मिलिट्री कार्निवल जोशो -खऱोश से शुरू, तीसरे मिलिट्री फेस्टिवल का आधार बंधा - BTTNews

ताजा अपडेट

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Saturday, November 30, 2019

मिलिट्री कार्निवल जोशो -खऱोश से शुरू, तीसरे मिलिट्री फेस्टिवल का आधार बंधा


वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल द्वारा समारोह का उद्घाटन

4&4 ज़ीप चालकों की ऑफ रोडिंग और घुड़सवारों के हैरेतअंगेज़ करतबों ने दर्शक किये मंत्रमुग्ध

चंडीगढ़, 30 नवंबर:
13 से 15 दिसबंर तक होने जा रहे तीसरे मिलिट्री लिटरेचर फेस्टिवल के लिए आधार बांधते हुये यहाँ शनिवार को 4&4 ज़ीप चालकों की ऑफ-रोडिंग प्रदर्शनी के दौरान अपने हैरेतअंगेज़ करतबों के साथ दर्शकों को मंत्रमुग्ध करके रख दिया। इसके साथ ही टी-90 टेक, लाईट एंड मीडियम मशीन और शानदार बंदूकों समेत रक्षा हथियारों की प्रदर्शनी ने पूरे माहौल को देश भक्ति के रंग में रंग दिया।

मुख्य समागम के लिए माहौल तैयार करते हुये 2 दिवसीय मिलिट्री कार्निवल में पहली बार भाग ले रहे 50 से अधिक चालकों ने हिस्सा लिया और अपने विलक्षण कारनामों से दर्शकों में उत्साह भर दिया।
एम.एम. 50, जीपसियों, थार, पोलारिस और फोर्स गुरखा, बलैरो जैसी विश्व प्रसिद्ध गाडिय़ों पर सवार होकर नौजवान चालकों ने अपने हौंसले, शक्ति, सहनशीलता और साहस के साथ रक्षा सेनाओं के जोश और निडरता का प्रदर्शन किया। आर्मी एडवेंचर सैल के सहयोग से आज करवाए गए समागमों का उद्देश्य नौजवानों को रक्षा बलों द्वारा आकर्षित करने के उद्देश्य से आर्मी की ऑफ -रोडिंग महारत को प्रदर्शित करना था।
मिलिट्री कार्निवल का उद्घाटन करते हुये वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने कहा कि इस कार्निवल का उद्देश्य नौजवानों को समृद्ध फ़ौजी विरासत से अवगत करवाते हुये उनमें देश भक्ति की भावना को उत्साहित करना है। उन्होंने नौजवानों में राष्ट्र निर्माण की भावना को विकसित करने के लिए रक्षा अधिकारियों द्वारा किये गए इस महान प्रयास की सराहना की।
मिलिट्री लिटरेचर फेस्टिवल, जो कि विभिन्न फ़ौजी इतिहासकारों, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह और पंजाब के राज्यपाल वी.पी.सिंह बदनौर की सांझी पहलकदमी और पश्चिमी कमांड के सहयोग से करवाया जाता है, ने साहित्यक कामों, कला, संगीत और शिल्पकारी के विभिन्न पहलूयों को सफलतापूर्वक शामिल करते हुये थोड़े ही समय में बेहद प्रसिद्धि हासिल की है और बड़ी संख्या नौजवानों को रक्षा सेनाओं को पेशे के तौर पर चुनने के लिए उत्साहित किया है। पिछले साल 50,000 से अधिक दर्शकों की हाजिऱी से इस फेस्टिवल में पहुँचने वालों की संख्या में 5 गुणा वृद्धि दर्ज की गई है। 

