Type Here to Get Search Results !

700 से अधिक नर्सों और पैरामेडिकल स्टाफ के पद भरे जाएंगे


चंडीगढ़, 24 दिसंबर:
पंजाब सरकार द्वारा मैडीकल शिक्षा का नवीनीकरण पूरे ज़ोरों -शोरों के साथ जारी है, यह खुलासा पंजाब के मैडीकल शिक्षा मंत्री श्री ओ.पी सोनी ने किया। श्री सोनी ने बताया कि मोहाली और कपूरथला में मैडीकल कालेज के बाद होशियारपुर में स्थापित होने वाले एक नये मैडीकल कालेज की विस्तृत प्रोजैक्ट रिपोर्ट तैयार की जा चुकी है।

उन्होंने बताया कि कुछ ज़रूरी कार्यवाहियां पूरी करने के उपरांत इस प्रस्ताव को औपचारिक मंजूरी के लिए केंद्र सरकार के पास भेजा जायेगा। श्री सोनी ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में राज्य में पाँच नये मैडीकल कालेजों का वायदा किया था। सरकार द्वारा अपने वायदों के मद्देनजऱ मोहाली के नये मैडीकल कालेज में पद भरने के लिए नोटिफिकेशन प्रक्रिया अधीन है और भारत सरकार द्वारा कपूरथला में बनने जा रहे नये मैडीकल कालेज की मंज़ूरी के बाद इस सम्बन्धी एमओयू सहीबद्ध किये जा रहे हैं।
आज यहाँ पंजाब भवन चंडीगढ़ में मैडीकल शिक्षा के नवीनीकरण सम्बन्धी मुख्यमंत्री द्वारा गठित सलाहकार समूह की मीटिंग की अध्यक्षता करते हुए उन्होंने बताया कि होशियारपुर में बनने जा रहे नये मैडीकल कालेज की डी.पी.आर. सहित पठानकोट, गुरदासपुर और संगरूर में पीपीपी प्रणाली के द्वारा नये मैडीकल कालेज स्थापित करने सम्बन्धी रूचि के अभिव्यक्ति आमंत्रित की जायेगी। उन्होंने कहा कि फिऱोज़पुर में पी.जी.आई. के सैटेलाइट कैंपस को भी मंजूरी दी गई है और होशियारपुर में नया टर्शरी कैंसर केयर सैंटर स्थापित करने संबंधी भी विचार किया जा रहा है।
कमेटी के सदस्यों में शामिल पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री स. बलबीर सिंह सिद्धू, लोक निर्माण मंत्री श्री विजय इंदर सिंगला, श्री राजकुमार वेरका विधायक अमृतसर (पश्चिम) ने मैडीकल शिक्षा विभाग की पहलकदमियों का स्वागत करते हुए कहा कि नये बुनियादी ढांचे का निर्माण अपेक्षित है परन्तु इससे मौजूदा ढांचे के रखरखाव पर कोई प्रभाव नहीं पडऩा चाहिए। कमेटी द्वारा सैद्धांतिक तौर पर सरकारी मैडीकल कालेजों के मौजूदा समय प्रात:काल 8.30 बजे से दोपहर 2.30 बजे से बदल कर प्रात:काल 8.00 बजे से शाम 4 बजे तक करने पर सहमति जताई गई जिसमें दोपहर के खाने के लिए एक घंटे की ब्रेक शामिल है। कमेटी ने मैडीकल कालेजों और अस्पतालों के कामकाज को बेहतर बनाने के लिए स्थानीय विधायक और प्रसिद्ध सेवामुक्त व्यक्तियों को सदस्यों के तौर पर स्थानीय सरकारी मैडीकल कालेजों में एक सलाहकार कमेटी स्थापित करने का प्रस्ताव भी दिया। चल रहे मुरम्मत और निर्माण कार्यों को तेज़ करने के लिए मैडीकल शिक्षा के सचिव की निगरानी में स्थानीय पीडब्ल्यूडी (बी एंड आर), पीडब्ल्यूडी (इलैक्ट्रिकल) और पब्लिक हैल्थ अधिकारी की एक कमेटी गठित करने का प्रस्ताव रखा गया। हितधारक एजेंसियों में तालमेल की कमी के कारण लटक रहे ज़मीनी स्तरीय मसलों के तुरंत निपटारे के लिए मैंबर सीधे सचिव को रिपोर्ट करेंगे। इसके अलावा, सरकारी मैडीकल कालेज पटियाला और अमृतसर के पुनर्गठन और नवीनीकरण के लिए संस्थानों को और ज्यादा स्वायत्तता देने संबंधी विचार-विमर्श भी किये गए।
----------------

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.