महंगे दाम पर सब्जियां बेचने वाले दो सब्जी विक्रेताओं के लाइसेंस जिला प्रशासन ने किए कैंसिल - BTTNews

ताजा अपडेट

�� बी टी टी न्यूज़ है आपका अपना, और आप ही हैं इसके पत्रकार अपने आस पास के क्षेत्र की गतिविधियों की �� वीडियो, ✒️ न्यूज़ या अपना विज्ञापन ईमेल करें bttnewsonline@yahoo.com पर अथवा सम्पर्क करें मोबाइल नम्बर �� 7035100015 पर

Wednesday, April 08, 2020

महंगे दाम पर सब्जियां बेचने वाले दो सब्जी विक्रेताओं के लाइसेंस जिला प्रशासन ने किए कैंसिल


 ग्रोसरी वस्तुओं, दवाईयों, फल-सब्जियों और दूध उत्पादों की कीमतों पर निगरानी के लिए गठित की गई हैं स्पेशल टीमेः डिप्टी कमिश्नर


फिरोजपुर, 8 अप्रैल-
आवश्यक वस्तुओं में मूल्यवृद्धि के खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हुए जिला प्रशासन ने बुधवार को दो सब्जी विक्रेताओं के लाइसेंस कैंसिल कर दिए हैं। विस्तृत जानकारी देते हुए डिप्टी कमिश्नर फिरोजपुर श्री कुलवंत सिंह ने बताया कि लोगों को जरूरी वस्तुओं ग्रोसरी, फल-सब्जियों, दूग्ध उत्पादों और दवाईयों को सही दामों पर उपलब्ध करवाने के लिए जिला प्रशासन की तरफ से जिले में सरप्राइज चैकिंग शुरू करवाई गई है। ये चैकिंग संबंधित विभागों की तरफ से गठित स्पेशल टीमों की तरफ से की जा रही है।
उन्होंने बताया कि इस चैकिंग के दौरान दो सब्जी विक्रेता सोहन लाल और जसवंत सिंह लोगों को प्रशासन की तरफ से निर्धारित मूल्य से ज्यादा दामों पर सब्जियां बेचते हुए पाए गए, जिसके बाद उनके लाइसेंस नंबर क्रमशः 221 और 24 कैंसिल कर दिए गए हैं।
उन्होंने बताया कि कुछ शिकायतें उनके पास आई थी कि कुछ दुकानदार जरूरी वस्तुओं जैसे ग्रोसरी और सब्जियों के दाम मार्केट रेट या फिर जिला प्रशासन की तरफ से निर्धारित दामों से ज्यादा दामों पर बेच रहे हैं। उन्होंने इस तरह के स्वार्थी दुकानदारों के चेतानी देते हुए कहा कि उन्हें संकट की इस घड़ी में लोगों की सेवा करने और उन्हें उचित दामों पर जरूरी वस्तुएं मुहैया करवाने के लिए स्पेशल कर्फ्यू पास जारी किए गए थे न कि मुनाफाखोरी के लिए। उन्होंने कहा कि इस संकट की घड़ी में भी मुनाफाखोरी की सोचने वाले दुकानदारों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि जिला प्रशासन लोगों को सभी जरूरी वस्तुएं उचित दामों पर उपलब्ध करवाने के लिए पूर्ण रूप से वचनबद्ध है और इसके लिए मार्केट कमेटी, खाद्य एवं आपूर्ति विभाग, जोनल लाइसेंसिंग अथारिटी को लगातार चेकिंग करने और मुनाफाखोरी व कालाबाजारी पर रोक लगाने के लिए कहा गया है।
उन्होंने कहा कि इन विभागों की स्पेश टीमें लगातार सरप्राइज चैकिंग कर रही हैं और डिफाल्टर्स के लाइसेंस कैंसिल किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा चूंकि इन सभी जरूरी वस्तुओं के मूल्य प्रशासन की तरफ से पहले ही निर्धारित किए जा चुके हैं इसलिए कोई भी दुकानदार इससे ज्यादा मूल्य नहीं वसूल सकता। उन्होंने लोगों से भी आह्वान किया कि वह ओवरचार्जिंग के खिलाफ खुलकर शिकायत करें और प्रशासन की तरफ से इस तरह के दुकानदारों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि कोरोना वायरस की महामारी के चलते ये समय काफी संकट भरा है और लोगों की सुरक्षा के लिए कर्फ्यू लगाया गया है। मगर कुछ लोग फिर भी ओवरचार्जिंग से बाज नहीं आ रहे।


No comments:

Post a Comment