इसके अलावा नौजवानों में मान और देश भक्ति की भावना पैदा करने के लिए कार्निवल में हथियारों की प्रदर्शनी भी लगाई गई जिसमें आटोमैटिक ग्रेनेड लांचर, आई.एन.एस.ए.एस. राइफल से लेकर भारतीय हथियारबंद सेनाओं के तोपखाने, बखतरबन्द और इंजीनियरिंग के क्षेत्र में विलक्षण अनुसंधानों के साथ साथ एंटी एयरक्राफ्ट एल 70 बंदूकों को डिस्पले पर रखा गया।
हथियारों की इस प्रदर्शनी में कैप्टन अमरिन्दर सिंह की दूसरी सिख रेजीमेंट और फस्ट गार्डज़, 25 एयर डिफेंस रैजीमेंट के अलावा 270 इंजीनियर और 12 हथियारबंद रैजीमैंटें शामिल थी।
किसी भी रासायनिक या जीव-वैज्ञानिक हमले के विरुद्ध हमारी फ़ौज के तकनीकी विकास और रक्षा तैयारियों की गति को दिखाना इस प्रदर्शनी का आकर्षण था।
सेना की तरफ से जंग के दौरान इस्तेमाल की गई कुआंटम स्निफर, नॉन लिनियर जंकट डिटेक्टर और माइन डिटैकटिंग सैट और 12 सीटर न्यूमेटिक किश्ती ने दर्शकों को हैरान कर दिया।
इसके इलावा सेना और पंजाब आम्र्ड पुलिस के जोशीले घोड़सवारों और स्थानीय सिटी क्लब के विद्यार्थियों ने मोटसाईकलें और जीपसियों के ऊपर से छलाँग लगाते हुये और आगे की बाधाओं को पार करते हुये अपने हैरतअंगेज़ करतबों से नौजवानों और बुज़ुर्गों को हैरान कर दिया।
2 सिखों द्वारा बजाए पाईपर बैंड की धुनों की लय में 800 मीटर प्रति मिनट की गति से घुड़सवारी करते हुये पंजाब हथियारबंद पुलिस के जवानों ने टैंट पैगिंग, ट्रिक राइडिंग के दौरान घोड़ों के साथ बेहतरीन तालमेल और जोश भरपूर करतब दिखाते हुये दर्शकों से तालियां बजायी।

डॉग शो के दौरान विभिन्न आर्मी डॉग की इकाईयां जिनमें रीमाउंट वैटरनरी कॉर्पस सैंटर और कॉलेज, मेरठ और एन.एस.जी. शामिल हुए, के माहिर कुत्तों ने दर्शकों के जुनून को शिखरों पर पहुंचा दिया। आर्मी के कुत्तों ने पूरी ताकत और फुर्ती से विभिन्न रुकावटों को पार करते हुये दीवारों ऊपर से छलाँगें लगाते हुये दर्शकों से वाह-वाह लूटी।
इस डॉग शो में ट्रैकर, माइन डिटैकशन, एक्सप्लोसिव डिटैकशन, गार्ड, इनफैंटरी पेट्रोल करने में माहिर विभिन्न प्रजातियों के कुत्ते इस शो में आकर्षण का केंद्र रहे।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री के सीनीयर सलाहकार लेफ्टिनेंट जनरल (सेवामुक्त) टी.एस. शेरगिल ने सेना की गतिविधियों संबंधी जानकारी के प्रसार के लिए प्रबंधकों के यत्नों की सराहना करते हुये कहा कि पंजाब और भारतीय सेना एक-दूसरे के पूरक हैं। उन्होंने कहा कि हमारे बहादुर लडक़े-लड़कियाँ हमेशा देश की सेवा करने में अग्रणीय रहे हैं और इस भावना और वचनबद्धता को और आगे बढ़ाने की ज़रूरत है।
कल कार्निवल के दूसरी और अंतिम दिन भी 4&4 जोशीले ज़ीप चालकों द्वारा ऑफ रोडिंग की प्रदर्शनी, घुड़सवारी इवेंट, हथियारों की प्रदर्शनी और डॉग शो दर्शकों का मनोरंजन करेंगे।
इन समागमों को आज लोगों का भरपूर समर्थन मिला और विभिन्न स्कूलों -कॉलेजों के विद्यार्थियों और एन.सी.सी कैडटों की उपस्थिति से इस कार्निवल का रोमांच शिखरों पर पहुंच गया। आज के समागमों में 4000 से अधिक लोगों ने भाग लिया और कल कार्निवल के समाप्ति दिन इससे भी ज़्यादा लोगों पर पहुँचने की उम्मीद है।

No comments:

Post a Comment