पुलिस कमिश्नर द्वारा छह सदस्यीय पैनल का गठन
पुलिस और मनोचिकित्सक करेंगे घरेलू हिंसा से प्रभावित महिलाओं की समस्याओं का हल

जालंधर, 25 मई:
कमिश्नरेट पुलिस द्वारा विशेष पहल करते हुए लॉकडाउन के दौरान घरेलू हिंसा का सामना कर रही महिलाओं की समस्याओं के हल के लिए टैलिफ़ोन के द्वारा ऑनलाइन काउंसलिंग हेल्पलाइन की शुरुआत की गई है। 
पुलिस कमिश्नर जालंधर श्री गुरप्रीत सिंह भुल्लर ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान महिलाओं पर होने वाली घरेलू हिंसा की शिकायतों में वृद्धि हो रही है। उन्होंने कहा कि ऐसी शिकायतों के हल और महिलाओं की सुरक्षा को यकीनी बनाने के लिए कमिश्नरेट पुलिस द्वारा अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर पुलिस डी. सुधरविजी की अध्यक्षता अधीन स्पैशल पैनल का गठन किया गया है। श्री भुल्लर ने बताया कि सब इंस्पेक्टर रैंक की महिला पुलिस अधिकारी मोनिका अरोड़ा द्वारा दो अन्य सहायक सब इंस्पेक्टरों आशा किरण और सुमन बाला के साथ पैनल की देख-रेख की जाएगी। 
पुलिस कमिश्नर ने बताया कि तीन पुलिस अधिकारियों के साथ मनोरोग माहिर डॉ. जसबीर कौर, डॉ. सरबजीत सिंह और राजबीर कौर द्वारा शिकायतकर्ता महिलाओं के साथ बातचीत की जाएगी। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के दौरान शिकायतकर्ता तक पहुँच बनाकर मामले की पड़ताल करना संभव नहीं है, इसलिए कमिश्नरेट पुलिस द्वारा यह फ़ैसला लिया गया है। पुलिस कमिश्नर ने बताया कि यदि किसी महिला द्वारा कमिश्नरेट पुलिस के पास अपनी समस्या सम्बन्धी शिकायत की जाती है, तो पैनल की तरफ से उसके साथ टैलिफ़ोन पर संपर्क किया जाएगा। 
पुलिस कमिश्नर ने बताया कि पैनल द्वारा कॉन्फ्ऱेंस कॉल के द्वारा पीडि़त महिला की काउंसलिंग करके उसकी समस्या का हल ढूँढा जाएगा। उन्होंने कहा कि यदि पीडि़त महिला काउंसलिंग से संतुष्ट नहीं होती और अपने लिए कानूनी मदद चाहती है, तो कानून अपना काम करेगा। उन्होंने कहा कि ऑनलाइन काउंसलिंग हेल्पलाइन का मुख्य मंतव्य घरेलू हिंसा में न्याय प्राप्त करने के लिए महिलाओं को सुविधा प्रदान करना है। 

Post a Comment

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.