बाबू सिंह पंजावा एस.सी. आयोग का मैंबर नहीं, लोग गुमराह न हों - BTTNews

ताजा अपडेट

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Thursday, February 13, 2020

बाबू सिंह पंजावा एस.सी. आयोग का मैंबर नहीं, लोग गुमराह न हों


अपने-आप को आयोग का मैंबर बताकर कर रहा है लोगों को गुमराह
शिकायत मिली तो करेंगे कानूनी कार्रवाई-चेयरपर्सन तेजिन्दर कौर

चंडीगढ़, 13 फरवरी:
पंजाब राज्य अनुसूचित जाति आयोग की चेयरपर्सन श्रीमती तेजिन्दर कौर आई.ए.एस. (सेवामुक्त) ने कहा है कि बाबू सिंह पंजावा पुत्र जीत सिंह, गाँव पंजावा, तहसील लम्बी, जि़ला श्री मुक्तसर साहिब, अब एस.सी. आयोग का ग़ैर सरकारी मैंबर नहीं है। 
चेयरपर्सन ने प्रैस बयान में बताया कि बाबू सिंह पुत्र जीत सिंह, गाँव पंजावा, तहसील लम्बी, जि़ला श्री मुक्तसर साहिब को कार्यालय सामाजिक न्याय, अधिकारिता और अल्पसंख्यक विभाग, पंजाब के आदेश पीठ अंकण नं:8/92/2005-भस/1054/59 तारीख़ 06-08-2015 के द्वारा पंजाब राज्य अनुसूचित जाति आयोग का ग़ैर सरकारी मैंबर नियुक्त किया गया था, परन्तु पंजावा के खि़लाफ़ विजीलैंस ब्यूरो, पंजाब द्वारा पचास हज़ार रिश्वत लेने के कारण मुकदमा नं:21 तारीख़ 27-10-2017 अधीन धारा 7,13(2) पी.सी. एक्ट-1988 के अंतर्गत फिऱोज़पुर में मामला दर्ज किया गया था।
इस मामले की गंभीरता को देखते हुए पंजाब राज्य अनुसूचित जाति आयोग एक्ट 2004 की धारा 4(2)(एफ) अधीन पीठ अंकण नं:8/75/2017 भस/69-700 तारीख़ 13-3-2019 के द्वारा बाबू सिंह पंजावा को पंजाब एस.सी. आयोग में ग़ैर सरकारी मैंबर के पद से हटा दिया गया था परंतु आयोग के नोटिस में आया है कि बाबू सिंह पंजावा द्वारा अभी भी अपने आप को पंजाब राज्य अनुसूचित जाति आयोग का मैंबर बता कर आम लोगों को गुमराह कर रहा है।
चेयरपर्सन श्रीमती तेजिन्दर कौर ने राज्य के लोगों से अपील की है कि वह बाबू सिंह पंजावा के साथ पंजाब राज्य अनुसूचित जाति आयोग से सम्बन्धित किसी भी तरह के कामकाज के लिए सम्पर्क न करें और यदि बाबू सिंह पंजावा अपने आप को आयोग का मैंबर बता कर लोगों पर प्रभाव डालने की कोशिश करता है तो उसकी शिकायत आयोग को की जाये जिससे उसके खि़लाफ़ कानूनी कार्यवाही अमल में लाई जा सके। 

No comments:

Post a Comment