Type Here to Get Search Results !

श्रद्धालुओं के स्वागत के लिए पलकें बिछाई बैठा है डेरा बाबा नानक 3500श्रद्धालुओं के ठहरने के लिए सुविधाओं से लैस टैंट सिटी का शानदार प्रबंध

ऑनलाईन बुकिंग /रजिस्ट्रेशन 2 नवंबर से होगी शुरू

डेरा बाबा नानक, 31 अक्तूबर:
श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के पवित्र मौके को समर्पित ऐतिहासिक नगर डेरा बाबा नानक में 8 नवंबर से शुरू होने वाले चार दिवसीय डेरा बाबा नानक उत्सव समागमों में लगभग 30 हज़ार श्रद्धालु रोज़मर्रा एकत्रित हुआ करेंगे। इन श्रद्धालुओं में दूर-दराज़ के स्थानों से दर्शनों के लिए पहुंची संगतें भी शामिल होंगी जिनके ठहरने का प्रबंध 30 एकड़ जगह में फैली सुविधाओं से लैस टैंट सिटी में किये गए हैं जहाँ कुल 3500 श्रद्धालुओं के ठहरने का प्रबंध है।


इस ऐतिहासिक अवसर पर इस शहर में बनाई गई यह टैंट सिटी संगत के स्वागत के लिए तैयार है जहाँ 544 टैंट युरोपियन स्टाइल, 100 स्विस कौटेज और 20 दरबार स्टाइल की रिहायशें हैं। 
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने आज मुख्य समागम के लिए बनाए गए मुख्य पंडाल के साथ-साथ टैंट सिटी का भी निरीक्षण किया और प्रबंधों पर तसल्ली ज़ाहिर की। इस मुख्य पंडाल में 30 हज़ार की संख्या में संगत एकत्रित होने का सामथ्र्य है। 8 से 11 नवंबर, 2019 से चलने वाले चार दिवसीय डेरा बाबा नानक उत्सव के हरेक दिन इतनी संख्या में संगत के जुडऩे की संभावना है। 
टैंट सिटी का प्रोजैक्ट 4.2 करोड़ रुपए की लागत से विकसित किया गया है जिसमें युरोपियन तरीके की रिहायश भी बनाई गई है जहाँ 6-6 व्यक्ति ठहर सकते हैं। इस तरीके की रिहायश के साथ 140 अलग बाथरूम और 140 वॉशरूम भी बनाए गए हैं जिससे श्रद्धालुओं की प्राथमिक ज़रूरतें भी पूरी हो सकें। हरेक स्विस कौटेज में दो व्यक्ति ठहर सकते हैं जिसके साथ बाथरूम भी अटैच होगा। इसी तरह दरबार टैंट के साथ भी बाथरूम होगा जहाँ चार -चार व्यक्ति ठहर सकेंगे। 
इस टैंट सिटी में कुल 3544 व्यक्ति ठहर सकते हैं जिनमें से 26 युरोपियन स्टाइल, 10 स्विस कौटेज और 2 दरबार टैंट सिविल अफसरों और कर्मचारियों के लिए होंगे और युरोपियन तरीके वाली टैंट सिटी में हरेक के लिए पश्चिमी शोचालय/वॉशरूम की सुविधा मुहैया करवाई गई है। पुलिस अफसरों /मुलाजिमों के लिए और 56 युरोपियन स्टाइल टैंट, 8 स्विस कौटेज और दो दरबार टैंट रखे गए हैं और हरेक युरोपियन टैंट के लिए 17 शोचालय/वॉशरूम की सुविधा मुहैया करवाई गई है।
एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि 1000 लीटर प्रति घंटे की सामथ्र्य के साथ पानी संशोधन करने वाला एक आर.ओ. और पानी मुहैया करवाने के लिए 18 स्थान निर्धारित किए गए हैं जिससे संगतों को साफ़ पानी मुहैया करवाना यकीनी बनाया जा सके। इसी तरह बिजली की निर्विघ्न सप्लाई के लिए 125 किलोवॉट के सामथ्र्य वाले चार जनरेटर भी होंगे। 
इस टैंट सिटी में रजिस्ट्रेशन रूम, जोड़ा घर, गठरी घर, वी.आई.पी. लौंज और फायर स्टेशन समेत अन्य भी सुविधाएं उपलब्ध होंगी। बुकिंग या रजिशट्रेशन की सुविधा मुफ़्त होगी जिसको ऑनलाइन या ऑफलाइन किया जा सकता है। ऑनलाइन बुकिंग 2 नवंबर से शुरू होगी। 
इस अवसर पर सहकारिता और जेल मंत्री सुखजिन्दर सिंह रंधावा, तकनीकी शिक्षा मंत्री चरनजीत सिंह चन्नी, लोक निर्माण और शिक्षा मंत्री विजय इंदर सिंगला, विधायक फतेह जंग सिंह बाजवा, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव तेजवीर सिंह, डी.जी.पी. दिनकर गुप्ता, मुख्यमंत्री के राजनैतिक सचिव कैप्टन संदीप सिंह संधू, अतिरिक्त मुख्य सचिव सहकारिता कल्पना मित्तल बरूहा, मार्कफैड्ड के एम.डी. वरुण रूजम, मिल्कफैड्ड के एम.डी. कमलदीप सिंह संघा, शूगरफैड्ड के एम.डी. पुनीत गोयल, गुरदासपुर के डिप्टी कमिश्नर विपुल उज्जवल, बॉर्डर रेंज के आई.जी. एस.पी.एस. परमार और बटाला के एस.एस.पी. उपिन्दर सिंह घूम्मण भी उपस्थित थे। 
-------------

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.