कहाकिसी भी पॉजिटिव या संदिग्ध मरीज के संस्कार में दिक्कत आई तो संस्था मुहैया करवाएजी संस्कार के लिए जगह और मदद
फिरोजपुर6 अप्रैल-

डिप्टी कमिश्नर फिरोजपुर श्री कुलवंत सिंह की तरफ से अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ने वाले मरीजों के संस्कार में रुकावट न पैदा करने की अपील का असर देखने को मिल रहा है। सोमवार
को कुछ सामाजिक संस्थाएं इस मामले में मदद के लिए आगे आई और जिला प्रशासन को इस तरह के मामले में पूरा सहयोग देने की बात कही। शहीद ए वत्न यूथ आर्गेनाइजेशन और ग्रीन फील्ड रिजोर्ट से सरपंच मनविंदर सिंह संधू उर्फ मनीगुरनाम सिंह टिब्बी ने डिप्टी कमिश्नर फिरोजपुर से मुलाकात की और कहा कि इस तरह के मामलों में उनकी संस्था न सिर्फ संस्कार के लिए जगह मुहैया करवाएगी ब्लकि प्रशासन का हर तरह से सहयोग करेगी।
पटेल नगर के रहन वाले मनी सरपंच ने कहा कि कोरोना वायरस ने लोगों के चेहरे से इंसानियत का झूठा नकाब उतार दिया है क्योंकि दुख की इस घड़ी में लोग किसी इंसान का संस्कार भी नहीं करने दे रहे जोकि शर्म की बात है। उन्होंने कहा कि उनकी संस्था अगर ऐसा कोई मामला सामने आता है तो न सिर्फ मरीज के संस्कार के लिए जगह देगी ब्लकि प्रशासन के साथ कंधे से कंधा मिलकर खड़ी होगी। उन्होंने कहा कि किसी भी मरीज की मौत होने पर लोग उसे कोरोना वायरस से जोड़ रहे हैं और उसका संस्कार तक नहीं होने दे रहेजोकि एक अमानवीय कृत्य है।
डिप्टी कमिश्नर फिरोजपुर श्री कुलवंत सिंह ने इन युवाओं की प्रशंसा करते हुए कहा कि संकट की इस घड़ी में सभी को मिलकर एक साथ खड़े होना होगातभी हम इस वायरस के खिलाफ चल रही जंग को जीत सकते हैं। डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि इस तरह का कोई भी वेज्ञानिक तथ्य सामने नहीं आया कि कोरोना वायरस के मरीज का संस्कार करने से वायरस फैलता है लेकिन इसके उल्ट यह साबित हो चुका है कि किसी कोरोना पॉजिटिव मरीज का जितना जल्दी संस्कार कर दिया जाए लोगों के लिए उतना अच्छा है। डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि संस्कार करने से न सिर्फ वायरस खत्म हो जाता है ब्लकि उसके फैलने की संभावाएं भी खत्म हो जाती हैं। उन्होंने कहा कि लोग अपनी सामाजिक जिम्मेवारी समझें और किसी भी मरीज की मौत पर उसके संस्कार में कोई रुकावट या खलल पैदा न करें। 



Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.