आई.आई.टी. दिल्ली ने ट्रैफिक़ और सडक़ सुरक्षा में सुधार करने के लिए पंजाब के तीन शहरों एस.ए.एस. नगर, होशियारपुर और बठिंडा का किया चयन
चंडीगढ़, 4 फरवरी:
पंजाब पुलिस का ट्रैफिक़ विंग राज्य में आई.आई.टी. दिल्ली के सहयोग से संयुक्त राष्ट्र के ट्रांसपोर्ट और वातावरण के साथ जुड़े स्थाई विकास प्रमुख लक्ष्यों को लागू करेगा। यह पहलकदमी ए.डी.जी.पी. (ट्रैफिक़), डॉ. शरद एस चौहान की पहल पर की गई है, जिसके अंतर्गत पंजाब पुलिस का ट्रैफिक़ विंग यातायात और सडक़ सुरक्षा के क्षेत्र में टीआरआईपीपी, आई.आई.टी. दिल्ली के साथ मिलकर काम करेगा।
इस सम्बन्धी जानकारी देते हुए पंजाब पुलिस के प्रवक्ता ने बताया कि आई.आई.टी. दिल्ली ने ट्रैफिक़ और सडक़ सुरक्षा में सुधार करने के लिए जापान की अंतरराष्ट्रीय एसोसिएशन ऑफ ट्रैफिक़ सेफ्टी एंड साइंसिज़ के सहयोग से पंजाब के तीन शहरों एस.ए.एस. नगर मोहाली, होशियारपुर और बठिंडा की चयन की गई है।
उन्होंने बताया कि इस प्रोजैक्ट का मुख्य उद्देश्य इन शहरों में ट्रैफिक़ सुरक्षा सम्बन्धी बड़ी मुश्किलों की पहचान करना है, जिसमें यात्रा के नमूनों सम्बन्धी दस्तावेज़ और ट्रैफिक़ सुरक्षा के मुद्दे शामिल हैं। इसके अलावा, स्थानीय हिस्सेदारों के साथ सलाह परामर्श करके संभव उपाय को पहल देने और एस.डी.जीज़ के आधार पर तीन शहरों की रिपोर्टें प्रकाशित करने की कोशिश की जा रही है।
उन्होंने आगे बताया कि यह प्रोग्राम 7 और 8 फरवरी को दिल्ली में शुरू किया जायेगा जिसमें गज़टिड अधिकारियों के नेतृत्व में पंजाब पुलिस की टीम को पंजाब के ट्रैफिक़ सलाहकार समेत प्रशिक्षण दिया जायेगा। प्रशिक्षण मुकम्मल होने के बाद आई.आई.टी दिल्ली के प्रोफ़ैसर (डॉ.) गीतम तिवारी पंजाब पुलिस अधिकारियों को सडक़ सुरक्षा और वातावरण हेतु संयुक्त राष्ट्र सस्टेनेबल गोल्ज़ द्वारा निर्धारित मापदण्डों को तीनों शहरों जैसे साहिबज़ादा अजीत सिंह नगर, बठिंडा और होशियारपुर समेत सिविल प्रशासन में लागू करने सम्बन्धी जानकारी दी।
उन्होंने बताया कि जापान की अंतरराष्ट्रीय एसोसिएशन ऑफ ट्रैफिक़ सेफ्टी एंड साइंसेज़ की टीम सक्रिय भागीदारी के साथ विस्तृत ट्रैफिक़ योजना तैयार की जायेगी। स्थापित प्रोटोकोल के अनुसार यह तीनों शहरों का चयन किया गया है। इसके अलावा, पंजाब पुलिस द्वारा 2017 से टैक्नीशियन की एक टीम के साथ वैज्ञानिक तरीकों से सडक़ सुरक्षा में सुधार लाने के लिए काम किया जा रहा है और पंजाब ने साल 2019 में सडक़ हादसों के कारण हुई मौतों में 4.7 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है।

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.