के दौरान श्री गुरु नानक देव जी के जीवन और उदासियों को चित्रित किया गया है। राज्य के विभिन्न स्थानों पर चार महीनों तक चलने वाले इस फ्लोटिंग लाईट एंड साउंड शो के दौरान गुरू साहिब के धार्मिक सहनशीलता और भाईचारक साझ कायम करने की शिक्षाओं संबंधी लोगों को अवगत करवाया जायेगा।
गुरू साहिब की शिक्षाओं संबंधी इस प्रोग्राम की श्लाघा करते हुये स्पीकर राणा के.पी. सिंह ने कहा कि मौजूदा धु्रवीकरण के माहौल में गुरू साहिब का सर्व सांझेदारी का संदेश फैलाने का यह उपयुक्त यत्न है। बहुत ही बारीकी से डिज़ाइन किया यह प्रोग्राम गुरू साहिब के जल, वायु और धरती को बचाने के सिद्धांत को भी चित्रित करता है।
स्पीकर के.पी. राणा ने कहा कि गुरू साहिब द्वारा समाज की एकजुटता का दर्शाया सिद्धांत सामाजिक बुराईओं के खि़लाफ़ हमेशा मानवता का मार्गदर्शन बना रहेगा। उन्होंने सभी विभिन्न राजनैतिक पार्टियों के नेताओं से अपील की कि इन धार्मिक समागमों को मिल कर मनाऐं।
इस मौके पर बोलते हुये पर्यटन और तकनीकी शिक्षा मंत्री चरनजीत सिंह चन्नी ने कहा पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह राज्य भर में 550 साला प्रकाश पर्व समागमों की निजी तौर पर नजऱसानी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह हमारे लिए बहुत ही मान वाली बात है कि हमें अपने जीवन के दौरान गुरू साहिब का 550 साला प्रकाश पर्व मनाने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है।
उन्होंने बताया कि रूपनगर के अलावा राज्य के 10 जिलों होशियारपुर, लुधियाना, जालंधर, गुरदासपुर, मोगा, कपूरथला, श्री अमृतसर साहिब, तरन तारन और फिऱोज़पुर में से गुजऱते ब्यास और सतलुज दरियाओं में भी फ्लोईंग लाईट एंड साउंड शो करवाए जाएंगे। आज रूपनगर से इस की शुरुआत की गई है और 18 अक्तूबर को भी 02 शो शाम 07.00 बजे और इसके बाद दूसरा शो 08.15 बजे होंगे।
उन्होंने बताया कि सुल्तानपुर लोधी में 1 नवंबर से 12 नवंबर तक श्री गुरू नानक देव जी के 550 साला प्रकाश पर्व को समर्पित मुख्य समागम करवाए जाएंगे और 4 नवंबर से समागम के आखिऱी दिन 12 नवंबर तक लगातार 9 दिन विशाल लाईट एंड साउंड शो गुरू साहिब के जीवन वृतांत पर रौशनी डालेगा। इसी तरह 19 और 20 अक्तूबर को जि़ला होशियापुर के गाँव टेरकियाना नज़दीक ब्यास दरिया में, 23 और 24 अक्तूबर को जि़ला लुधियाना के गाँव तलवंडी के नज़दीक सतलुज दरिया में, 30 और 31 अक्तूबर को जि़ला जालंधर के गाँव डगारा के नज़दीक सतलुज दरिया में, 1 और 2 नवंबर जि़ला गुरदासपुर के गाँव किशनपुर के नज़दीक ब्यास दरिया में, 3 और 4 नवंबर को जि़ला मोगा के गाँव चक्क बाहमणिया के नज़दीक सतलुज दरिया में, 5 और 6 नवंबर को जि़ला गुरदासपुर के कस्बा श्री हरगोबिन्दपुर के नज़दीक ब्यास दरिया में, 7 और 8 नवंबर को जि़ला जालंधर के गाँव इसमाईलपुर के नज़दीक सतलुज दरिया में, 10 और 11 नवंबर को जि़ला कपूरथला के गाँव मुंड कुल्ला के नज़दीक ब्यास दरिया में, 14, 15 और 16 नवंबर को जि़ला अमृतसर के गाँव बुढ्ढा थेह के नज़दीक ब्यास दरिया में, 18 और 19 नवंबर को चंडीगढ़ की सुखना झील में, 22 और 23 नवंबर को जि़ला तरन तारन के गाँव गगड़ेवाल और 26 और 27 नवंबर को गाँव धून्दा के नज़दीक ब्यास दरिया में और 29 और 30 नवंबर को जि़ला फिऱोज़पुर में सतलुज दरिया की हुसैनीवाला झील में फ्लोटिंग लाईट एंड साउंड शो करवाए जाएंगे।
इस मौके पर जि़ला विधायक श्री अमरजीत सिंह सन्दोआ,श्री गुरकिरत कृपाल सिंह विशेष प्रमुख सचिव /मुख्यमंत्री और सचिव सूचना एवं लोक संपर्क विभाग, डिप्टी कमिशनर रूपनगर डा. सुमित कुमार जारंगल, सीनियर पुलिस कप्तान श्री स्वप्न शर्मा डिप्टी कमिशनर(डी) श्री अमरदीप सिंह गुजराल, श्रीमती हरजोत कौर एस.डी.एम.,श्री सुखविन्दर सिंह विसकी चेयरमैन नगर सुधार ट्रस्ट, डा. आर.एस.परमार, अमरजीत सिंह सैनी, अशोक बाही पूर्व प्रधान नगर कौंसिल, ज़ैलदार सतविन्दर सिंह चैडिय़ां, श्री रमेश गोयल, श्री पोमी सोनी, श्री जगदीश काझला, श्री राम सिंह सैनी, श्री राजेशवर लाली, श्री करनैल सिंह जोली, श्री बोबी चौहान, श्री राजेश सहगल, श्री संजे वर्मा, श्री मिंटू सराफ, श्री आर.एन.मोदगिल, सतीन्द्र नागी समेत कई मशहूर शख्सियतों और इलाके से बड़ी संख्या में संगत पहुंची हुई थी।


