Type Here to Get Search Results !

कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने चीन के हमलों के खि़लाफ़ करारा जवाब देने का न्योता दिया

तीन भारतीय सैनिकों को मारने पर गहरा दु:ख और गुस्सा ज़ाहिर करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा, ‘हमारे सैनिक कोई खेल नहीं’

चंडीगढ़, 16 जून:
लद्दाख की गलवान घाटी में चीन के साथ हिंसक झड़प के दौरान तीन भारतीय सैनिकों के मारे जाने पर गहरा दु:ख और गुस्सा ज़ाहिर करते हुये पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने मंगलवार को चीन की तरफ से भारतीय सरहद के अंदर बार-बार की जा रही उल्लंघना के खि़लाफ़ भारत सरकार की तरफ से करारा जवाब देने का न्योता दिया।
इस घटना से गुस्से में आए कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने अपनी सख्त प्रतिक्रिया देते हुुये कहा, ‘हमारे सैनिक कोई खेल नहीं कि हमारी सरहदों की सुरक्षा करते अफसरों और जवानों को हर थोड़े दिनों बाद मार या ज़ख्मी कर दिया जाये।’ उन्होंने कहा कि यह उस समय पर घटना घटी जब दोनों तरफ से फौजें कई दिनों के तनाव की स्थिति से अलग होने की प्रक्रिया में थे।

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘अब समय आ गया है कि भारत पड़ोसी देश की तरफ से बार -बार किये जा रहे हमलों का जवाब दें जो हमारे क्षेत्रीय अधिकारों का घोर उल्लंघन है और हमारी क्षेत्रीय प्रभुसत्ता पर होते हमलों को रोकें।’ उन्होंने कहा कि भारत की तरफ़ से किसी भी किस्म की कमज़ोरी के संकेत से चीन की प्रक्रिया और हिंसक हो जाती है।
कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि हालाँकि सरहद पर तनाव घटाना सबसे अधिक ज़रूरी है और भारत जंग के हक में नहीं है परन्तु फिर भी हमारा देश इस मौके पर कमज़ोरी नहीं दिखा सकता और चीन को किसी और घुसपैठ से रोकने और अपनी सीमाओं और व्यक्तियों पर हमले को रोकने के लिए सख्त रूख अपनाने की ज़रूरत है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय फ़ौज के कमांडिंग अफ़सर और दो सैनिकों को बुरी तरह पीट कर मारने के बाद भी चीन बेकसूर होने का बहाना बना रहा है और भारत की तरफ से एकतरफा कार्यवाही के कारण ऐसे हालात पैदा होने का दोष लगा कर सारा कसूर भारत के सिर मडऩे का यत्न कर रहा है। यह कहते हुये कि ऐसी प्रतिक्रिया चीन की धोखेबाज़ी का हिस्सा है, मुख्यमंत्री ने आगे से कहा कि भारत -चीन सरहद के लद्दाख़ सैक्टर के अंदर तनाव का बढऩा चीनी फ़ौज की तरफ से भारतीय क्षेत्र के अंदर किये जा रहे बार -बार हमलों का नतीजा है।
कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि चीन की गतिविधियों दोनों मुल्कों के दरमियान हुई संधियों का सीधा उल्लंघन है और भारत की अखंडता पर निर्लज्जता भरा हमला है। उन्होंने केंद्र सरकार से अपील की कि वह ऐसे हमलों को हलके में न लेने सम्बन्धी सख्त संदेश देने के लिए उचित कदम उठाए।
हाल ही के सप्ताहों में भारत -पाकिस्तान और भारत -नेपाल सरहदों पर बढ़े तनाव का जि़क्र करते मुख्यमंत्री ने कहा कि देश स्पष्ट रूप में ऐसी ताकतों के साथ घिरा हुआ है जो कोविड संकट का लाभ लेकर भारत की शान्ति को भंग करने की ताक में हैं। मुख्यमंत्री ने ज़ोर देते कहा, ‘उनकों चेतावनी दी जाये कि भारत किसी भी कीमत पर राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ समझौता नहीं करेगा और चाहे यह अंदरूनी स्तर पर महामारी से लड़ रहा है यह बाहरी चुनौतियों के साथ लडऩे के पूरी तरह काबिल है।’
गलवान घाटी हिंसा में जानें गवाने वाले सैनिकों को श्रद्धाँजलि देते हुये कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि पूरा देश इस दुख की घड़ी में भारतीय फ़ौज के साथ खड़ा है।
-----

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.