चंडीगढ़ मार्केट में बड़ी मशक्कत के बाद ओसीसीयू टीम ने पकड़ा अंतर-राज्यीय गैंगस्टर

चंडीगढ़, 12 मार्च:
पंजाब पुलिस ने आज यहाँ सैक्टर-36 की मार्केट में बड़ी मशक्कत के बाद अंतर-राज्यीय गैंगस्टर गगन जज की गिरफ़्तारी के साथ लुधियाना में 30 किलो सोने की लूट के सनसनीखेज़ मामले को सुलझा लिया है।
गगन ने ऑर्गेनाइज़ड़ क्राइम कंट्रोल यूनिट (ओ.सी.सी.यू.) की टीम पर गोली चलाने की कोशिश की परन्तु पुलिस टीम ने उसकी तरफ से गोली चलाने की कोशिश को नाकाम करते हुए उसको गिरफ़्तार कर लिया।
डीजीपी दिनकर गुप्ता ने ओसीसीयू की टीम को उनकी बहादुरी के लिए ईनाम देने का ऐलान किया है और कहा कि लुधियाना केस में गिरोह के अन्य सदस्यों और गगन के साथियों को पकडऩे के लिए छापे मारे जा रहे हैं। गगन तीन हफ़्ते पहले हुई लूट की वारदात में शामिल पाँच संदिग्ध व्यक्तियों में शामिल था।
गगनदीप जज उर्फ गगन जज और उसके गिरोह के सदस्य कथित तौर पर पैसे लेकर हत्या, कत्ल की कोशिश, जबरन वसूली, वाहन छीनने और अन्य गंभीर आपराधिक गतिविधियों के दो दर्जन से अधिक आपराधिक मामलों में शामिल हैं। एक अन्य फऱार गैंगस्टर जयपाल के साथ उसके नज़दीकी सम्बन्ध हैं।
ओ.सी.सी.यू. के आई.जी. कुंवर विजय प्रताप सिंह की निगरानी अधीन की गई कार्यवाही संबंधी जानकारी देते हुए डी.जी.पी. ने इस सफल कार्यवाही के लिए टीम की प्रशंसा की। आईजीपी कुंवर विजय प्रताप सिंह ने खुलासा किया कि गगन जज से एक पिस्तौल, दो मैगज़ीन और 50 जिंदा कारतूसों के अलावा लगभग 31 लाख रुपए की नकदी बरामद की गई है। आईजीपी ने कहा कि यह गिरोह कॉल ट्रेसिंग से बचने के लिए अपने सदस्यों के साथ वायरलैस हैंडसैट्स के द्वारा बातचीत करता था। उन्होंने कहा कि गैंगस्टर से चोरी की गई एक आई-20 कार के अलावा तीन वॉकी-टॉकी (डब्ल्यू /टी) सैट भी बरामद किये गए हैं।
डीजीपी ने कहा कि पंजाब पुलिस राज्य से गैंग्स्टरों के ख़ात्मे के लिए वचनबद्ध है और पड़ोसी राज्यों खासकर ट्राईसिटी की पुलिस के साथ नज़दीकी तालमेल के ज़रिये काम कर रही है। उन्होंने कहा कि अन्य 4-5 वांछित गैंगस्टर पंजाब पुलिस के निशाने पर हैं और उनको गिरफ़्तार करने के लिए कोशिशें जारी हैं। उन्होंने कहा कि ओ.सी.सी.यू. इस तरह के गैंगस्टरों और गिरोहों के साथ जुड़े अपराधों से निपटने के लिए पूरी तरह समर्थ है।

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.