मृतक देह जद्दी गाँव पहुंची, डिप्टी कमिश्नर राज्य सरकार द्वारा संस्कार के मौके पर होंगे हाजिऱ

चंडीगढ़, 17 अक्तूबर:
जम्मू कश्मीर के शौपियां जिले में बीती रात आतंकवादी हमले में मारे गए फाजि़ल्का के सेब व्यापारी के परिवार के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने गुरूवार को 2 लाख रुपए एक्स ग्रेशिया देने का ऐलान किया।



मुख्यमंत्री ने डिप्टी कमिश्नर को भी निर्देश दिए हैं कि वह शुक्रवार की सुबह मृतक चरनजीत सिंह के जद्दी गाँव में संस्कार के मौके पर राज्य सरकार की तरफ से उपस्थित रहेंगे। सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि चरनजीत सिंह की मृतक देह आज हवाई रास्ते के द्वारा अमृतसर पहुँची थी जहाँ से वह आज उनके जद्दी गाँव लाई गई।
मुख्यमंत्री ने गुरूवार को अपने अधिकारियों को कहा था कि वह जम्मू कश्मीर स्थित अथॉरिटी के साथ तालमेल स्थापित करके सेब व्यापारी की मृतक देह को पंजाब लाने के लिए कोशिशें करें।
मुख्यमंत्री ने ज़ख्मी हुए अबोहर निवासी संजीव के लिए भी एक लाख रुपए देने का ऐलान किया है जो कि इस समय पर श्रीनगर में उपचाराधीन है। उन्होंने जम्मू कश्मीर अथॉरिटी को विनती की है कि वह संजीव का बेहतर इलाज करवाना यकीनी बनाएं जो शौपियां हमले में ज़ख्मी हो गया था।
कश्मीर में बेकसूर लोगों पर निरंतर होने वाले आतंकवादी हमलों और पाकिस्तान की सहायता प्राप्त आतंकवादियों द्वारा मारे जाते भारतीय सैनिकों पर गुस्सा और दुख ज़ाहिर करते हुए मुख्यमंत्री ने भारत द्वारा इसका ज़बरदस्त जवाब देने की माँग की है। उन्होंने कहा,‘हम इस तरह आतंकवादियों द्वारा हमारे लोगों को मारना जारी रखना बर्दाश्त नहीं कर सकते।’

