प्रवासी मज़दूरों को शरण देने के लिए अधिकारियों को स्कूलों की इमारतें खुलवाने के दिए निर्देश - BTTNews

ताजा अपडेट

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Monday, March 30, 2020

प्रवासी मज़दूरों को शरण देने के लिए अधिकारियों को स्कूलों की इमारतें खुलवाने के दिए निर्देश

पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड की परीक्षाएं और अध्यापकों की भर्ती प्रक्रिया अगले आदेशों तक मुलतवी-विजय इंदर सिंगला

चंडीगढ़, 30 मार्च:
पंजाब के शिक्षा मंत्री श्री विजय इंदर सिंगला ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लगाए कफ्र्यू के कारण फंसे प्रवासी मज़दूरों को पनाह देने के लिए शिक्षा विभाग के अधिकारियों को स्कूलों की इमारतें खुलवाने के निर्देश दिए हैं।
उन्होंने बताया कि शिक्षा विभाग के सचिव को यह निर्देश आगे सभी जि़ला शिक्षा अधिकारियों को जारी करने के लिए कहा गया है कि वह इसके अनुसार प्रबंध करें। कैबिनेट मंत्री ने कहा कि सम्बन्धित जि़ला प्रशासन उनको स्कूलों में थोड़े समय के लिए ठहरने के दौरान खाना और अन्य प्रबंध मुहैया करवाएगा।
कैबिनेट मंत्री ने यह भी बताया कि 8वीं, 10वीं और 12वीं कक्षा की बोर्ड की परीक्षाएं जो पहली अप्रैल से होनी थीं, को अगले आदेशों तक मुलतवी कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि इससे पहले पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड (पीएसईबी) द्वारा पहले 31 मार्च तक परीक्षाओं को मुलतवी किया गया था परन्तु आठवीं कक्षा के कुछ प्रैक्टिकल और बारहवीं कक्षा की थ्यूरी की परीक्षाएं पहली अप्रैल से होनी थीं। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस की बीमारी के मद्देनजऱ देश भर में हुए लॉकडाउन के कारण यह परीक्षाएं मुलतवी की गई हैं।
श्री विजय इंदर सिंगला ने बताया कि 8वीं और बारहवीं कक्षा के अलावा, 10वीं कक्षा की कुछ थ्यूरी की परीक्षाएं जो 3 अप्रैल से होनी थीं, को भी तुरंत प्रभाव से मुलतवी कर दिया गया है। कैबिनेट मंत्री ने कहा कि हालात आम की तरह होने के तुरंत बाद इन इम्तिहानों के लिए संशोधित डेटशीट जारी कर दी जाएगी।
शिक्षा मंत्री ने बताया कि शिक्षा विभाग ने अध्यापकों की भर्ती प्रक्रिया पर 15 अप्रैल, 2020 तक रोक लगा दी गई है। उन्होंने कहा कि इस भर्ती प्रक्रिया के अंतर्गत बॉर्डर कैडर की हिंदी, पंजाबी, गणित, सामाजिक अध्ययन, अंग्रेज़ी और विज्ञान विषय के अध्यापकों के पद भरे जाने हैं जिससे सरहदी क्षेत्रों के बच्चों को मानक शिक्षा प्रदान की जा सके। 

No comments:

Post a Comment