चंडीगढ़, 23 मई:
पंजाब सरकार ने राज्य के सभी वाहन मालिकों के लिए अपने वाहनों पर उच्च सुरक्षा रजिस्ट्रेशन प्लेटों (एचएसआरपी) लगाने की समय सीमा 30 जून, 2020 तक बढ़ा दी है। इन प्लेटों को लगाने सम्बन्धी सभी वाहन मालिकों के लिए यह आखिऱी मौका होगा और इसके बाद तारीख़ में विस्तार नहीं किया जाएगा। इसका खुलाया आज यहाँ परिवहन मंत्री श्रीमती रजिय़ा सुल्ताना द्वारा जारी एक प्रैस बयान में किया।
परिवहन मंत्री ने कहा कि भारत में सभी वाहनों को उच्च सुरक्षा रजिस्ट्रेशन प्लेटें (एचएसआरपी) लगाना लाजि़मी है। उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में सुप्रीम कोर्ट के आदेशों और भारत सरकार एवं पंजाब सरकार के नोटीफिकेशनों के मद्देनजऱ पंजाब सरकार ने उन वाहन मालिकों को 30 जून, 2020 तक उच्च सुरक्षा रजिस्ट्रेशन प्लेटों (ऐचऐसआरपी) को लगवाने का आखिऱी मौका दिया है, जिन्होंने यह प्लेटें नहीं लगवाईं। 
श्रीमती रजिय़ा सुल्ताना ने बताया कि जि़ला मुख्यालय में मौजूदा समय में 22 फिटमेंट सैंटरों के अलावा सब-डिविजऩल स्तर पर 45 और फिटमेंट सैंटर स्थापित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि लोगों की सुविधा के लिए और कोविड-19 की रोकथाम के लिए देह से दूरी के नियमों को ध्यान में रखते हुए वाहन मालिकों को फिटमेंट सैंटरों में जाकर अपनी बारी का इंतज़ार करने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी। एक मोबाइल एप्लीकेशन ॥स्क्रक्क क्कहृछ्व्रक्च के अलावा वैबसाइट 222.क्कह्वठ्ठद्भड्डड्ढद्धह्यह्म्श्च.द्बठ्ठ के द्वारा वाहन मालिकों की सुविधा और फ़ीसों की अदायगी के अनुसार मुलाकात की पूर्व-बुकिंग की एक ऑनलाइन प्रणाली चालू की गई है।
मंत्री ने यह भी स्पष्ट किया कि अप्रैल, 2019 से निर्मित वाहनों की एच.एस.आर.पी. सम्बन्धी एजेंसियों से लगाई जानी है, जहाँ से वाहन खऱीदे गए हैं।
मंत्री ने आगे कहा कि जनता की सुविधा के लिए और शोषण को रोकने के लिए घर में एच.एस.आर.पी. की सुविधा भी मुहैया करवाई गई है। यह सुविधा वैकल्पिक है, जिसके अंतर्गत वाहन मालिक यह सुविधा 2 और 3 पहिया वाहन के लिए 100/- रुपए और चार पहिया वाहनों के लिए 150/- रुपए का अतिरिक्त भुगतान करके प्राप्त कर सकते हैं।
इस सम्बन्धी किसी भी पूछताछ के लिए वाहन मालिकों के मार्गदर्शन के लिए एक हेल्पलाइन नंबर 7888498859 और 7888498853, और द्गद्वड्डद्बद्य.ष्ह्वह्यह्लशद्वद्गह्म्.ष्ड्डह्म्द्गञ्चद्धह्यह्म्श्चश्चह्वठ्ठद्भड्डड्ढ.ष्शद्व दिए गए हैं।
एच.एस.आर.पी. संबंधी और ज्य़ादा जानकारी देते हुए परिवहन मंत्री ने कहा कि इसमें नीले रंग में अशोक चक्र का एक क्रोमियम-आधारित होलोग्राम ऊपरी-बाएं कोने पर लगाए गए हैं। नीचे-बांये कोने पर 10-अंक का स्थाई पहचान नंबर (पिन) लेजऱ के साथ लिखा जाता है। चक्र के होलोग्राम और लेजऱ कोड के मध्य में च्ढ्ढहृष्ठज् नीले रंग में लिखा हुआ है। एक बार जब एच.एस.आर.पी. आपके वाहन के साथ जुड़ जाता है, तो रजिस्ट्रेशन नंबर के साथ-साथ ङ्क्र॥्रहृ एप्लीकेशन पर पिन इलैक्ट्रॉनिक्स ढंग से आपके वाहन के साथ जोड़ दिया जाएगा। एच.एस.आर.पी. का लाभ यह है कि यह ग़ुम हुए या चोरी हुए वाहनों को ट्रैक करने में सहायता करता है।

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.