जांच के दौरान धान की खरीद में कई कमियां सामने आईं
चंडीगढ़, 15 अक्तूबर:
धान की खरीद प्रक्रिया में अनियमिताएं पायेे जाने के बाद मार्केट कमेटी, बटाला के सचिव की सेवाएं मुअत्तल कर दी गई हैं। यह कार्यवाही मार्केट कमेटी बटाला में रिकार्ड की चैकिंग के आधार पर की गई है, जहाँ विशेष टीम द्वारा जांच के दौरान धान की खरीद में अनियमिताएं पायी गई।

मंडी बोर्ड के एक प्रवक्ता ने आज बताया कि धान की निर्विघ्न और पारदर्शी खरीद को यकीनी बनाने के लिए बोर्ड द्वारा मंडियों की जांच के लिए विशेष टीमें गठित की गई हैं। उन्होंने कहा कि धान की खरीद में किसी भी तरह की ढील बर्दाश्त नहीं की जायेगी।
इस सम्बन्धी विवरण देते हुये प्रवक्ता ने कहा कि मंडी बोर्ड द्वारा गठित विशेष जांच टीमों द्वारा मार्केट कमेटी बटाला और जंडियाला गुरू, अमृतसर में गेहड़ी के रिकार्ड की गहराई से जांच की गई। जांच के दौरान सामने आया कि आढ़तियों द्वारा मार्केट कमेटी के स्टाफ के साथ मिल कर किसानों से कम कीमत पर धान की खरीद कर खरीद एजेंसियों को न्यूनतम समर्थन मूल्य (एम.एस.पी.) पर बेचा गया। इस सम्बन्धी समूचा रिकार्ड ज़ब्त कर लिया गया है और कम कीमत पर खरीदा गये धान की फ़सल को विभिन्न शैलरों को भेज दिया गया है।
प्रवक्ता ने आगे बताया कि जांच के बाद दोषी पाये जाने वाले अधिकारियों के खि़लाफ़ सख्त कार्यवाही अमल में लाई जायेगी। उन्होंने स्पष्ट करते हुये कहा कि खरीद प्रक्रिया के दौरान ड्यूटी में कोताही बरतने वाले किसी भी अधिकारी को बख्शा नहीं जायेगा। 

चंडीगढ़, 14 अक्तूबर:
पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट के चीफ़ जस्टिस, जस्टिस श्री रवि शंकर झा द्वारा जस्टिस श्री पुल्लगोरू वेंकट संजय कुमार को पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट के नये जज के तौर पर शपथ दिलाई गई। 


शपथ ग्रहण समागम हाई कोर्ट के ऑडीटोरियम में करवाया गया।  शपथ ग्रहण समागम में अन्यों के अलावा पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट के सभी जज, रजिस्ट्रार, रजिस्टरी के अधिकारी, सीनियर वकील और हाई कोर्ट बार एसोसिएशन के अधिकारी मौजूद थे।

नई दिल्ली में वन नेशन-वन टैग -फास्टैग कॉन्फ्ऱेंस में की शिरकत
चंडीगढ़/नई दिल्ली, 14 अक्तूबर:
पंजाब के लोक निर्माण मंत्री श्री विजय इंद्र सिंगला ने कहा है कि पंजाब राष्ट्रीय इलेक्ट्रानिक टोल एकत्रित (एन.ई.टी.सी) प्रोग्राम को राज्य के राज्य मार्गों पर लगे टोल प्लाजों पर लागू करने के लिए पूरी तरह तैयार है और इस व्यवस्था को केंद्रीय सडक़ परिवहन मंत्रालय द्वारा निर्धारित किये गए दिशा-निर्देशों के अनुसार अमल में लाया जायेगा। उन्होंने बताया कि रेडियो फ्रीक्वेंसी आईडैंटीफिकेशन (आर.एफ.आई.डी) तकनीक के ज़रिये लागू होने वाले इस व्यवस्था का मकसद यातायात को और सुचारू बनाना है। 


