स्कुल वैन में जिन्दा जले 4 मासूम, CM द्वारा घटना की मैजिस्ट्रेट जांच के आदेश - BTTNews

ताजा अपडेट

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Saturday, February 15, 2020

स्कुल वैन में जिन्दा जले 4 मासूम, CM द्वारा घटना की मैजिस्ट्रेट जांच के आदेश

मंदभागी घटना में चार बच्चों की दु:खद मौत पर गहरे दु:ख का प्रगटावा
प्रत्येक पीडि़त परिवार के लिए 7.25 लाख रुपए एक्स -ग्रेशिया का ऐलान

स्कूली बच्चों की सुरक्षा को यकीनी बनाने के लिए राज्य भर में स्कूल बसों की चैकिंग के आदेश

चंडीगढ़, 15 फरवरी:
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने संगरूर जि़ले में लोंगोवाल के नज़दीक स्कूल वैन को आग लगने की घटना में चार बच्चों की दर्दनाक मौत पर गहरे दु:ख का प्रगटावा किया है। मुख्यमंत्री ने इस हादसे की मैजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने प्रत्येक पीडि़त परिवार को 7.25 लाख रुपए एक्स-ग्रेशिया देने का ऐलान किया है।

मुख्यमंत्री ने परिवहन विभाग को सभी स्कूल बसों की राज्य स्तरीय चैकिंग तुरंत शुरू करने के आदेश दिए जिससे बच्चों की सुरक्षा को यकीनी बनाने के साथ-साथ भविष्य में ऐसे दु:खद हादसों को घटने से रोका जा सके। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने सामाजिक सुरक्षा विभाग के जि़ला बाल सुरक्षा अफसरों को मोटर व्हीकल एक्ट के नियमों का उल्लंघन करने वाले स्कूल वाहनों पर सख्त नजऱ रखने के निर्देश दिए। उन्होंने विद्यार्थियों के आने-जाने के लिए इस्तेमाल कियेे जाने खऱाब वाहनों का प्रयोग करने पर स्कूल प्रबंधकों पर भी नजऱ रखने के लिए कहा।
मुख्यमंत्री ने परिवहन विभाग को आदेश दिए कि मोटर व्हीकल एक्ट के विभिन्न उपबंधों के अंतर्गत तय दिशा-निर्देशों का उल्लंघन किये जाने पर जि़म्मेदार स्कूल प्रबंधकों के खि़लाफ़ सख्त कार्यवाही की जाये।
यह दु:खद हादसा उस समय पर घटा जब बदकिस्मत स्कूल वैन लोंगोवाल के एक प्राईवेट स्कूल के नरसरी विंग के बच्चों को सम्बन्धित स्थानों पर छोडऩे के लिए जा रही थी।
मुख्यमंत्री के निर्देशों पर शिक्षा मंत्री विजय इंदर सिंगला के साथ डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी और एस.एस.पी. डा. सन्दीप गर्ग मौके पर पहुँचे और बाद में अस्पताल भी गए और पीडि़त परिवारों के साथ मुलाकात की।
स्कूल प्रबंधकों के खि़लाफ़ आई.पी.सी. की धारा 304 के अंतर्गत पहले ही केस दर्ज किया जा चुका है।

No comments:

Post a Comment