Type Here to Get Search Results !

मैरीटोरियस स्कूलों को कोविड केयर आइसोलेशन सैंटरों के तौर पर इस्तेमाल किया जाएगा-शिक्षा मंत्री पंजाब

राज्य के 10 रैज़ीडैंशियल मैरीटोरियस स्कूलों में उपलब्ध हैं 8346 बिस्तर-विजय इंदर सिंगलाशिक्षा एवं लोक निर्माण विभाग द्वारा कोरोनावायरस पर काबू पाने के लिए दिया जाएगा पूरा सहयोग-सिंगला

संगरूर/चंडीगढ़, 15 अप्रैल:
शिक्षा मंत्री पंजाब श्री विजय इंदर सिंगला ने कहा कि कोरोनावायरस को फैलने से रोकने और इससे प्रभावित मरीज़ों की उपयुक्त देख-रेख करने के लिए शिक्षा विभाग द्वारा जि़ला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग को पूरा सहयोग दिया जाएगा। कैबिनेट मंत्री ने बताया कि सभी सरकारी स्कूलों को क्वारंटाइन सैंटरों के तौर पर बरतने के साथ-साथ शिक्षा विभाग द्वारा पंजाब के सभी मैरीटोरियस स्कूलों को सम्बन्धित डिप्टी कमिश्नरों के हवाले कर दिया गया है, जिससे इनमें कोविड केयर आइसोलेशन सैंटर स्थापित किए जा सकें। आज मैरीटोरियस स्कूल घाबदां (संगरूर) में बनाए जा रहे कोविड केयर आइसोलेशन सैंटर का दौरा करने के मौके पर श्री विजय इंदर सिंगला ने बताया कि पंजाब में 10 रैज़ीडैंशियल स्कूल मौजूद हैं और इन स्कूलों के होस्टलों में 8346 बिस्तर उपलब्ध हैं जो कोरोनावायरस से प्रभावित मरीज़ों की देख-रेख के लिए इस्तेमाल किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही इन स्कूलों में लगभग 200 कक्षाएं भी मौजूद हैं जिनको मैडीकल स्टाफ द्वारा अन्य ज़रूरतों के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।
श्री विजय इंदर सिंगला ने बताया कि मैरीटोरियस स्कूल अमृतसर, बठिंडा, फिऱोज़पुर, गुरदासपुर, जालंधर, लुधियाना, पटियाला, संगरूर, मोहाली और होशियारपुर जिलों में स्थित हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व में पंजाब सरकार द्वारा कोरोनावायरस के कारण पैदा हुई इस मुश्किल घड़ी में भी लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए हर संभव कोशिशें की जा रही हैं। उन्होंने लोगों से अपील की कि कोरोनावायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के संपर्क में आने से फैलता है और इससे बचने के लिए लोगों को घरों में ही रहने को ही प्राथमिकता देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि कोविड केयर आइसोलेशन सेंटरों की स्थापति से इस वायरस से प्रभावित व्यक्तियों को अलग रखकर वायरस को आगे फैलने से रोकने में मदद मिलेगी।
श्री सिंगला, जो कि लोक निर्माण विभाग के मंत्री हैं, ने बताया कि उन्होंने लोक निर्माण विभाग के अधिकारी को भी सम्बन्धित जि़ला प्रशासन के साथ संपर्क रखने की हिदायत की है जिससे मैरीटोरियस स्कूल में इन केंद्रों के निर्माण के समय में किसी भी ज़रूरत को तुरंत पूरा किया जा सके।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

CRYPTO CURRENCY