श्री सिंगला, जिनके द्वारा आज नई दिल्ली के डा. अम्बेदकर अंतरराष्ट्रीय केंद्र में केंद्रीय सडक़ परिवहन और राजमार्ग संबंधी केंद्रीय मंत्री श्री नितिन गडकरी की अध्यक्षता अधीन वन -नेशन वन टैग -फास्टैग विषय पर हुई कॉन्फ्ऱेंस में शिरकत की गई, ने कहा कि इस प्रोजैक्ट का मुख्य मंतव्य इलेक्ट्रानिक विधि के ज़रिये टोल फीस एकत्रित करना है जोकि आर.एफ.आई.डी तकनीक के साथ संभव होगा जिसके परिणामस्वरूप वाहन टोल प्लाजों के द्वारा बिना देरी के सुचारू ढंग से गुजऱ सकेंगे।
श्री सिंगला ने कहा कि इस तकनीकी अमल से लोगों को अब बिना देरी और समय गवाए टोल प्लाजों के द्वारा अपने वाहन निकालने में सुविधा मिलेगी। उन्होंने कहा कि इस सम्बन्धी विभाग के सम्बन्धित अधिकारी पहले ही ज़रुरी तकनीकी यंत्रों को लगाने सम्बन्धी तेज़ी से काम कर रहे हैं जिससे इस नयी व्यवस्था को अमल में लाया जा सके। 
जि़क्रयोग्य है कि राष्ट्रीय इलेक्ट्रानिक टोल कुलैकशन (एन.ई.टी.सी) केंद्र सरकार द्वारा पूरे देश के अंदर लागू किया जा रहा है। आज कॉन्फ्ऱेंस के दौरान श्री गडकरी ने बताया कि राष्ट्रीय मार्गों पर लगे टोल प्लाजों पर फास्टैग के ज़रिये टोल फीस की कटौती के लिए 1 दिसंबर, 2019 निश्चित की गई है। 
श्री सिंगला ने बताया कि इस व्यवस्था को लागू करने के लिए केंद्रीय सडक़ परिवहन मंत्रालय द्वारा निर्देश 7 जनवरी, 2019 को ऐलाने गए थे और राज्यों को राज्य मार्गों पर लगे टोल प्लाजों पर इस व्यवस्था को लागू करने के लिए कहा गया था। श्री सिंगला ने कहा कि यातायात को और बेहतर और सुखद बनाने वाली इस व्यवस्था को लागू करने के लिए पंजाब पूरा सहयोग देगा। इस कॉन्फ्ऱेंस को सडक़ परिहवहन और राजमार्ग संबंधी केंद्रीय राज्य मंत्री जनरल वी.के.सिंह द्वारा भी संबोधन किया गया। 


होशंगाबाद :  
होशंगाबाद -इटारसी के बीच सोमवार सुबह हुए भयानक सड़क हादसे में हाकी के 4 नेशनल खिलाडिय़ों की मौत हो गई। हादसा एन एच -69 पर हुआ तथा खिलाडिय़ों की कार के साथ एक बलैरो की पवारखेड़ा के पास जोरदार टक्कर हो गई। 


टक्कर इतनी भयंकर थी कि हाकी खिलाडिय़ों की कार के परखच्चे उड़ गए और कार के अंदर बैठे तीन खिलाडिय़ों ने मौके पर दम तौड़ दिया। आस पास के लोगों को जब हादसे की सूचना मिली तो लोग एकत्रित हो गए तथा जख्मियों को पास के अस्पताल पहुंचाया, जहां एक ओर जख्मी खिलाड़ी ने भी दम तोड़ दिया। इस घटना में जख्मी हुए चार अन्य खिलाडिय़ों की हालात भी गंभीर ही बताई जा रही है। यह सभी इटारसी से होशंगाबाद जा रहे हैं। हादके के बाद प्रशासन घर वालों के साथ संपर्क करने की कोशिश कर रहा है। मृतकों की पहचान शाहनवाज ख़ान (इन्दौर), आदर्श हरदुआ (इटारसी), आशीष लाल (जबलपुर) और अनिकेत के रूप में हुई है। यह सभी मध्य प्रदेश की हाकी अकैडमी के खिलाड़ी थे और होशंगाबाद में चल रहे अखिल भारतीय हाकी टूर्नामैंट में भाग लेने के लिए आए थे।


तीनों मकानों में रहते थे कुल २३ लोग 

मुहम्मदाबाद (उत्तर प्रदेश) 

