कोविड-19 के साथ-साथ डेंगू, मलेरिया और अन्य वैक्टर जनित रोगों के परीक्षण और प्रबंधन के लिए तैयारियाँ शुरू

चंडीगढ़, 23 मई:
भारत सरकार ने आज अमृतसर के एस.डी.एच. अजनाला में डेंगू परीक्षण प्रयोगशाला स्थापित करने की मंज़ूरी दे दी है, क्योंकि अजनाला में वर्ष 2019 में डेंगू के मामलों में वृद्धि दर्ज की गई थी। पंजाब सरकार द्वारा पिछले वर्ष एस.डी.एच. अजनाला में एक नई परीक्षण प्रयोगशाला की स्थापना के लिए भारत सरकार को प्रस्ताव भेजा गया था। 
यहाँ जारी एक प्रैस बयान में इस सम्बन्धी और जानकारी देते हुए स्वास्थ्य मंत्री स. बलबीर सिंह सिद्धू ने कहा कि अजनाला और आसपास के इलाकों में रहने वाले लोगों के लिए यह प्रयोगशाला मददगार साबित होगी, जिनको डेंगू के परीक्षण के लिए निजी प्रयोगशालाओं या अमृतसर नहीं जाना पड़ेगा। अब यह परीक्षण स्थानीय स्तर पर किया जाएगा। उन्होंने कहा कि डेंगू के परीक्षण के लिए राज्य में पहले ही 34 स्वीकृत प्रयोगशालाएँ हैं और यह राज्य के सरकारी अस्पतालों में 35वीं प्रयोगशाला होगी। इस मौसम में एस.डी.एच. अजनाला में डेंगू और चिकनगुनिया के परीक्षण नि:शुल्क किए जाएंगे। अस्पताल को आने वाले दिनों में परीक्षण किटें मुहैया करवाई जाएंगी और प्रयोगशाला जून, 2020 से कार्यशील हो जाएगी।
स्वास्थ्य मंत्री ने आगे कहा कि बदलते मौसम के मद्देनजऱ सभी जि़लों को पहले ही डेंगू के लिए रोकथाम और निगरानी गतिविधियां शुरू करने की हिदायतें जारी की जा चुकी हैं। स्वास्थ्य विभाग इस समय में कोविड-19 के मुकाबले के लिए अथक यत्न कर रहा है और इसके साथ ही राज्य में डेंगू, मलेरिया और अन्य वैक्टर जनित रोगों के परीक्षण और प्रबंधन के लिए तैयारियाँ पहले ही शुरू कर दी गई हैं।
स. सिद्धू ने लोगों से अपील की कि डेंगू (एडीज़) के मच्छर केवल साफ़ पानी में ही प्रजनन करते हैं और दिन के समय में ही काटते हैं। सभी लोगों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि कूलरों, फूलों के गमलों, रेफ्रिजरेटर के पीछे जमा हुए गंदे पानी की ट्रे आदि को हर हफ़्ते ठीक से खाली और साफ़ किया जाए। स्वास्थ्य विभाग ने पहले ही शुक्रवार को ‘‘ड्राई डे’’ घोषित कर दिया है, जिससे सभी घरों में हफ़्ते में एक बार निवारक गतिविधियां की जा सकें।

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.