चंडीगढ़, 3 मई:
मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के निरंतर प्रयासों के परिणास्वरूप पंजाब को इंडियन कौंसिल ऑफ मैडीकल रिर्सच (आई.सी.एम.आर.) से कोविड -19 के मरीज़ों पर प्लाज्मा थैरेपी के क्लिनीकल ट्रायल करने के लिए मंज़ूरी मिल गई है।
जि़क्रयोग्य है कि जब एसीपी कोहली कोरोनावायरस से पीडि़त हुए थे और उनको एस.पी.एस. अहस्पताल लुधियाना में दाखि़ल किया गया था, उस समय कैप्टन अमरिन्दर ने इस थैरेपी का प्रयोग करने की आज्ञा दे दी थी। राज्य सरकार की तरफ से संपूर्ण सहायता प्रदान की गई और पी.जी.आई, चंडीगड़्र के पूर्व डायरैक्टर प्रोफ़ैसर डा. के.के. तलवाड़ की तरफ से अपेक्षित पेशेवर मार्गदर्शन का प्रबंध किया गया परन्तु एसीपी कोहली की हालत थैरेपी से पहले ही बिगड़ गई। हालाँकि, इस मामले की पैरवी की गई और औपचारिक मंजूरी के लिए आई.सी.एम.आर को एक औपचारिक प्रस्ताव भेजा गया।
प्रशासनिक सुधारों के विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव और कोविड हैल्थ सैक्टर रिस्पांस और परक्योरमैंट कमेटी के चेयरपरसन श्रीमती विनी महाजन ने बताया कि आई.सी.एम.आर., नई दिल्ली ने प्लाज्मा थैरेपी के क्लिनीकल ट्रायल की मंजूरी दे दी है, जिसके जल्द ही शुरू होने की उम्मीद है।
अतिरिक्त मुख्य सचिव के अनुसार सरकारी मैडीकल कॉलेज अमृतसर और पटियाला, फरीदकोट में गुरू गोबिन्द सिंह मैडीकल कॉलेज और अस्पताल, श्री गुरु रामदास इंस्टीट्यूट ऑफ मैडीकल सायंसेज़ एंड रिर्सच, अमृतसर, क्रिश्चियन मैडीकल कॉलेज और अस्पताल, लुधियाना, दयानन्द मैडीकल कॉलेज और अस्पताल, लुधियाना और सतगुरू प्रताप सिंह अस्पताल, लुधियाना ने प्लाज्मा थैरेपी के क्लिनीकल ट्रायल के लिए हिस्सेदारी की है।
अंतर-संस्था तालमेल प्रमुख जांचकर्ताओंं द्वारा किया जायेगा जो यह भी यकीनी बनाऐंगे कि हरेक संस्था में समूचा ट्रायल आई.सी.एम.आर. के प्रोटोकोल की सख्ती से पालना करते हुये किया जाये।
श्रीमती विनी महाजन ने और जानकारी देते हुये आगे बताया कि डा.के.के. तलवाड़ के योग्य नेतृत्व और महारत से प्रमुख जांचकर्ताओं जिनमें ट्रांसफ्यूजऩ मैडिसन विभाग, सतगुरू प्रताप सिंह अस्पताल लुधियाना के प्रमुख डा. एकाज जिन्दल ; क्लिनीकल हेमाटोलोजी विभाग, क्रिश्चियन मैडीकल कॉलेज और अस्पताल, लुधियाना के प्रमुख डा. एम. जोसफ जोन शामिल हैं, की तरफ से एक समझौते (एम.ओ.यू.) पर हस्ताक्षर किये गए हैं।
उन्होंने आगे कहा कि प्रोफ़ैसर डा. के.के. तलवाड़ और ट्रांसफ्यूजऩ मैडिसन विभाग, पी.जी.आई चंडीगढ़ के पूर्व प्रमुख डा. नीलम मारवाहा के नेतृत्व अधीन कोविड के विरुद्ध जंग की इस ताज़ा कोशिश में पंजाब एकजुट है।
उन्होंने कहा कि क्रिश्चियन मैडीकल कॉलेज, लुधियाना डा. जैराज डी पांडियन, और प्रोफ़ैसर और मैडीकल सुपरडैंट हीरो डीएमसी हार्ट इंस्टीट्यूट, लुधियाना प्रो. डा. बिशव मोहन जैसे सलाहकारों के योग्य मार्गदर्शन अधीन कोविड -19 के मरीज़ों पर प्लाज्मा थैरेपी के क्लिनीकल ट्रायल के लिए आईसीएमआर की मंज़ूरी प्राप्त करने के लिए सभी ज़रूरी औपचारिक कार्यवाहियों और डाक्यूमैंटेशन मुकम्मल कर लिये गये थे।

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.