उत्तर प्रदेश के जिला मऊ के मुहम्मदाबाद गोहाना कोतवाली क्षेत्र की वलीदपुर नगर पंचायत में सोमवार की सुबह करीब सात बजे एक घर में अचानक आग पकडऩे के बाद सिलेंडर के फट जाने की घटना में ना सिर्फ उक्त घर बल्कि आस पास के दो अन्य घर भी पूरी तरह से तहस नहस हो गए। मकानों के मलबे के नीचे दब जाने से 10 लोगों के मारे जाने की सूचना है, जबकि करीब एक दर्जन से अधिक लोग जख्मी बताए जा रहे हैं, जिन को उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाया गया है। 


सोमवार सुबह हुई उक्त भयावह हादसे की सूचना मिलने के बाद सिविल प्रशासन के उच्च अधिकारी, पुलिस कर्मचारी और डेढ़ दर्जन ऐंबूलैंस मौके पर पहुंच गई। हादसे वाले घर की तंग गली केकारण मलबा हटाने में भारी मुश्किल आती रही। बताया जा रहा है कि वलीदपुर शहर में संगत जी के पास छोटू विश्वकरमा के घर सुबह सिलेंडर में अचानक आग लग गई। आस पास के लोग भी सिलंडर में लगी आग पर काबू पाने में सहयोग  के लिए पहुंचे। इसी दौरान जबरदस्त धमाके के साथ सिलेंडर फट गया तथा उपरोक्त घर के अलावा उसके साथ लगते दो ओर मकान भी मलबे के ढेर में तब्दील हो गए। तीनों घरों में कुल 23 लोग रहते थे।

श्री मुक्तसर साहिब
गांव कोटली संघर में शनिवार को दिन के समय मोटरसाइकिल सवार अज्ञात नौजवानों ने एक 70 साल की वृद्ध औरत के कानों की सोने की बालियां झपट ली। बाद में गांव के ही एक करियाना दुकानदार से छुट्टे करवाने के नाम पर दो हजार रुपये ऐंठ लिए।

बुजुर्ग बलजीत कौर पत्नी स्व. हाकम सिंह ने बताया कि वह घर में अकेली दरवाजे के पास चारपाई पर बैठी थी। दोपहर करीब दो बजे मोटरसाइकिल सवार दो नौजवानों ने उससे गुरमेल सिंह के घर का पता पूछा। जैसे ही वह पता बताने लगी तो वह उसके कानों की बालियां झपटकर फरार हो गए। जब तक लोग एकत्रित होते मोटरसाइकिल सवार वहां से फरार हो गए। इस दौरान ही नौजवानों गांव में ही स्थित करियाने की दुकान के मालिक पप्पूराम के पास जाकर कुछ सामान लिया और दो हजार छुट्टे देने को कहा। वह युवक दो हजार रुपये के छुट्टे लेकर उसे यह कहते हुए निकल गए कि वह सामान रुककर ले जाएंगे क्योंकि वह वाटर व‌र्क्स में काम कर रहे हैं। जिसके बाद वह वापस नहीं लौटे।


पावर फाइनांस कार्पोरेशन लिमिटेड से 1.80 करोड़ रुपए की लागत से करवाया जाएगा आरओ सिस्टम लगाने का काम, पंचायतों ने की सराहना


फिरोजपुर, 12 अक्टूबरः

फिरोजपुर शहरी हलके के 140 प्राइमरी, मिडल और हायर सैकेंडरी सरकारी स्कूलों में आरओ सिस्टम लगाने का प्रोजेक्ट पास हो गया है, जिसके तहत इन सभी स्कूल के बच्चों को अब साफ-सुथरा पीने का पानी उपलब्ध हो सकेगा। एक महीने में प्रोजेक्ट कंपलीट होगा, जिसके तहत हरेक स्कूल में आरओ सिस्टम लगाए जाएंगे। 


