[post ads]


मसीह को 2 दिनों की पुलिस रिमांड में भेजा गया
इटली के सिमरनजीत संधू को पकडऩे के लिए भी शुरु करें तैयारियां

चंडीगढ़, 19 फरवरी:
नशे के कारोबार में शामिल बड़ी मछलियों पर और सिकंजा कसते हुए पंजाब पुलिस की स्पैशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने बुधवार को नशा तस्करी के मामले में सुबॉर्डीनेट सर्विसिज बोर्ड (एसएसबी) के पूर्व मैंबर और अकाली नेता अनवर मसीह को 31 जनवरी को गाँव सुलतानविंड, अमृतसर में उसके घर से बड़े स्तर पर बरामद हुए नशे के सम्बन्ध में गिरफ़्तार किया है।
उक्त दोषी बीती 31 जनवरी को 197 किलोग्राम हेरोइन के साथ और नशीले पदार्थों और रासायनों की बरामदगी के कारण पुलिस जांच अधीन था। दोषी पर एफ.आई.आर नं. 23 थाना एस टी एफ -एस ए एस नगर मोहाली में मामला दर्ज किया गया था। उसके घर में से 197 किलो से अधिक हेरोइन और बड़ी मात्रा में अन्य नशीले पदार्थ और रासायन बरामद हुए थे।
एस.टी.एफ के प्रमुख हरप्रीत सिंह सिद्धू ने यह जानकारी देते हुए खुलासा किया कि मसीह के खि़लाफ़ धारा 25 एन.डी.पी.एस एक्ट के अंतर्गत केस दर्ज किया गया है क्योंकि उसकी मलकीयत वाले मकान में नशे का कारोबार चल रहा था। उसे आज अदालत में पेश किया गया और दो दिनों की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया।
पिछली अकाली-भाजपा सरकार द्वारा मसीह को एस.एस.बोर्ड का मैंबर नियुक्त किया गया था। वह अकाली दल का सक्रिय मैंबर भी रहा है और पार्टी के कई बड़े दिग्गजों के नज़दीक बताया जाता है।
जि़क्रयोग्य है कि सुलतानविंड के आकाश विहार के एक घर में नाजायज ड्रग फैक्ट्री चलाई जा रही थी जहाँ से इन नशों की बरामदगी की गई थी। यह घर अनवर मसीह के नाम पर रजिस्टर है। हालाँकि मसीह ने दावा किया था कि उसने छह आरोपियों को यह मकान किराये पर दिया था, जिनको वहाँ से गिरफ़्तार कर लिया गया था, परन्तु वह मकान किराये पर देने सम्बन्धी कोई भी लिखित दस्तावेज़ जा किरायनामा पेश करने में असफल रहा और आस-पास के लोग भी यहाँ रहते किसी भी किरयेदार से अनजान थे। पुलिस द्वारा पड़ताल के दौरान यह भी पता चला है कि इस रैकेट का पर्दाफाश करने से पहले दोषी द्वारा मसीह के घर में एक महीने से अधिक समय तक नशे को सुधारने और बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता रहा।
अपनी जायदाद की किरायेदारी साबित करने के लिए समय दिए जाने के बावजूद, मसीह यह दिखाने के लिए कोई दस्तावेज़ पेश नहीं कर सका कि उसने यह मकान किराये पर दिया था। बुधवार को जब वह दोबारा पूछताछ के दौरान किरायेदारी सम्बन्धी कोई दस्तावेज़ दिखाने में असफल रहा तो एसटीएफ अमृतसर ने उसको गिरफ़्तार कर लिया। सिद्धू ने कहा कि कानून के अनुसार मसीह ने किरयेदारों की पुलिस तस्दीक भी नहीं करवाई थी और जिससे उसके इरादों का पता चलता है।
हालाँकि, एटीएस गुजरात ने इटली से देश के सबसे बड़े नशा माफिया सिमरनजीत सिंह संधू की हवालगी के लिए पहले ही कार्यवाही शुरू कर दी है और एसटीएफ पंजाब भी इस सम्बन्धी कदम उठा रही है। सिद्धू ने कहा कि एसटीएफ को संधू की पूछताछ के द्वारा इस मामले में और बड़ी मछलियों के पकड़े जाने की उम्मीद है, जिसको पहले ही इटली में गिरफ़्तार किया गया है।

Post a Comment

bttnews

{picture#https://1.bp.blogspot.com/-pWIjABmZ2eY/YQAE-l-tgqI/AAAAAAAAJpI/bkcBvxgyMoQDtl4fpBeK3YcGmDhRgWflwCLcBGAsYHQ/s971/bttlogo.jpg} BASED ON TRUTH TELECAST {facebook#https://www.facebook.com/bttnewsonline/} {twitter#https://twitter.com/bttnewsonline} {youtube#https://www.youtube.com/c/BttNews} {linkedin#https://www.linkedin.com/company/bttnews}
Powered by Blogger.