Type Here to Get Search Results !

मोहाली से कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीज़ में वायरस का कोई लक्षण नहीं पाया गया


चंडीगढ़, 29 जनवरी:
मोहाली से कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीज़ जिसको कल पी.जी.आई. दाखि़ल किया गया था, के मैडीकल टैस्ट नैगेटिव आए हैं और उक्त व्यक्ति में इस वायरस का कोई लक्षण नहीं पाया गया।
स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने बताया कि नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ विरोलॉजी (एन.आई.वी.), पुणे को पी.जी.आई. द्वारा मरीज़ के टैस्ट सैंपल भेजे गए थे जिसने यह सैंपल नैगेटिव होने की पुष्टि की है। मंत्री ने आगे कहा कि राज्य में कोरोना वायरस का कोई मामला नहीं है। होशियारपुर से सम्बन्धित महिला मरीज़ जिसका चीन के हवाई अड्डे में स्टे था, का पता चला है और जिसकी डाक्टरों द्वारा जांच की गई और उसको घर में अलग रखा गया है। उन्होंने बताया कि अटारी सीमा और गुरदासपुर के डेरा बाबा नानक में नजऱ रखने के लिए दोनों स्थानों पर मैडीकल चैक पोस्ट बनाए गए हैं। उन्होंने कहा कि इस समर्पित मैडीकल चैक पोस्ट के द्वारा पाकिस्तान की यात्रा करने वाले लोगों में जागरूकता भी पैदा की गई है और उनको चीन की यात्रा और वायरस के लक्षण होने सम्बन्धी स्व-घोषणा देने के लिए कहा गया है।
स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि आज अमृतसर हवाई अड्डे के लिए तीन उड़ानें थीं और शाम 4 बजे तक सिफऱ् एक उड़ान ही पहुँची। उन्होंने बताया कि मैडीकल टीमों द्वारा186 यात्रियों की स्क्रीनिंग की गई और किसी में भी इस वायरस के लक्षण नहीं पाए गए और आगे आने वाली उड़ानों की  स्क्रीनिंग के लिए टीमें तैयार हैं। इसी तरह मोहाली हवाई अड्डे पर आज सिफऱ् एक उड़ान उतरी और स्वास्थ्य विभाग द्वारा सभी 186 यात्रियों की स्क्रीनिंग की गई।
स. बलबीर सिंह सिद्धू ने बताया कि चीन और कोरोना वायरस से प्रभावित अन्य देशों की यात्रा करने वाले 17 यात्रियों को निगरानी अधीन रखा गया है। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस के उभर रहे खतरे के मद्देनजऱ डाक्टरों और पैरा मैडीकल स्टाफ की टीमें 24 घंटे सक्रिय हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस सम्बन्धी किसी भी तरह की सूचना के लिए 104 हेल्पलाइन नंबर 24 घंटे चालू है। कोरोना वायरस सम्बन्धी किसी भी तरह की जानकारी के लिए कोई भी व्यक्ति इस नंबर पर संपर्क कर सकता है।
स्वास्थ्य मंत्री ने अपील की कि कोई भी व्यक्ति जो चीन की यात्रा कर चुका है और 1 जनवरी, 2020 से भारत आया है, को नज़दीकी सरकारी हस्पताल को रिपोर्ट करनी चाहिए या 104 हेल्पलाइन नंबर पर फ़ोन करना चाहिए ताकि स्वास्थ्य विभाग उनके स्वास्थ्य की जांच करके ज़रूरी उपाय कर सके।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.