Type Here to Get Search Results !

गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ झड़प के दौरान शहीद हुए पंजाब के फ़ौजी जवानों का सरकारी सम्मानों के साथ संस्कार

चंडीगढ़, 18 जून:
गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ झड़प के दौरान शहीद हुए पंजाब के 2 फ़ौजी जवानों का सरकारी सम्मान के साथ आज संस्कार कर दिया गया।
इस सम्बन्धी जानकारी देते हुये पंजाब सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि
लद्दाख़ की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ झड़प में शहीद हुए 4 फ़ौजी जवानों में से आज सिफऱ् 2 फ़ौजी जवानों, जो कि पटियाला और गुरदासपुर जिले से संबंधित थे, के पार्थिव शरीर उनके घरों में पहुँचे थे। 
प्रवक्ता ने बताया कि आज पटियाला जि़ले के गाँव सील में गमगीन माहौल के दौरान भारतीय फ़ौज की तरफ से शहीद नायब सूबेदार मनदीप सिंह के पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार पूरे धार्मिक रिवाजों के मुताबिक फ़ौजी और सरकारी सम्मानों के साथ किया गया। भारतीय फ़ौज के शहीद नायब सूबेदार मनदीप सिंह की चिता को अग्नि उनके 11 वर्षीय पुत्र जोबनप्रीत सिंह ने दी।
शहीद अपने बजुर्ग माता-पिता श्रीमती शकुंतला कौर, धर्म पत्नी श्रीमती गुरदीप कौर, पुत्र जोबनप्रीत सिंह और बेटी महकप्रीत कौर, तीन बहनों समेत अन्य पारिवारिक सदस्यों को शाश्वत बिछोड़ा दे गए थे। 
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की तरफ़ से कैबिनेट मंत्री स. साधु सिंह धर्मसरोत ने शहीद के पार्थिव शरीर पर श्रद्धा के फूल भेंट किये। लोक सभा मैंबर पटियाला श्रीमती परनीत कौर की तरफ़ से मुख्यमंत्री के ओ.एस.डी. श्री राज कुमार और श्री बलविन्दर सिंह ने फूल अर्पण किये।
शहीद नायब सूबेदार मनदीप सिंह के अंतिम ससकार के मौके पर भारतीय फ़ौज के बिगलर ने मातमी धुन बजाई और जवानों ने हथियार उल्टे करके गार्ड ऑफ ऑनर देते हुये फायर करके शहीद को सलामी दी।
प्रवक्ता ने बताया कि इस तरह लद्दाख़ की गलवान घाटी में ही चीनी सेना के साथ हुए टकराव में शहादत का पाने वाले नायब सूबेदार सतनाम सिंह (42) का उनके जद्दी गाँव भोजराज (विधान सभा हलका डेरा बाबा नानक) गुरदासपुर में सरकारी सम्मानों के साथ अंतिम संस्कार किया गया। इस मौके पर मुख्यमंत्री पंजाब की तरफ़ से कैबिनेट मंत्री स. सुखजिन्दर सिंह रंधावा ने शहीद के पार्थिव शरीर पर श्रद्धा के फूल भेंट किये गए। इस मौके पर डिप्टी कमिशनर गुरदासपुर जनाब मुहम्मद इश्फाक, रजिन्दर सिंह सोहल एस.एस.पी गुरदासपुर मौजूद थे।
सतनाम सिंह के अंतिम संस्कार के मौके पर भारतीय फ़ौज के बिगलर ने शोक धुन बजाई और जवानों ने हथियार उल्टे करके गार्ड ऑफ ऑनर देते हुये फायर करके शहीद को सलामी दी। 

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.