विधायक परमिंदर सिंह पिंकी ने शनिवार को विभिन्न गांव की पंचायतों से बैठक में ये जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पावर फाइनांस कार्पोरेशन लिमिटेड की तरफ से ये प्रोजेक्ट पास करवाया गया है, जिस पर 1.80 करोड़ रुपए का खर्च आएगा। इसका सबसे ज्यादा फायदा बॉर्डर एरिया से सटे गांव वाले स्कूलों में होगा, जहां पाकिस्तान से टैनरीज का गंदा पानी छोड़े जाने की वजह से पीने की पानी की स्थिति काफी खराब हो गई है। इन गांव के स्कूलों में खराब पानी की वजह से बच्चे भी बीमार रहते थे और पेट की बीमारियों से ग्रस्त थे। उन्होंने कहा कि आरओ सिस्टम लगने से बच्चों को बिल्कुल स्वच्छ पेयजल उपलब्ध होगा और इससे उनकी सेहत में भी सुधार होगा। उन्होंने बताया कि इससे पहले इन स्कूलों के लिए 9 हजार बैंच की व्यवस्था की गई थी ताकि बच्चे जमीन पर बैठकर पढ़ाई न करें, जिससे स्कूलों के आधुनिकीकरण में काफी सहायता हुई। उन्होंने कहा कि भविष्य में इन स्कूलों के लिए जरूरत मुताबिक फंड्स जुटाए जाएंगे। विधायक पिंकी ने कहा कि बच्चे हमारे देश का भविष्य हैं और उन्हें बेहतरीन सुविधाएं मुहैया करवाना हमारा कर्त्तव्य है ताकि वह अच्छी तरह से पढ़ाई-लिखाई करके अपना करियर बना सकें। उन्होंने कहा कि बॉर्डर एरिया अब एक पिछड़ा इलाका नहीं ब्लकि तेजी से आगे बढ़ रहे इलाकों में शुमार हो चुका है।
व्यापार सैल के प्रधान चंद्र मोहन हांडा ने इस प्रयास की प्रशंसा करते हुए कहा कि यह काफी दूरदर्शिता भरा कदम है, जोकि सरकारी स्कूलों की दशा सुधारने के संदर्भ में मील का पत्थर साबित होगा। इसी तरह सरपंच अवतार सिंह और अमन ने बताया कि सरकारी स्कूलों में पेयजल की व्यवस्था न होना शिक्षा के रास्ते में बड़ी रुकावट बना हुआ था, जोकि विधायक परमिंदर सिंह पिंकी के प्रयासों से दूर हो गया है। 

अंडे को मिड डे मील का हिस्सा बनाने के लिए मुख्यमंत्री के साथ विचारा जाएगा


चंडीगढ़, 11 अक्तूबर:
केंद्र सरकार द्वारा पंजाब, हरियाणा, यू.टी चंडीगढ़ और केंद्रीय पोल्ट्री ऑर्गेनाईजेशन के सहयोग से आज चंडीगढ़ में विश्व अंडा दिवस (वल्र्ड एग्ग डे) मनाया गया। इस मौके पर मुख्य मेहमान के तौर पर पहुँचे पंजाब के पशु पालन, मछली पालन और डेयरी विकास मंत्री स. तृप्त रजिन्दर सिंह बाजवा ने कहा कि केंद्र सरकार मुगऱ्ी पालन के पेशे को बढ़ावा देने के लिए देश के धार्मिक ख़ासकर हिंदु धर्म के नेताओं से अंडे के शाकाहारी होने संबंधी प्रचार करवाए। उन्होंने कहा कि इससे जहाँ लोगों को सस्ती और संतुलित ख़ुराक मुहैया करवाई जा सकेगी वहीं मुगऱ्ी पालन के पेशे को बढ़ावा देकर इस धंधे के साथ जुड़े किसानों की मदद की जा सकेगी। 


