मथुरा में गोदाम पर मारा छापा 40 लाख से अधिक नशीले पदार्थ बरामद, 4 गिरफ़्तार, - BTTNews

ताजा अपडेट

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Friday, March 06, 2020

मथुरा में गोदाम पर मारा छापा 40 लाख से अधिक नशीले पदार्थ बरामद, 4 गिरफ़्तार,

पंजाब पुलिस द्वारा गोलियाँ /कैप्सूलों /टीकों की अब तक की सबसे बड़ी बरामदगी

चंडीगढ़, 6 मार्च:
पंजाब पुलिस द्वारा नशों की सबसे बड़ी बरामदगी के साथ साईकोट्रोपिक नशों के ग़ैर-कानूनी कारोबार के साथ जुड़े एक बड़े रैकेट का पर्दाफाश किया गया है जिसमें चार व्यक्तियों को गिरफ़्तार किया गया और 40,01,040 नशीली गोलियाँ /कैप्सूल /टीके ज़ब्त किये गए, जिसकी कीमत लगभग 4-5 करोड़ रुपए है। 
इस सम्बन्धी जानकारी देते हुए आज यहाँ डी.जी.पी. पंजाब, श्री दिनकर गुप्ता ने बताया कि मसानी बाईपास लिंक रोड, सरस्वती कुंड, मथुरा (यू.पी.) में स्थित एक गोदाम पर बरनाला पुलिस की टीम ने छापा मारा जिसका प्रयोग नशीले पदार्थ स्टोर करने के लिए किया जाता था।
डीजीपी ने कहा कि तीन मुलजि़मों को बरनाला से गिरफ़्तार किया गया था, जबकि चौथे को मथुरा  से पकड़ा गया था। उन्होंने आगे बताया कि नशों की इस बरामदगी के साथ हज़ारों नौजवानों को नशों से बचाया गया, क्योंकि औसतन एक नौजवान दिन में 10 गोलियाँ /कैप्सूल का सेवन करता है।
इस ऑपरेशन सम्बन्धी विवरण देते हुाए डीजीपी ने बताया कि एक सूचना के आधार पर एसएसपी संदीप गोयल के नेतृत्व अधीन सीआईए बरनाला की एक पुलिस पार्टी द्वारा एक जाल बिछाया गया था।
श्री गुप्ता ने बताया कि मोहन लाल पुत्र पवन कुमार निवासी गाँव उप्पली को पहले 800 नशाीली गोलियों (अलपरासेफ 0.5 मिलीग्राम) के साथ गिरफ़्तार किया गया था। उसकी पूछताछ से दो और व्यक्तियों को गिरफ़्तार किया गया, जिनकी पहचान बलविन्दर कुमार पुत्र बसंत लाल निवासी किला मोहल्ला, बरनाला (ओम शिवा मैडीकल हॉल, बरनाला) और नरेश मित्तल उर्फ रिंकू पुत्र प्रेम चंद (बीरू राम ठाकुर दास मैडीकल स्टोर, सदर बाज़ार, बरनाला) के तौर पर हुई जिनके पास से 1700 नशीली गोलियाँ (क्लोविडोल 100 एसआर) पकड़ी गईं।
इसके अलावा, ऐवीडैंस एक्ट की धारा 27 के अधीन दोषी से 1800 नशीली गोलियाँ (क्लोविडोल 100 एसआर), एक इन्नोवा कार और 5 लाख रुपए (ड्रग मनी) भी बरामद किये गए।
डीजीपी ने बताया कि मुख्य मुलजि़म नरेश मित्तल, जो अपने मैडीकल स्टोर पर नशीले पदार्थ प्राप्त कर रहा था, से और पूछताछ के दौरान भारत में अन्य राज्यों से साईकोट्रोपिक ड्रग्ज की सप्लाई की एक श्रृंखला का पर्दाफाश किया गया है। डीजीपी ने आगे बताया कि अगली जांच से इस गैर-कानूनी रैकेट के साथ सम्बन्धित अन्य मुलजि़मों को पकड़ा जायेगा।
मित्तल द्वारा किये गए खुलासों पर कार्यवाही करते हुए पुलिस टीम ने इस रैकेट से सम्बन्धित तैय्यब कुरैशी पुत्र बाबू कुरैशी निवासी चकला स्ट्रीट, सदर बाज़ार, मथुरा का पता लगाया। तैय्यब को मथुरा में 80,000 नशीली गोलियों (क्लोविडोल 100 एसआर) के साथ गिरफ़्तार किया गया। इसके बाद, 39,21,040 नशीली गोलियाँ (क्लोविडोल 100 एसआर), कैप्सूल और इंजैक्शन मथुरा के गोदाम में से बरामद किये गए।

बरामद किये गए नशीले पदार्थों की पूरी जानकारी:

नशीली गोलियां:
क्लोविडोल 100 एसआर की 3, 20, 000 गोलियां
ट्रेडोल 100 की 2,10,600 गोलियां
प्रोज़ोलम 0.5 की 23,40,000 गोलियां
अल्टीमेसिट की 28,800 गोलियां
अल्को-1 की 4,80,000 गोलियां
टारमोनिल एक्सट्रा की 40,000 गोलियां
कैप्सूल:
परवोरिन-सपास के 1,38,000 कैप्सूल
सिमप्लैक्स प्लस के 1,29,040 कैप्सूल
फोरीडोल के 1,35,000 कैप्सूल
पारवोरिन-सपास के 30,000 कैप्सूल
परवोरिन-सपास के 7800 कैप्सूल
टीके:
पैनाज़ोन के 36,800 टीके
लूज़ टेबलेट और 25,000 कैप्सूल 
कुल-39,21,040
--------

No comments:

Post a Comment