कैप्टन अमरिन्दर सिंह द्वारा पुलिस को लॉकडाउन की बन्दिशों की सख़्ती से पालना को यकीनी बनाने के आदेश
किसी भी तरह की लापरवाही बरत कर बीते 55 दिनों की सख़्त मेहनत और बलिदानों को व्यर्थ नहीं किया जा सकता

चंडीगढ़, 19 मई:
राज्य में आज बहुत सी छूटों के अमल में आने के साथ पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने पुलिस को सामाजिक दूरी और मास्क पहनने समेत कोविड से सम्बन्धित सुरक्षा उपायों की सख़्ती से पालना को यकीनी बनाने के आदेश दिए हैं।
मुख्यमंत्री ने सचेत करते हुए कहा कि आर्थिकता के साथ-साथ दफ़्तरों और व्यापारिक गतिविधियों के शुरू होने के मद्देनजऱ कोरोनावायरस के फैलाव को रोकने के लिए अगले 25-30 दिन बहुत ज़्यादा संवेदनशील हैं।
मुख्यमंत्री ने पंजाब पुलिस को प्रोटोकोल और बन्दिशों का पूरी तरह से पालना को कायम रखने के लिए सख़्त मेहनत और वचनबद्धता के साथ ड्यूटी जारी रखने के निर्देश दिए, जिससे राज्य को महामारी के फैलाव को काबू में रखने में मदद मिलेगी।
मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘हम पिछले 55 दिनों से आपके द्वारा किए गए कार्यों के लाभ और पंजाब के लोगों द्वारा दिए गए बलिदानों को अब लापरवाह हो जाने से व्यर्थ नहीं कर सकते।’’
यह जि़क्रयोग्य है कि मुख्यमंत्री ने पिछले हफ़्ते 18 मई से कफ्र्य़ू हटाने का एलान किया था, परन्तु राज्य में लॉकडाउन 30 मई तक जारी रहेगा। केंद्र सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों की रेखा पर राज्य ने ग़ैर-सीमित ज़ोनों में कई छूटें दीं और आज से पड़ाववार ढंग से स्थानीय बसें भी शुरू हो गई हैं।
मुख्यमंत्री के निर्देशों पर अमल करते हुए पंजाब पुलिस प्रमुख दिनकर गुप्ता द्वारा सभी पुलिस कमिश्नरों और जि़ला पुलिस प्रमुखों को लॉकडाउन की पाबंदियों के उल्लंघन के मामले में एफ.आई.आर. दर्ज करने, वाहनों को ज़ब्त करने और चालान काटने के लिए कहा है। मुख्यमंत्री के निर्देशों का हवाला देते हुए पंजाब पुलिस प्रमुख द्वारा अधिकारियों को कहा गया है कि विभिन्न पाबंदियों को पुख़्ता रूप में लागू करने के लिए सख़्त संदेश जाना चाहिए।
राज्य पुलिस प्रमुख द्वारा सभी पुलिस कमिश्नरों और जि़ला पुलिस प्रमुखों को कहा गया है कि वह निश्चित रूप में यह यकीनी बनाएं कि हर कोई घरों से बाहर निकलते समय मास्क ज़रूर पहनें। पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि वह दुकानों, दफ्तरों, बैंकों और शराब के ठेकों के साथ-साथ वाहनों (कार, स्कूटर, मोटर साइकिल) और पब्लिक / प्राईवेट बसों में भी सामाजिक दूरी को यकीनी बनाएं। पाबंदियों में ढील वाली नई हिदायतों के अंतर्गत यह वाहन राज्य की हद के अंदर, सीमित ज़ोनों को छोडक़र चल सकेंगे, परन्तु इस संबंधी नियमों का सख़्ती से पालन करना होगा।
मुख्यमंत्री द्वारा रात के समय में कफ्र्य़ू को सख़्ती से लागू करने के लिए भी निर्देश दिए गए हैं। इस सम्बन्धी केंद्र द्वारा लॉकडाउन के चौथे दौर के लिए जारी हिदायतों के अनुसार मैडीकल और आवश्यक ज़रूरतों के अलावा लोगों के रात के 7 बजे से सुबह के 7 बजे तक बाहर निकलने पर रोक है।
कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि बन्दिशों में ढील लोगों को सुविधा मुहैया करवाने के लिए दी गई है, क्योंकि राज्य के लोगों को कफ्र्य़ू के समय के दौरन बहुत मुश्किलें झेलनी पड़ीं हैं। परन्तु इसके साथ ही स्पष्ट किया कि हिदायतों और दिशा-निर्देशों के उल्लंघन करने को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.