श्री बाजवा ने कहा कि नई खोज ने यह सिद्ध कर दिया है कि अंडे में न तो जीवित सैल होते हैं और न ही अंडा पैदा करने के लिए मुगऱ्ा-मुगऱ्ी का मिलना ज़रूरी है। उन्होंने कहा कि अब तो पोल्ट्री फार्मों में पैदा किये जाने वाले अंडों को पक्षी फल कहा जाने लग गया है।  
स. तृप्त बाजवा ने भरोसा दिलाया कि मुगऱ्ी पालकों द्वारा अंडे को मिड डे मील का हिस्सा बनाने संबंधी की गई अपील को मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के साथ विचारा जाएगा।
इसके साथ ही उन्होंने कहा दूसरे उद्योगों की तरह मुगऱ्ी पालन को बिजली सब्सिडी देने के लिए भी पंजाब सरकार गंभीरता के साथ विचार करेगी, जिस संबंधी उन्होंने अधिकारियों को पहले ही कह दिया है कि इस सम्बन्धी पूरी केस स्टडी किया जाये।
स. बाजवा ने कहा कि पंजाब सरकार मुगऱ्ी पालन के धंधे को विकसित करने के लिए खुले दिल से मदद करने के लिए तैयार है, इस सम्बन्धी उन्होंने मुगऱ्ी पालकों को अपने सुझावों के साथ मुलाकात करने का खुला न्योता दिया। इसके साथ ही कहा कि मुगऱ्ी पालकों की समस्या को हल करने के लिए पंजाब सरकार द्वारा हर यत्न किया जाएगा।
इस मौके पर संबोधन करते हुए केंद्रीय पशु पालन, डेयरी और मछली पालन विभाग के संयुक्त सचिव एन.एल.एम डॉ. ओ.पी चौधरी ने कहा कि आम लोगों तक प्रचार के द्वारा अंडे के फायदे पहुँचाए जाएँ। उन्होंने कहा कि अंडा बहुत ही सस्ता है जो देश के नौजवानों को ताकतवर बनाने के लिए न्यूट्रीशन, प्रोटीन और मिनरल भरपूर भोजन है।
डा. राज कमल चौधरी सचिव पशु पालन, डेयरी विकास और मछली पालन विभाग ने अपने विचार पेश करते हुए कहा कि पंजाब में अभी पोल्ट्री के पेशे का बहुत बड़ा स्कोप है। पंजाब सरकार राज्य में पोल्ट्री के पेशे को और प्रोत्साहित करने के लिए इस पेशे में रूचि रखने वाले व्यक्तियों को हर सहायता मुहैया कर रही है।
इस मौके पर मुगऱ्ी पालन के साथ जुड़ी पंजाब, हरियाणा और यू.टी चंडीगढ़ की कई मशहूर हस्तियों को भी सम्मानित किया।
इस समागम में हरियाणा के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री सुनील कुमार गुलाटी, यू.टी के पशु पालन विभाग के डायरैक्टर श्री टी.पी सैनी, डायरैक्टर पशु पालन, पंजाब डॉ. इंदरजीत सिंह, डायरैक्टर सी.पी.डी.ओ चंडीगढ़ डॉ. कामना के अलावा बड़ी संख्या में मुगऱ्ी पालक भी शामिल हुए।
---------


श्री मुक्तसर साहिब : कोटकपूरा रोड पर स्थित गांव चढ़ेवान के पास आज बस से टकराने के कारण मोटरसाईकिल सवार तीन लोगों की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि  मुख्य सडक़ पर स्थित ढाबे से रोटी खाने के बाद जब मोटरसाईकिल पर सवार तीन मजदूर गांव चड़ेवान की अनाज मंडी में काम के लिए सडक़ पार करने लगे तो कोटकपूरा से श्री मुक्तसर साहिब की ओर आ रही निजी कंपनी की एक बस के साथ उनकी टक्कर हो गई। 


इस हादसे में दो मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि एक गंभीर जख्मी ने अस्पताल में जा कर दम तोड़ दिया। उक्त हादसे दौरान बेकाबू हुई बस एक पेड़ के साथ टकराने के बाद खेत में उतर गई, जिस कारण बस में सवार सवारियों को भी चोटें लगी हैं। हादसे की सूचना पाकर थाना सदर प्रभारी परमजीत सिंह और नायब तहसीलदार विपन कुमार मौके पर पहुंचे और जख्मियों को अस्पताल पहुंचाया। मृतकों में से एक की पहचान बलराज सिंह (55) मोड़ रोड श्री मुक्तसर साहिब के तौर पर हुई है जबकि दूसरे दोनों नौजवान सुरेश कुमार और कैलाश कुमार प्रवासी मजदूर थे।


bttnews

{picture#https://1.bp.blogspot.com/-pWIjABmZ2eY/YQAE-l-tgqI/AAAAAAAAJpI/bkcBvxgyMoQDtl4fpBeK3YcGmDhRgWflwCLcBGAsYHQ/s971/bttlogo.jpg} BASED ON TRUTH TELECAST {facebook#https://www.facebook.com/bttnewsonline/} {twitter#https://twitter.com/bttnewsonline} {youtube#https://www.youtube.com/c/BttNews} {linkedin#https://www.linkedin.com/company/bttnews}
Powered by Blogger.